राजनीति

UP Election 2022 : भाजपा ने जारी की 107 सीटों पर उम्मीदवारों की पहली सूची, योगी आदित्यनाथ गोरखपुर शहर से लड़ेंगे चुनाव

Janjwar Desk
15 Jan 2022 7:31 AM GMT
UP Election 2022 : भाजपा ने जारी की 107 सीटों पर उम्मीदवारों की पहली सूची, योगी आदित्यनाथ गोरखपुर शहर से लड़ेंगे चुनाव
x
UP Election 2022 : उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव को लेकर भाजपा केंद्रीय चुनाव समिति और कोर कमेटी की पिछले दिनों बैठक हुई थी। बैठक में पार्टी पहले तीन चरण के 172 सीटों के उम्मीदवारों के नाम पर चर्चा की थी।

UP Election 2022 : उत्तर प्रदेश भाजपा में जारी घमासान के बीच पार्टी ने अपने 107 उम्मीदवारों की पहली सूची जारी कर दी है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को गोरखपुर शहर सीट से उम्मीदवार बनाया गया है। यूपी प्रभारी और केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने नई दिल्ली स्थित पार्टी मुख्यालय में एक प्रेस कॉन्फ्रेन्स में इसका एलान किया। पार्टी ने उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य को प्रयागराज जिले के सिराथु विधान सभा सीट से उम्मीदवार बनाया है।


राजनाथ सिंह के बेटे पंकज सिंह को भी मिला टिकट

इसके अलावा पार्टी ने नोएडा से रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह के बेटे पंकज सिंह को उम्मीदवार बनाया है। थानाभवन से सुरेश राणा, सिराथु सीट से केशव प्रसाद मौर्य, कैराना से मृगांका सिंह, किठोर से सत्यवीर त्यागी, सनधना से संगीत सोम, मेरठ से कमल दत्त शर्मा, तेजेंद्र निर्वाल शामली, मेरठ कैंट से अमित अग्रवाल, छपरौली से सहेंद्र सिंह, लोनी से नंद किशोर गुर्जर, आगरा से ग्रामीण बेबी रानी मौर्य, श्रीकांत शर्मा मथुरा से, फतेहाबाद से छोटे लाला वर्मा,बागपत से योगेश धामा को प्रत्याशी बनाया गया है।

मुजफ्फरनगर से कपिल देव अग्रवाल, बुढ़ाना से उमेश मलिक,चरथावल से सपना कश्यप, पूरकाजी से प्रमोद ओटवाल, खतौली से विक्रम सैनी, मेरठ साउथ से सोमेंदर तोमर, हस्तिनापुर से दिनेश खटीक, बड़ोत से केपी सिंह मलिक, मुरादनगर से अजीत पाल त्यागी,साहिबाबाद से सुनील शर्मा, मीरापुर से प्रशांत गुर्जर,सिवालखास से मनेंद्र पाल सिंह सहित सूची में शेष अन्य के नाम शामिल हैं।

63 मौजूदा विधायकों को मिला टिकट

भारतीय जनता पाटी ने शनिवार को कुल 107 नामों का ऐलान किया है। इनमें से 63 मौजूदा विधायकों को टिकट दिया गया है। पहले और दूसरे चरण में बीजेपी ने 20 विधायकों का टिकट काटा है। जिन्हें टिकट दिया है उनमें 44 ओबीसी, 19 एससी और 10 महिलाओं के नाम शामिल हैं। यानि भाजपा ने पहली सूची में 68 फीसदी उम्मीदवार ओबीसी, एससी और महिलाओं को बनाया है।

बता दें कि पिछले दिनों उत्तर प्रदेश चुनाव पर बीजेपी की कोर कमेटी और केंद्रीय चुनाव समिति की दिल्ली में हुई लंबी बैठकें हुई थी। इसमें पार्टी ने पहले तीन चरण के 172 सीटों पर उम्मीदवारों के नाम पर चर्चा की थी।

इस्तीफों की वजह से बैकफुट पर BJP

यूपी में एक के बाद एक तीन कैबिनेट मंत्रियों और 6 विधायकों के पार्टी छोड़ने के बाद से भाजपा दबाव में है। इस वजह से भी उम्मीदवारों की सूची जारी करने में देरी हो रही है। भाजपा पर साल 2017 का प्रदर्शन दोहराने का भी दबाव है। पार्टी नेतृत्व उत्तर प्रदेश में फिर से पूर्ण बहुमत की सरकार बनाने के लिए ऐसे चेहरों को चुनावी मैदान में उतारने की कोशिश कर रहा है, जो उसे जीत दिला सके। योगी सरकार में मंत्री रहे स्वामी प्रसाद मौर्य, दारा सिंह चौहान, धर्म सिंह सैनी और उनके समर्थक विधायकों के बीजेपी छोड़ने और समाजवादी पार्टी में शामिल होने के बाद से पार्टी बैकफुट पर है।

इस बार योगी आदित्यनाथ भी लड़ेंगे विधानसभा चुनाव

यूपीके मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी इस बार का विधानसभा चुनाव लड़ने की घोषणा की है। भाजपा उन्हें अयोध्या की किसी सीट से उम्मीदवार बना सकती है। वहीं इस बात की भी चर्चा है कि विधानसभा चुनाव में अपने कुछ बड़े नेताओं को भी चुनाव मैदान में उतार सकती है। इसमें उपमुख्यमंत्री डॉक्टर दिनेश शर्मा, प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह के साथ-साथ कुछ राज्य सभा और विधान परिषद के सदस्यों के नाम शामिल है। इस बात की भी संभावना है कि बीजेपी अपने कई विधयाकों के टिकट काट दे।

भाजपा के उम्मदीवारों के नाम का ऐलान करने से पहले यूपी प्रभारी केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने कहा कि योगी जी की सरकार ने पिछले 5 साल में गुंडाराज, भ्रष्टाचारियों, माफियों पर नकेल कसने का काम किया है। बेटियां रात में भी निडर होकर घूम सकती हैं। मैं दावे से कह सकता हूं कि योगी जी ने यूपी को दंगामुक्त राज्य बनाकर दिया है।यूपी अब बीमारू राज्य के बदले नंबर एक पर उभरकर सामने आया है।

Next Story

विविध

Share it