समाज

नहीं रहे छोटे पर्दे के ठाकुर सज्जन सिंह फेम अनुपम श्याम ओझा, जूझ रहे थे किडनी की बीमारी से

Janjwar Desk
9 Aug 2021 5:16 AM GMT
नहीं रहे छोटे पर्दे के ठाकुर सज्जन सिंह फेम अनुपम श्याम ओझा, जूझ रहे थे किडनी की बीमारी से
x

प्रतिज्ञा धारावाहिक में निभाये गये ठाकुर सज्जन सिंह के चरित्र से घर-घर में पहचान पा चुके थे अनुपम श्याम ओझा

पिछले साल लॉकडाउन के समय अनुपम श्याम ओझा की तबीयत बहुत खराब हो गयी थी, उन्हें आईसीयू में एडमिट होना पड़ा था, आर्थिक तंगी के कारण उन्होंने सोशल मीडिया पर लोगों से मदद की गुहार भी लगाई थी...

जनज्वार। हिंदी सीरियल प्रतिज्ञा में ठाकुर सज्जन सिंह का यादगार चरित्र निभाने वाले सज्जन सिंह उर्फ अनुपम श्याम ओझा का निधन हो गया है। वो लगभग 1 साल से किडनी की ​बीमारी से जूझ रहे थे। प्रतिज्ञा सीरियल में आंखों में खौफ पैदा करने वाले ठाकुर सज्जन सिंह के चरित्र को उन्होंने अपनी अदाकारी से जीवंत कर दिया था और घर घर में इसी भूमिका के लिए वह जाने भी जाते थे।

उन्हें श्रद्धांजलि देते हुए फिल्म निर्देशक अशोक पंडित ने ट्वीट किया है, 'बहुत दुख हुआ ये जानकर कि दिग्गज एक्टर अनुपम श्याम का मल्टीपल ऑर्गन फेलियर होने से निधन हो गया है। ये फिल्म और टीवी इंडस्ट्री का बड़ा नुकसान है। श्रद्धांजलि।'

गौरतलब है कि पिछले साल लॉकडाउन के समय अनुपम श्याम ओझा की तबीयत बहुत खराब हो गयी थी। उन्हें आईसीयू में एडमिट होना पड़ा था। आर्थिक तंगी के कारण उन्होंने सोशल मीडिया पर लोगों से मदद की गुहार भी लगाई थी।

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अपने राज्य प्रतापगढ़ के अभिनेता अनुपम श्याम ओझा की आर्थिक मदद की गुहार के बाद उन्हें इलाज का खर्च उठाने के लिए 20 लाख रुपये की वित्तीय सहायता दी थी। योगी आदित्यनाथ से वित्तीय सहायता मिलने के बाद अनुपम श्याम ओझा ने एक भावुक पत्र लिखकर यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का आभार भी व्यक्त किया था।

अनुपम श्याम ओझा के निधन पर योगी आदित्यनाथ ने दुख भी व्यक्त किया है। उन्होंने ट्वीट किया है, 'सुप्रसिद्ध अभिनेता अनुपम श्याम ओझा जी का निधन अत्यंत दुःखद है। मेरी संवेदनाएं शोक संतप्त परिजनों के साथ हैं। प्रभु श्री राम से प्रार्थना है कि दिवंगत आत्मा को अपने श्री चरणों में स्थान तथा उनके शोक संतप्त परिजनों व प्रशंसकों को यह दुःख सहन करने की शक्ति प्रदान करें। ॐ शांति!'

इस साल थोड़ा बेहतर हालत में आने के बाद अनुपम श्याम ओझा ने मन की आवाज प्रतिज्ञा के दूसरे सीजन की शुरुआत होने पर अभिनय जगत में वापसी की थी, मगर शूटिंग खत्म होने के बाद वह एक सप्ताह में तीन बार डायलिसिस पर जाते थे।

अनुपम श्याम ओझा को श्रद्धांजलि देते हुए ​टीवी अभिनेत्री असीमा भट्ट कहती हैं, 'अनुपम श्याम ओझा एक उम्दा और संवेदनशील अभिनेता, मेरे लिए तो बड़े भाई चले गए। यह एक अजीब इत्तेफाक है कि 16 जुलाई को सुरेखा सीकरी जी गयीं और आज 9 अगस्त को अनुपम दा। और दोनों ने कहा था कि मेरी बायोग्राफी लिखो. अभी तो स्तब्ध हूं।'

अनुपम श्याम ओझा मूल रूप से प्रतापगढ़ के रहने वाले थे और उन्होंने स्कूली शिक्षा प्रतापगढ़ से ही प्राप्त की थी। स्कूली शिक्षा पूरी करने के बाद उन्होंने लखनऊ के भारतेन्दु नाट्य अकादमी से थियेटर की पढ़ाई की और इसके बाद वे दिल्ली स्थित श्रीराम सेंटर रंगमंडल में काम भी करने लगे। बाद में जब आंखों में नये सपने सजाये उन्होंने मुंबई का रुख कर लिया।

अंतर्राष्ट्रीय फिल्म से अपना फिल्मी सफर शुरू करने वाले अनुपम श्याम ओझा को सबसे पहले 'लिटिल बुद्धा' नाम की फिल्म में काम मिला था। उसके बाद शेखर कपूर निर्देशित फिल्म 'बैंडिट क्वीन' में उन्होंने अदाकारी की, जिसके बाद एक के बाद एक कई फिल्मों में वो नजर आये। यह अलग बात है कि अनुपम श्याम ओझा को अपने लुक्स और आंखों की वजह से नकारात्मक और ग्रे शेड किरदार ही निभाने को मिले।

'बैंडिट क्वीन', 'स्लमडॉग मिलेनियर', 'द वॉरियर', 'थ्रेड', 'शक्ति', 'हल्ला बोल', 'रक्तचरित' और 'जय गंगा' में उन्हें उनके अभिनय के लिए याद किया जाता है। टीवी धारावाहिक 'मन की आवाज प्रतिज्ञा' में निभाया गया ठाकुर सज्जन सिंह का ​अंदर तक सिहरा देने वाले चरित्र के कारण वह घर-घर में पहचान कायम कर चुके थे। इसके अलावा 'कृष्णा चली लंदन' और 'डोली अरमानों की' में भी अनुपम श्याम ओझा ने अभिनय किया था।

Next Story

विविध

Share it