समाज

बलात्कार का विरोध करने पर बच्ची को उतारा मौत के घाट, आरोपी ने की लाश के साथ यौन संबंध बनाने की कोशिश : ओडिशा पुलिस का खुलासा

Janjwar Desk
22 Dec 2020 12:38 PM GMT
बलात्कार का विरोध करने पर बच्ची को उतारा मौत के घाट, आरोपी ने की लाश के साथ यौन संबंध बनाने की कोशिश : ओडिशा पुलिस का खुलासा
x

प्रतीकात्मक

आरोपी अपहरण कर बच्ची को एक कमरे में ले गया और उसने उसे निर्वस्त्र करने की कोशिश की, इस पर बच्ची ने विरोध किया और वह रोने लगी, जिसके बाद आरोपी ने उसका गला घोंटकर हत्या करने दी, हत्या के बाद आरोपी ने बच्ची की लाश के साथ यौन संबंध बनाने की कोशिश की...

भुवनेश्वर। ओडिशा के नयागढ़ जिले में पांच साल की बच्ची की हत्या के आरोप में गिरफ्तार व्यक्ति ने अपने घर पर बच्ची का गला घोंटने के बाद उसके पार्थिव शरीर के साथ यौन संबंध बनाने की कोशिश की थी। एसआईटी प्रमुख अरुण बोथरा ने मंगलवार 22 दिसंबर को यह जानकारी दी।

बोथरा ने कटक में मीडियाकर्मियों को बताया कि दुष्कर्म के प्रयास का विरोध करने पर आरोपी सरोज सेठी ने जादूपुर गांव की लड़की का गला घोंट दिया था। मरने के बाद सेठी ने बच्ची के पार्थिव शरीर के साथ यौन संबंध बनाने का प्रयास भी किया।

बोथरा के नेतृत्व में विशेष जांच दल (एसआईटी) बच्ची के कथित अपहरण और हत्या की जांच कर रहा है। एसआईटी प्रमुख ने कहा कि मुख्य आरोपी चाइल्ड पोर्नोग्राफी (बच्चों से संबंधित अश्लील फिल्म) देखने का आदी था।

उन्होंने कहा कि लड़की खाने की चीज के लिए 14 जुलाई को अपने घर से लगभग 100 मीटर दूर सरोज के घर गई थी। उस वक्त सरोज अपने घर पर अकेला था और वह बच्ची को एक कमरे में ले गया और उसने कथित तौर पर उसे निर्वस्त्र करने की कोशिश की। इस पर बच्ची ने विरोध किया और वह रोने लगी, जिसके बाद आरोपी ने उसका गला घोंट दिया।

बोथरा ने कहा, "लड़की की हत्या करने के बाद सरोज ने उसके पार्थिव शरीर के साथ यौन संबंध बनाने की कोशिश की। यह मेरे पुलिसिंग कैरियर में सबसे अधिक परेशान करने वाला और भयानक मामलों में से एक है।" आरोपी ने बच्ची के शव को एक तालाब के पास ठिकाने लगा दिया।

एसआईटी प्रमुख के बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए, लड़की के पिता ने कहा कि यह सब पहले से ही तय (स्क्रिप्टेड) था। उन्होंने मीडियाकर्मियों से कहा, "हम हत्या की सीबीआई जांच की मांग कर रहे हैं, लेकिन एसआईटी इसे ड्रामा बना रही है। मेरी बेटी के साथ खेल रही दो अन्य लड़कियों ने कहा था कि कान्हू ने मेरी बेटी का अपहरण कर लिया था और वह उसे बबुली नायक के पास ले गया।"

लड़की के परिजनों ने 24 नवंबर को शीतकालीन सत्र के दौरान विधानसभा के सामने आत्मदाह का प्रयास किया था।

परिजनों ने आरोप लगाया कि मंत्री अरुण कुमार साहू बबुली नायक को बचा रहे हैं, जिसने कथित तौर पर उनकी बेटी का अपहरण कर उसकी हत्या की है।

Next Story
Share it