Top stories

Bihar News : हत्या की साजिश के आरोपी के साथ CM नीतीश की तस्वीर शेयर कर पूर्व IPS अमिताभ कुमार दास ने पूछा, क्या यही सुशासन है?

Janjwar Desk
19 Sep 2021 3:20 PM GMT
अमिताभ कुमार दास द्वारा लिखा एक पत्र वायरल हुआ है जिसमें पूर्व आईपीएस ने डॉक्टर राजीव सिंह की गिरफ्तारी की मांग की है
x

(हत्यारोपी के साथ बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार। फोटो : अमिताभ दास/फेसबुक)

Bihar News : जिम ट्रेनर पर हमले की साजिश रचने के आरोपी के साथ नीतीश कुमार की तस्वीर साझा करते हुए अमिताभ कुमार दास ने लिखा - चोर-चोर मौसेर भाई...

जनज्वार। बिहार के तेज-तर्रार पूर्व आईपीएस अमिताभ कुमार दास ( Amitabh kumar das) बिहार की नीतीश सरकार (nitish government) को अक्सर घेरते हुए नजर आते हैं। इसी बीच उनका एक फेसबुक पोस्ट वायरल हुआ है। जिसमें उन्होंने सीएम नीतीश कुमार ( cm nitish kumar) की तस्वीर साझा की है। जिसमें वह डॉक्टर राजीव सिंह के साथ नजर आ रहे हैं। राजीव सिंह वही शख्स है जिसपर 18 सितंबर को पटना में विक्रम सिंह नाम के जिम ट्रेनर को 5 गोलियां मारने के मामले साजिश का आरोप लगा है।

अमिताभ कुमार का यह पोस्ट वायरल

जिम ट्रेनर पर हमले की साजिश रचने वाले आरोपी के साथ नीतीश कुमार की तस्वीर साझा करते हुए अमिताभ कुमार दास (former ips Amitabh kumar das) ने लिखा कि चोर-चोर मौसेर भाई, आज मुझे यह तस्वीर मेरे एक 'खबरी' (मुखबिर) से मिली है। नलायक नीतीश कुमार डॉ राजीव सिंह के साथ नजर आ रहे हैं! कल, एक जिम ट्रेनर (fire on gym trainer) के शरीर में 5 गोलियां दागी गई थी। वह किसी तरह बच गया। उसने पुलिस को बताया कि जानलेवा हमले के पीछे डॉक्टर राजीव सिंह का हाथ था। पटना पुलिस ने डॉ राजीव सिंह को गिरफ्तार कर लिया। उसे कदमकुआं थाने लाया गया। इसके बाद नलायक नीतीश कुमार ने हस्तक्षेप किया। डॉ राजीव सिंह छोड़ दिया गया। यहां तक कि वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों ने उनसे माफी मांगी! उन्होंने आगे लिखा कि इस तरह सुशासन माफिया (sushan mafia) काम करता है। कृपया इस तस्वीर को वायरल करें!

इस संबंध में एक पुलिस महानिदेशक को अमिताभ कुमार दास द्वारा लिखा एक पत्र भी वायरल (letter viral) हुआ है जिसमें पूर्व आईपीएस ने डॉक्टर राजीव सिंह की गिरफ्तारी (arrest Rajeev singh) की मांग की है। पत्र में लिखी गई बातों के मुताबिक 18 सितंबर को पटना (patna) में विक्रम सिंह नाम के जिम ट्रेनर को गोली मार दी गई थी। वह बुरी तरह घायल हुआ। पुलिस को दिए बयान में उसने डॉक्टर राजीव सिंह पर साजिश का इल्जाम लगाया था। लेकिन अब तक आरोपी की गिरफ्तारी नहीं की गई।


राजीव रंजन को प्राप्त है सीएम नीतीश कुमार का संरक्षण

बताया जा रहा है कि डॉक्टर राजीव रंजन जनता दल यूनाईटेड (janta dal united) से जुड़ा रहा है और आरोपी को सीएम नीतीश कुमार का सरंक्षण (nitish government protecting criminals) हैं। नीतीश कुमार( nitish kumar) के संरक्षण के चलते पुलिस कार्यवाही से बच रही है। अमिताभ कुमार ने पुलिस महानिदेशक को पत्र लिखकर सवाल किया है कि आखिर नीतीश कुमार के आदेश पर डॉक्टर राजीव सिंह की गिरफ्तारी नहीं हो रही, क्या यही सुशासन है? उन्होंने तुरंत डॉक्टर राजीव रंजन की गिरफ्तारी की मांग की है।

वहीं अमिताभ कुमार दास के वायरल पोस्ट ( viral post) के बाद सीएम नीतीश कुमार सवालों में घिरते हुए नजर आ रहे हैं। सवाल उठना भी लाजिमी है कि आखिर बिहार (bihar) में सुशासन के दावे करने वाले नीतीश कुमार आरोपियों को क्यों सरंक्षण दे रहे हैं, और आखिर कानून को राजनीति तले दबाना कहां तक उचित है।

Next Story

विविध