Top
सिक्योरिटी

भारत के रक्षा बेड़े में आज शामिल हो जाएगा राफेल, दिल्ली पहुंचीं फ्रांस की रक्षामंत्री

Janjwar Desk
10 Sep 2020 4:09 AM GMT
भारत के रक्षा बेड़े में आज शामिल हो जाएगा राफेल, दिल्ली पहुंचीं फ्रांस की रक्षामंत्री
x
भारतीय वायुसेना के बेड़े में आज पांच राफेल विमान शामिल किया जा रहा है...

जनज्वार। भारतीय रक्षा बेड़े में गुरुवार (10 सितंबर 2020) को औपचारिक रूप से राफेल लड़ाकू विमान शामिल हो जाएगा। इसके लिए अंबाला कैंट एयरपोर्ट पर एक कार्यक्रम का आयोजन किया जा रहा है, जिसमें रक्षामंत्री राजनाथ सिंह एवं फ्रांस की रक्षामंत्री शामिल होंगी। फ्रांस की रक्षामंत्री फ्लोरेंस पार्ले आज सवेरे इस कार्यक्रम में शामिल होने के लिए दिल्ली पहुंच गईं हैं।


रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने अंबाला रवाना होने से पहले फ्रांस की रक्षामंत्री फ्लोरेंस पार्ले के साथ पालम एयरपोर्ट पर एक बैठक की। उसके बाद दोनों नेता अंबाला के लिए रवाना हो गए। राफेल विमान की खरीद भारत ने फ्रांस से ही की है।


भारतीय वायुसेना के बेड़े में इसे शामिल करने के दौरान फ्रांस की रक्षामंत्री की उपस्थिति के अहम मानी जा रही है। भारत इसके जरिए फ्रांस के साथ सामरिक व रक्षा सहयोग को बढाने का संदेश देगा। 29 जुलाई को फ्रांस से भारत साथ राफेल विमानों की पहली खेप आयी थी।

फ्रांस की रक्षामंत्री अपनी भारत यात्रा के क्रम में मजबूत रक्षा व सैन्य संबंधों पर बात करेंगी और राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल से भी भेंट करेंगी।

राफेल विमान क्यों है इतना अहम?

दुनिया के कुछ चुनिंदा देशों के पास इस वक्त पांचवें जेनरेशन का लड़ाकू विमान है, जबकि कुछ प्रमुख देशों के पास चौथे जेनरेशन का लड़ाकू विमान है। राफेल को फोर्थ प्लस जेनेरेशन यानी चौथे जेनरेशन व पांचवे जेनरेशन के बीच का लड़ाकू विमान माना जाता है। यह परमाणु हमला करने में सक्षम है। राफेल दो सीटर व सिंगल सीटर दोनों प्रकार का है। दोनों विमानों में ट्विन इंजन है, डेल्टा विंग व सेमी स्टील्थ कैपेबिलिटीज है।


कम वजन के कारण यह काफी फुर्तीला विमान माना जाता है। इसे रडार क्राॅस सेक्शन व इन्फ्रा रेड सिग्नेचर के साथ डिजाइन किया गया है। इसमें शक्तिशाली एम 88 इंजन लगा हुआ है। इस लड़ाकू विमान में आरबीई 2 एए एक्टिव इलेक्ट्रानिकली स्कैन्ड एरे रडार लगा हुआ है जो लो आब्जर्वेशन टारगेट को पहचानने में मदद करता है।




Next Story

विविध

Share it