राजनीति

Nitish Kumar की सभा में झूमते हुए पहुंचा शराबी, तेजस्वी यादव ने ऐसे कसा तंज

Janjwar Desk
19 March 2022 12:42 PM GMT
Nitish Kumar की सभा में झूमते हुए पहुंचा शराबी, तेजस्वी यादव ने ऐसे कसा तंज
x

Nitish Kumar की सभा में झूमते हुए पहुंचा शराबी, तेजस्वी यादव ने ऐसे कसा तंज

Nitish Kumar : नीतीश कुमार की सभा में उस वक्त हंगामा मच गया जब वहां एक शराबी पहुंच गया, अब तेजस्वी यादव ने इस घटना को लेकर निशाना साधा है....

Nitish Kumar : बिहार (Bihar) के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार प्रदेश में शराबबंदी के तमाम दावे करते रहे हैं लेकिन उनकी सभा में ही उस वक्त हंगामा मच गया जब एख शराबी वहां पहुं गया। उस व्यक्ति ने पुलिस को खूब गालियां दीं। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish Kumar) के कार्यक्रम में शराबी के पहुंचने के बाद प्रशासन के हाथ-पांव फूल गए। इस घटना के बाद प्रशासन की काफी किरकिरी हो रही है और इसे सुरक्षा में चूक माना गया। वहीं इस घटना के बाद नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव (Tejashwi Yadav) ने नीतीश कुमार पर निशाना साधा है।

तेजस्वी ने मुख्यमंत्री नीतीश पर तंज कसते हुए ट्वीट किया है। उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा- मुख्यमंत्री के पास सबूत खुद चलकर पहुंचा है। इसलिए कहता हूं बिहार में सरकार नहीं सर्कस चल रहा है लेकिन यहां शराबी आसानी से मुख्यमंत्री जी की सभाओं में जश्न मनाते हैं।

जानकारी के मुताबिक मुख्यमंत्री नीतीश कुमार नालंदा जिले में एक जनसंवाद कार्यक्रम को संबोधित करने पहुंचे थे लेकिन मुख्यमंत्री के पहुंचने से पहले नशे में धुत एक व्यक्ति वहां पहुंच गया, उसने जमकर हंगामा किया। मुख्यमंत्री की सुरक्षा में सैकड़ों पुलिसकर्मी तैनात थे लेकिन उनको भेदते हुए यह शराबी कार्यक्रम स्थल तक पहुंच गया और इसे मुख्यमंत्री की सुरक्षा में चूक माना जा रहा है।

बिहार में शराब पर पूरी तरह से पाबंदी है लेकिन सरकार पर लगातार आरोप लगते आए हैं कि बिहार में तो शराब खुलेआम बिक्री हो रही है। विपक्ष तो यहां तक कहा है कि अब बिहार में शराब की होम डिलीवरी हो रही है। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार लोगों को जागरूक करने के लिए जागरूकता अभियान भी चला रहे हैं।

बता दें कि इससे पहले बिहार सरकार ने एक आदेश जारी किया था जिसके तहत प्रशासन ड्रोन से शराब के अड्डों को बर्बाद करेगा। इसके बाद फिर फरवरी में एक नया आदेश जारी हुआ जिसके तहत बिहार सरकार ने हेलीकॉप्टर से सर्वे कराकर अवैध शराब के धंधों पर नकेल कसने की तैयारी शुरू कर दी। इस पूरे अभियान की रिपोर्ट मुख्यमंत्री नीतीश कुमार स्वयं लेते हैं और पांच और छह घंटे यह अभियान रोजाना चलता है।

बता दें कि पटना हाईकोर्ट ने एक याचिका पर सुनवाई करते हुए सितंबर 2016 में शराबबंदी कानून के तहत मिलने वाली सजा को अनुचित बताते हुए इसे गैर कानूनी करार दिया था लेकिन नीतीश कुमार सरकार ने नया कानून लाकर इसे गांधी जयंती (2016) पर फिर से लागू कर दिया था।

Next Story