राजनीति

Manoj Tiwari : चोट सिर में लगी तो फिर यूरोलॉजी में क्यों भर्ती हो गए मनोज तिवारी, राजद ने दागा सवाल

Janjwar Desk
13 Oct 2021 12:03 PM GMT
Manoj Tiwari : चोट सिर में लगी तो फिर यूरोलॉजी में क्यों भर्ती हो गए मनोज तिवारी, राजद ने दागा सवाल
x

(दिल्ली के मुख्यमंत्री के घर के बाहर प्रदर्शन के दौरान घायल हो गए थे मनोज तिवारी)

Manoj Tiwari : राजद (RJD) ने ट्विटर अकाउंट से एक तस्वीर साझा की है जिसमें मनोज तिवारी बेड पर लेटे हुए नजर आ रहे हैं, उनके बगल में यूरोलॉजी विभाग के प्रमुख डॉक्टर अनूप कुमार खड़े हैं।

Manoj Tiwari। भाजपा सांसद मनोज तिवारी (Manoj Tiwari) मंगलवार 12 अक्टूबर को उस वक्त घायल हो गए जब वह छठ पूजा पर पाबंदी को लेकर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) के घर के बाहर प्रदर्शन कर रहे थे। तिवारी को चोट लगने के बाद उन्हें तुरंद दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल (Safdarjung Hospital) के इमरजेंसी विंग में भर्ती कराया गया। हालांकि राष्ट्रीय जनता भाजपा सांसद तिवारी का एक फोटो शेयर करते हुए सवाल किया है कि मनोज तिवारी को सिर में चोट लगी है तो फिर यूरोलॉजी में भर्ती क्यों हो गए हैं?

राजद अररिया (RJD Araria) ने अपने ट्वीट में मनोज तिवारी को लेकर दावा किया है कि भाजपा सांसद (BJP MP) यूरोलॉजी यानी मूत्र विज्ञान विभाग के डॉक्टर के निरीक्षण में हैं। राजद (RJD) ने ट्विटर अकाउंट से एक तस्वीर साझा की है जिसमें मनोज तिवारी बेड पर लेटे हुए नजर आ रहे हैं, उनके बगल में डॉक्टर अनूप कुमार खड़े हैं।

राजद ने अपने ट्वीट में लिखा है कि मनोज तिवारी यूरोलॉजी के डॉक्टर के निरीक्षण में हैं। इनके बगल में खड़े डॉक्टर अनूप कुमार अस्पताल के मूत्र विज्ञान विभाग के प्रमुख हैं। सवाल यह है कि मनोज तिवारी को चोट सिर में लगी है तो फिर यूरोलॉजी में भर्ती क्यों हो गए हैं?

एक नये ट्वीट में राजद अररिया ने तंज कसते हुए लिखा- सिर पर चोट लगने के बावजूद मनोज तिवारी यूरोलॉजी यानी मूत्र विज्ञान विभाग में क्यों भर्ती हुए? इसका जवाब मिल गया है। क्योंकि सांसद मनोज तिवारी का सिर अर्थात उनकी बुद्धि वहीं हैं। जहाँ वो भर्ती हुए हैं।

जानकारी के मुताबिक तिवारी दिल्ली कोरोना (Covid 19) को देखते हुए छठ पूजा (Chath Puja) पर लगी पाबंदी के खिलाफ मुख्यमंत्री आवास (CM Residence) के बाहर प्रदर्शन कर रहे ते। इस दौरान दिल्ली पुलिस (Delhi Police) ने मुख्यमंत्री आवास के चारों ओर बैरिकेडिंग की हुई थी। जिसका मकसद प्रदर्शनकारियों को मुख्यमंत्री आवास तक पहुंचने से रोकना था।

हालांकि मनोज तिवारी बैरिकेड पर चढ़कर लांघने की कोशिश कर रहे थे। तभी पुलिस ने प्रदर्शनकारियों (Protesters) को तितर-बितर करने के पानी की बौछार कर दी। इसी दौरान मनोज तिवारी घायल हो गए। उन्हें कथित तौर पर चोट भी आई। बाद में मनोज तिवारी को अस्पताल में भर्ती कराया गया जहां से उन्होंने वीडियो मैसेज जारी किया और अपने स्वास्थ्य की जानकारी दी।

Next Story

विविध

Share it