राजनीति

Karauli Nyaya yatra : सतीश पूनिया और तेजस्वी सूर्या समेत कई भाजपा नेता पुलिस हिरासत में, गहलोत ने रोकी करौली न्याय यात्रा

Janjwar Desk
13 April 2022 9:25 AM GMT
Karauli Violence : भाजपा नेता सतीश पूनिया और तेजस्वी सूर्या समेत कई को पुलिस ने हिरासत में लिया, गहलोत ने भाजपा की करौली न्याय यात्रा रोकी
x

करौली हिंसा के खिलाफ न्याय यात्रा में शामिल होने जा रहे भाजपा नेता तेजस्वी सूर्या और सतीश पूनिया पुलिस ने हिरासत में लिया।

Karauli Nyaya yatra : करौली हिंसा के खिलाफ न्याय यात्रा में शामिल होने के लिए जा रहे भाजपा नेता सतीश पूनिया और तेजस्वी सूर्या को राजस्थान पुलिस ने हिरासत में ले लिया।

Karauli Nyaya yatra : राजस्थान के करौली जिले में हाल ही में पत्थरबाजी और हिंसक घटनाओं के बाद राजनीति चरम पर है। करौली हिंसा ( Karauli Violence ) के विरोध में भाजपा ( BJp ) का सियासी अभियान भी जारी है। इस बीच आज न्याय यात्रा ( Karauli Nyaya Yatra ) के लिए करौली जा रहे भाजपा नेता तेजस्वी सूर्या ( Tejashwi Surya ) और प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनिया ( Satish Poonia ) को राजस्थान पुलिस ( Rajasthan Police ) ने गिरफ्तार कर लिया है। साथ ही गहलोत सरकार ( Gehlot Government ) ने भाजपा के न्याय यात्रा को भी रोक दिया है।

अशोक गहलोत को बताया तानाशाह

भाजपा सांसद तेजस्वी सूर्या ( Tejashwi Surya ) ने दौसा बॉर्डर पर पुलिस द्वारा रोके जाने और हिरासत में लिए जाने पर कहा कि करौली जाना हमारा संवैधानिक अधिकार है। अशोक गहलोत ( Ashok Gehlot ) की तानाशाही सरकार हमारे अधिकारों को छीन रही है। इसलिए हम विरोध कर रहे हैं। तेजस्वी सूर्या करौली हिंसा ( karauli Violence ) के पीड़ितों से मिलने के लिए जा रहे थे। तेजस्वी सूर्या ने कहा कि करौली ​में एक साजिश के तहत पत्थरबाजी हुई। हिंसा का अंजाम देने के लिए गहलोत सरकार के इशारे पर पहले से तैयार थे हथियार और पत्थर। सूर्या ने कहा कि आगजनी की घटनाएं भी एक साजिश के तहत हुई।

इस बीच करौली में तनाव का माहौल है। करौली पुलिस और भाजपा नेता व कार्यकर्ता आमने-सामने आ गए हैं। पुलिस ने भाजपा समर्थक प्रदर्शनकारियों पर लाठीचार्ज किया।

11 लोग हुए थे घायल

Karauli Nyaya yatra : बता दें कि पूर्वी राजस्थान के करौली शहर में 2 अप्रैल को दो समुदायों के बीच झड़पें और पथराव की घटनाएं हुईं। इस दौरान कई दुकानों और घरों में तोड़फोड़ भी की गई। हिंसा में 11 लोग घायल हुए थे। हिंसक झड़प में 8 पुलिसकर्मी भी घायल हुए थे। उसके बाद से करौली में धारा 144 लागू है। करौली पुलिस ने इस मामले में 23 लोगों को गिरफ्तार किया है। 44 लोगों की पहचान की है। करौली हिंसा में शामिल 100 से अधिक लोगों को हिरासत में लिया गया है।

Next Story