Top
समाज

लखनऊ दोहरे हत्याकांड में चौंकाने वाला खुलासा, रेलवे अधिकारी की बेटी ने शीशे पर disqualified human लिख की मां-भाई की हत्या

Janjwar Desk
30 Aug 2020 6:30 AM GMT
लखनऊ दोहरे हत्याकांड में चौंकाने वाला खुलासा, रेलवे अधिकारी की बेटी ने शीशे पर disqualified human लिख की मां-भाई की हत्या
x

लखनऊ के दोहरे हत्याकांड में मारे गये मां-बेटे (photo : dainik jagran)

छानबीन में सामने आया कि रेलवे अधिकारी की बेटी ने पहले भी खुद को चोटें पहुंचाई थीं, उसके हाथ में चोट के निशान हैं, पुलिस ने छानबीन की तो टमाटर की चटनी से बाथरूम के शीशे पर कुछ लिखा मिला और यह लिखने के बाद उसने शीशे पर भी फायरिंग की...

लखनऊ। लखनऊ के वीवीआईपी Railway colony गौतमपल्ली में रेल मंत्रालय में एग्जीक्यूटिव डायरेक्टर आरडी बाजपेई (RD Bajpai) की पत्नी और बेटे की हत्या के मामले में चौंकाने वाला खुलासा हुआ है। पुलिस ने खुलासा करते हुए बताया कि वाजपेई की नाबालिग बेटी ने ही अपनी मां और भाई की गोली मारकर हत्या कर दी।

पुलिस आयुक्त सुजीत पांडेय ने बताया कि, "राजेश दत्त बाजपेई बतौर एग्जिक्यूटिव डायरेक्टर रेलवे बोर्ड में तैनात हैं और दिल्ली में रहते हैं। गौतमपल्ली के विवेकानंद मार्ग पर बंगला नंबर एक में उनकी पत्नी मालिनी, बेटा सर्वदत्त और 16 वर्षीय बेटी रहते थे। शनिवार 29 अगस्त को वाजपेई की पत्नी और उनके बेटे के शव उनके ही कमरे से बरामद किया गया।"

घटना की जानकारी मिलते ही डीजीपी सहित पुलिस के आलाअधिकारी मौके पर पहुंच गये। घटनास्थल को सील कर दिया था। इसके लिए 6 टीमें बनायी गयी थीं। जांच में पता चला कि वारदात को उन्हीं की नाबालिग बेटी ने अंजाम दिया। घटनास्थल से एक हथियार भी बरामद किया गया है।

उन्होंने बताया कि छानबीन में सामने आया है कि रेलवे अधिकारी की बेटी ने पहले भी खुद को चोटें पहुंचाई थीं। किशोरी के हाथ में चोट के निशान हैं। पुलिस ने छानबीन की तो टमाटर की चटनी से बाथरूम के शीशे पर कुछ लिखा मिला। किशोरी ने यह लिखने के बाद शीशे पर भी फायरिंग की। पुलिस आयुक्त का कहना है कि .22 बोर का असलहा बरामद कर लिया गया है। किशोरी ने इसी से मां और भाई पर गोलियां दागी। पूछताछ में उसने बताया कि असलहे में उसने पांच गोलियां लोड की थीं, और तीन राउंड गोलियां दाग दीं।

लखनऊ के सबसे पॉ़श इलाके में शनिवार को डबल मर्डर की घटना से सनसनी फैल गई। दोपहर करीब सवा तीन बजे पुलिस कंट्रोलरूम को लड़की की नानी ने मालिनी और सर्वदत्त की हत्या की सूचना दी। मौके पर पहुंची पुलिस को लड़की सदमे में मिली। उसके दोनों हाथों पर धारदार हथियार से खरोंचों के निशान थे। वह कुछ भी बोलने की स्थिति में नहीं थी।

पुलिस की एक टीम ने डॉक्टर को बुलवाकर उसका उपचार शुरू कराया। मां-बेटे के शव पलंग पर पड़े हुए थे। दोनों के शव के ऊपर चादर पड़ा हुआ था। शवों को देखकर ऐसा लग रहा था जैसे दोनों को सोते वक्त गोलियां मारी गई हैं। बताया जा रहा है किशोरी राष्ट्रीय स्तर की निशानेबाज है।

पुलिस कहना है कि मां और भाई की हत्यारोपी लड़की की मानसिक हालत नहीं ठीक, शीशे पर चटनी से पहले लिखा disqualified human और फिर कर दी हत्या

घटनास्थल पर उनके रिश्तेदारों ने बताया कि आरडी बाजपेई का शनिवार 29 अगस्त को जन्मदिन था। घर में काम करने वाली मेड ने पुलिस को बताया कि शनिवार दोपहर में वह खाना बनाने आई थी। इस दौरान सभी लोगों को खाना खिलाकर वो दूसरे कमरे में काम करने लगी। इसके बाद उसे वाजपेई की पत्नी से घर जाने के लिए कहा। दो घंटे बाद उसे पता चला कि मालिनी और उनके बेटे सर्वदीप की हत्या कर दी गई है।

पुलिस का कहना है कि लड़की की मानसिक स्थिति सही नहीं थी। लड़की लखनऊ के एक प्रतिष्ठित स्कूल की छात्रा थी। उसके कमरे से पिस्टल मिली है। यह भी पता चला है कि लड़की ने अपने कमरे के बाथरूम में शीशे पर लिखा था, 'disqualified human'। इससे माना जा रहा है कि लड़की किसी बात को लेकर अवसाद में थी।

रेलवे अधिकारी की पत्नी मालिनी के कनपटी पर दो गोलियां लगी थीं, जबकि सर्वदत्त के सिर पर माथे से ऊपर के हिस्से में एक गोली लगी है। दो गोलियां शीशे पर भी लगी थीं। बंगले की जांच में लूटपाट या बदमाशों के आने की पुष्टि नहीं हुई। पुलिस ने हत्या का राज घर पर ही होने की आशंका से छानबीन करते हुए बंगले के पीछे स्थित सर्वेंट क्वार्टर में रहने वाले नौकरों से पूछताछ की तो लड़की पर शक गहरा गया। पुलिस ने घुमा-फिरा कर पूछताछ की तो उसने हत्या की बात स्वीकार करते हुए पिस्टल बरामद कर ली।

Next Story

विविध

Share it