राजनीति

भवानीपुर से टीएमसी के विधायक सोवन देब चट्टोपाध्याय ने दिया इस्तीफा, ममता बनर्जी लड़ेंगी उपचुनाव

Janjwar Desk
21 May 2021 12:09 PM GMT
भवानीपुर से टीएमसी के विधायक सोवन देब चट्टोपाध्याय ने दिया इस्तीफा, ममता बनर्जी लड़ेंगी उपचुनाव
x

Mamta Banergee File Photo.

मुख्यमंत्री पद पर बने रहने के लिए ममता बनर्जी को 6 महीने के अंदर राज्य के किसी भी विधानसभा क्षेत्र से निर्वाचित होना है। आपको बता दें कि भवानीपुर सीट ममता बनर्जी की पारंपरिक सीट रही है।

जनज्वार ब्यूरो। 2021 के प. बंगाल विधानसभा चुनाव में भवानीपुर सीट से निर्वाचित हुए विधायक सोवन देब चट्टोपाध्याय ने आज 21 मई को विधानसभा कक्ष में अपना इस्तीफा पश्चिम बंगाल विधानसभा अध्यक्ष बिमान बनर्जी को सौंप दिया है।

सोवन देब के इस्तीफे के बाद भवानीपुर विधानसभा क्षेत्र में उपचुनाव होगा। यहां पर अब तृणमूल कांग्रेस की तरफ से ममता बनर्जी चुनाव लड़ेंगी। मुख्यमंत्री पद पर बने रहने के लिए ममता बनर्जी को 6 महीने के अंदर राज्य के किसी भी विधानसभा क्षेत्र से निर्वाचित होना है। आपको बता दें कि भवानीपुर सीट ममता बनर्जी की पारंपरिक सीट रही है। पिछले 2 विधानसभा चुनावों में वह यहां से लगातार जीतती रही हैं। 2021 के विधानसभा चुनाव में शुभेंदु अधिकारी को नंदीग्राम में टक्कर देने के लिए उन्होंन भवानीपुर सीट को छोड़कर नंदीग्राम से चुनाव लड़ा था। मतगणना के दौरान शुभेंदु अधिकारी को 1956 वोट से विजयी घोषित किया गया था।

किसी दबाव में नहीं दिया इस्तीफा, बोले सोवन देब

इस्तीफ़े के सम्बन्ध में सोवन देब कहते हैं- ममता बनर्जी को 6 महीने के भीतर विधायक के रूप में निर्वाचित होना है। मैंने इस साल का चुनाव ममता बनर्जी के निर्वाचन क्षेत्र से लड़ा था। आज मैं इस सीट से इस्तीफा दे रहा हूं ताकि वह भवानीपुर से निर्वाचित हो जाएं। मुख्यमंत्री दो बार भवानीपुर सीट से जीत चुकी हैं। सभी पार्टी नेताओं ने चर्चा की और जब मैंने यह सुना कि वह भवानीपुर सीट से चुनाव लड़ना चाहती है तो मैंने सोचा कि मुझे यह सीट खाली कर देना चाहिए। मेरे ऊपर किसी तरह का कोई दबाव नहीं है। किसी और में सरकार चलाने का साहस नहीं है, मैंने उनसे बात की है उनकी सीट थी मैं तो सिर्फ इसकी रक्षा कर रहा था।

सोवन देब के इस्तीफे पर विधानसभा अध्यक्ष विमान बनर्जी ने कहा- मैंने उनसे यह पूछा कि वह अपनी इच्छा से या फिर जबरदस्ती अपना इस्तीफा दे रहे हैं , मैं पूरी तरह से संतुष्ट हूं, और मैंने उनका इस्तीफा स्वीकार कर लिया है ।

सूत्रों के अनुसार सोवन देब को किसी अन्य निर्वाचन क्षेत्र से मैदान में उतारा जा सकता है। विधानसभा चुनाव के दौरान मुर्शिदाबाद जिले की 2 सीटों पर उम्मीदवारों की कोविड 19 से मौत के कारण चुनाव को स्थगित कर दिया गया था। ऐसे में उन्हें उनमें से किसी एक सीट से चुनाव में उतारा जा सकता है। यह भी दावा किया जा रहा है कि सोवन देब को राज्यसभा सांसद बनाया जा सकता है।

Next Story

विविध

Share it