Top
राजनीति

किसान आंदोलन के विरोध में भक्तों ने ट्रेंड कराया #खालिस्तानी_मांगे_कुटाई, लोगों ने जताई हिंसा की आशंका

Janjwar Desk
22 Jan 2021 4:30 AM GMT
किसान आंदोलन के विरोध में भक्तों ने ट्रेंड कराया #खालिस्तानी_मांगे_कुटाई, लोगों ने जताई हिंसा की आशंका
x
कृषि कानूनों के विरोध में किसानों के व्यापक विरोध को दबाने के लिए भक्तों ने ट्वीटर पर #खालिस्तानी_मांगे_कुटाई ट्रेंड करा दिया है, जिस पर कई लोगों ने हिंसा भड़कने की भी आशंका जतायी है....

जनज्वार। 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस के दिन कृषि कानूनों के विरोध में पिछले 2 महीने से आंदोलनरत किसानों से ट्रेक्टर मार्च करने का ऐलान किया है, जिसके विरोध में भक्तों ने ट्वीटर पर #खालिस्तानी_मांगे_कुटाई ट्रेंड करा दिया है। यहां किसानों को लेकर तमाम उल्टी-सीधी बयानबाजियां हो रही हैं, जिस पर कई लोगों ने हिंसा की आशंका भी जतायी है।

राकेश टिकैत की फोटो शेयर करते हुए आशीष शुक्ला ने ट्वीट किया है, 'यह मनोरोगी 40 निर्दोष किसानों की मौत के लिए जिम्मेदार है। फिर भी हमारे गरीब किसानों का मानना ​​है कि इस आदमी को तत्काल आधार पर गिरफ्तार किया जाना चाहिए।'

𝚅𝚊𝚛𝚒𝚊𝚋𝚕𝚎 𝚁𝚎𝚜𝚒𝚜𝚝𝚘𝚛 ने ट्वीट किया है' रेफरेंडम 2020 के तहत, SFJ के नेतृत्व में विभिन्न खालिस्तान समर्थक संगठन एक अलग राष्ट्र के लिए पंजाब में जनमत संग्रह की मांग कर रहे हैं।'

mr_anil06 ने ट्वीट किया है,'खालिस्तानी_मांगे_कुटाई #खालिस्तानी_मांगे_कुटाई, सरकार ने किसानों की खातिर वे सब कुछ करने की कोशिश की है जो वे सक्षम हैं। जाहिर है अब केवल एक ही रास्ता शेष है। कूट दो सबको।'

समिता शर्मा ने ट्वीट किया है, इस देश के सरकार और लोगों को धमकाना और किसानों को भड़काना किसान विरोध के नाम पर स्वीकार्य नहीं है। क्या कोई भी आंदोलन एक देश की सुरक्षा से बड़ा है।'

अभिजोत बाजवा ने चिंता जतायी है, 'इसको पूरे दिन के लिए ट्रेंड किया गया है। ट्वीटर इंडिया पर जो शांतिपूर्ण विरोध प्रदर्शन में भाग लेने वाले किसानों पर हमला करने का एक खुला आह्वान है। जब किसानों पर हमला होगा ताते ट्विटर इंडिया अमेरिका में उपयोग की जाने वाली गेंदों का रूख मोड़ देगा। किसानों को सावधान रहने की जरूरत है।'

राष्ट्रभक्त टीम RNM ने हिंसा भड़काने वाला ट्वीट किया है, '#खालिस्तानी_मांगे_कुटाई, यह कृषि कानून के बारे में कभी नहीं था। इसके खिलाफ एक वैश्विक अभियान चलाने का उद्देश्य नरेंद्र मोदी सरकार के खिलाफ अराजकता और हिंसा का माहौल तैयार करना है। इनके खिलाफ राज्य को बल का प्रयोग करना चाहिए। अब ये फेक किसान, खालिस्तानी ऑपरेशन ब्लू स्टार के बाद भिंडरावाले के सपने को पूरा करना चाहते हैं।'

Next Story

विविध

Share it