समाज

UP : बुलंदशहर में शराब पीने के बाद 5 लोगों की मौत और डेढ़ दर्जन की हालत गंभीर, CM योगी ने दोषियों पर NSA लगाने का दिया निर्देश

Janjwar Desk
8 Jan 2021 3:00 PM GMT
UP : बुलंदशहर में शराब पीने के बाद 5 लोगों की मौत और डेढ़ दर्जन की हालत गंभीर, CM योगी ने दोषियों पर NSA लगाने का दिया निर्देश
x

photo : social media

कल गुरुवार 7 जनवरी की शाम को गांव में अवैध रूप से बिक रही शराब का सेवन कुछ ग्रामीणों ने किा था। शराब पीने के बाद लोगों की हालत बिगड़ने लगी तो परिजन उन्हें अस्पताल लेकर पहुंचे, मगर उसके बाद मौतों का सिलसिला शुरू हो गया...

बुलंदशहर, जनज्वार। बुलंदशहर जनपद में सिकंदराबाद कोतवाली क्षेत्र के गांव जीतगढ़ी में आज 8 जनवरी को अवैध शराब पीने से 5 लोगों की मौत हो गयी है और तकरीबन 16 लोग जिंदगी और मौत के बीच झूल रहे हैं।

जानकारी के मुताबिक जीतगढ़ी गांव में अवैध रूप से बिक रही शराब पीने से पांच लोगों की मौत हुई है, जबकि 16 लोगों की हालत गंभीर बनी हुई है।

इस मामले में अब मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ एक्शन मोड में आ गये हैं। योगी सरकार ने इस कांड के बाद चार पुलिसकर्मियों समेत आठ लोगों को निलंबित कर दिया है। इनमें मेरठ जोन के संयुक्त आबकारी आयुक्त सहित चार अधिकारी शामिल हैं। मुख्यमंत्री ने दोषियों पर रासुका लगाने के भी निर्देश दिए हैं। पुलिस का कहना है कि मुख्य अभियुक्त को गिरफ्तार कर लिया गया है।

खबरों के मुताबिक कल गुरुवार 7 जनवरी की शाम को गांव में अवैध रूप से बिक रही शराब का सेवन कुछ ग्रामीणों ने किा था। शराब पीने के बाद लोगों की हालत बिगड़ने लगी तो परिजन उन्हें अस्पताल लेकर पहुंचे, मगर उसके बाद मौतों का सिलसिला शुरू हो गया।

शराब पीने के बाद सबसे पहली मौत 45 वर्षीय सुरजीत की कल 7 जनवरी की देर रात ही हो गयी थी। उसके बाद आज शुक्रवार 8 जनवरी की सुबह तक पांच लोगों ने दम तोड़ दिया। मृतकों में 65 वर्षीय सुखपाल, 45 साल के सतीश, 45 साल के कलुआ, 45 वर्षीय सरजीत और 65 साल के पन्नालाल शामिल हैं।

मृतकों के अलावा पंकज, मनोज, मोनू, नवीन, अजय, ओमवीर, सुखपाल, गजे, प्रेम सिंह, रतन, शिवपाल, ऋषिपाल समेत 16 लोगों की हालत बहुत खराब है, जिन्हें उपचार के लिए सरकारी और निजी अस्पतालों में भर्ती कराया गया है।

हालांकि इस मामले में भी प्रशासन की गंभीर लापरवाहियां सामने आयी हैं। शुरुआत में प्रशासनिक अधिकारी मामले में भी जांच कराने की बात कहते रहे, मगर जब गांववालों ने मौत के पीछे अवैध शराब को कारण माना तो परतें खुलती चली गई।

अब इस मामले में योगी सरकार ने प्रशासनिक लापरवाही के लिए जिम्मेदार ठहराते हुए आबकारी विभाग के मेरठ जोन के संयुक्त आबकारी आयुक्त राजेश मणि त्रिपाठी, उप आबकारी आयुक्त सुरेश चंद्रा पटेल के विरुद्ध विभागीय कार्यवाही संस्थित करते हुए आबकारी आयुक्तालय में संबद्ध किया है। जिला आबकारी अधिकारी संजय कुमार त्रिपाठी के विरुद्ध पर्यवेक्षण में शिथिलता बरतने के आरोप में विभागीय कार्यवाही की संस्तुति करते हुए आबकारी आयुक्तालय से संबंध कर दिया है। वहीं सिकंदराबाद क्षेत्र में तैनात आबकारी निरीक्षक प्रभात वर्धन, प्रधान आबकारी सिपाही रामबाबू समेत आबकारी सिपाही श्रीकांत सोम और सलीम अहमद को निलंबित कर दिया है। एएसपी ने भी सिकंदराबाद कोतवाल दीक्षित कुमार त्यागी सहित चार पुलिसकर्मियों को निलंबित किया है।

इस मामले में एसएसपी संतोष कुमार सिंह ने मीडिया को बताया कि मुख्य आरोपी शराब विक्रेता कुलदीप को दिल्ली से गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस उसके परिवार के चार सदस्यों को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है।

बुलंदशहर की घटना का मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने संज्ञान लेते हुए दोषियों पर रासुका के तहत कार्रवाई के निर्देश दिए। साथ ही वरिष्ठ अधिकारियों को तत्काल मौके पर जाकर हर पीड़ित को बेहतर इलाज देने के निर्देश भी जारी किये गये हैं।

Next Story

विविध

Share it