Top stories

Lakhimpur Khiri Update: कोर्ट और पुलिस को ठेंगे पर रख जूनियर टेनी आशीष मिश्रा फरार, यूपी पुलिस ने भेजा कल आने का 'न्योता'

Janjwar Desk
8 Oct 2021 9:40 AM GMT
Lakhimpur Khiri Update: कोर्ट और पुलिस को ठेंगे पर रख जूनियर टेनी आशीष मिश्रा फरार, यूपी पुलिस ने भेजा कल आने का न्योता
x

(मंत्री अजय मिश्र टेनी के घर पर नोटिस लगाती यूपी पुलिस)

आशीष मिश्र को आज, 8 अक्टूबर को क्राइम ब्रांच के सामने पेश होना था... सुबह 10 बजे क्राइम ब्रांच पूछताछ के लिए समन किया गया था... लेकिन खराब स्वास्थ्य का हवाला देकर मंत्री का बेटा क्राइम ब्रांच के सामने पेश नहीं हुआ...

Lakhimpur Khiri News, जनज्वार: उत्तर प्रदेश के लखीमपुर हिंसा के मुख्य आरोपी केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय टेनी के बेटे आशीष मिश्रा को शुक्रवार, 8 अक्टूबर 10 बजे क्राइम ब्रांच के सामने पेश होना था। पर मंत्री के 'राजकुमार' पुलिस के सामने पेश नहीं हुए। आशीष मिश्रा ने यूपी पुलिस के सामने पेश होने के बजाय एक पत्र लिखा है। पुलिस को लिखे पत्र में आशीष मिश्रा ने कहा कि उसका स्वास्थ्य ठीक न होने के कारण वे पुलिस के सामने पेश नहीं हो सकते। आरोपी आशीष मिश्रा ने पुलिस को आने की तारीख बताते हुए लिखा कि वह शनिवार, 9 अक्टूबर को 11 बजे पुलिस के सामने पेश होंगे।

आशीष मिश्र ने पेश होने के बजाय लिखा लेटर

आपको बता दें कि लखीमपुर खीरी में हिंसा के आरोपी आशीष मिश्र को आज यानि शुक्रवार, 8 अक्टूबर को क्राइम ब्रांच के सामने पेश होना था। सुबह 10 बजे क्राइम ब्रांच पूछताछ के लिए आशीष को समन किया गया था। गुरुवार, 7 अक्टूबर को मंत्री अजय मिश्र टेनी के घर पर इसको लेकर नोटिस भी चिपकाया गया था। लेकिन खराब स्वास्थ्य का हवाला देकर मंत्री का बेटा आशीष मिश्रा क्राइम ब्रांच के सामने पेश नहीं हुआ।

सूत्रों की मानें तो केंद्रीय मंत्री अजय मिश्र टेनी का बेटा और लखीमपुर खीरी हिंसा का आरोपी आशीष मिश्रा नेपाल फरार हो गया है। बताया जा रहा है कि आशीष मिश्रा अपने एक दोस्त अंकित दास के साथ नेपाल भाग गया हैं। आशीष मिश्रा के साथ फरार अंकित दास पूर्व कांग्रेसी नेता अखिलेश दास का भतीजा है। पुलिस दोनों की तलाश में जुटी है। अबतक मिली जानकारी के अनुसार, बताया जा रहा है कि मंत्री का बेटा आशीष बार-बार अपना लोकेशन बदल कर पुलिस को चकमा देने की कोशिश कर रहा है।

बार-बार ठिकाना बदल रहा मंत्री का बेटा

वहीं, पुलिस द्वारा आशीष मिश्रा का फोन लोकेशन ट्रेस किया जा रहा है पर वो बार बार अपना ठिकाना बदल रहा है। सूत्रों के हवाले से खबर है की पुलिस की जांच में आशीष मिश्रा का लोकेशन पहले नेपाल था पर शुक्रवार की सुबह से लोकेशन उत्तराखंड के बाजपुर का बताया जा रहा है। उत्तर प्रदेश की पुलिस ने उत्तराखंड और नेपाल की पुलिस से सम्पर्क किया है। पुलिस की जांच में पहली लोकेशन नेपाल थी, जबकि आज सुबह की लोकेशन उत्तराखंड के बाजपुरा की बताई जा रही है। बता दें कि नेपाल से उत्तराखंड के बाजपुर की दूरी महज 500 किलोमिटर है जो चार पहिए वाहन से 12 घंटे के समय में पूरा किया जा सकता है।

मंत्री अजय मिश्र टेनी के बेटे आशीष मिश्रा के फारार होने की अटकलों के बीच मंत्री के एक रिश्तेदार अभिजात मिश्रा ने कहा है कि आशीष मिश्रा जांच में पुलिस का पूरा सहयोग करेंगे। वे शनिवार को वकील के साथ पुलिस के सामने पेश होंगे। रिश्तेदार का कहना है कि आशीष कहीं भागे नहीं हैं।

सुप्रीम कोर्ट ने दिखाई सख्ती

वहीं, सुप्रीम कोर्ट ने यूपी सरकार को पूरे मामले में फटकार लगाते हुए पूछा कि जब मामला 302 का है तो अबतक आशीष मिश्रा की गिरफ्तारी क्यों नहीं हुई? यूपी सरकार के वकील हरीश साल्वे ने उच्चतम न्यायालय से कहा कि आशीष शनिवार, 9 अक्टूबर को 11 बजे तक पेश हो जाएगा। इस पर सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि वह लखीमपुर खीरी हिंसा मामले की जांच में यूपी सरकार द्वारा उठाए गए कदमों से संतुष्ट नहीं है। यूपी सरकार को अपने से यह सुनिश्चित करने के लिए कहा है कि जब तक कोई अन्य एजेंसी इसे संभालती है, तब तक मामले के सबूत सुरक्षित रहें।

CJI एनवी रमना ने सरकारी वकील से पूछा आखिर आप क्या संदेश देना चाहते हैं? 302 के मामले में पुलिस सामान्य तौर पर क्या करती है? सीधा गिरफ्तार ही करते हैं ना! अभियुक्त जो भी हो कानून को अपना काम करना चाहिए।

इस पर वकील हरीश साल्वे ने कहा कि किसानों की पोस्टमार्टम रिपोर्ट में गोली लगने की बात सामने नहीं आई है। हालांकि, कोर्ट में यूपी सरकार ने यह भी बताया कि घटनास्थल से दो खाली कारतूस मिले थे। अभियुक्त आशीष मिश्रा को नोटिस भेजा गया है वो आज आने वाला था। लेकिन उसने कल सुबह तक का टाइम मांगा है। हमने उसे कल शनिवार सुबह 11 बजे तक की मोहलत दी है।

सीजेआई ने पूछा कि जिम्मेदार सरकार और प्रशासन इतने गंभीर आरोपों पर अलग बर्ताव क्यों किया जा रहा है? वहीं, लखीमपुर मामले पर अब दशहरे की छुट्टियों के बाद सुनवाई होगी।

पुलिस ने घर के बाहर चिपकाया दूसरा नोटिस

आशीष मिश्रा के नेपाल भाग जाने के अटकलों के बीच पुलिस ने उसके घर पर आज फिर से एक नोटिस चिपकाया है। नोटिस में आशीष मिश्र को 9 अक्टूबर से 11 अक्टूबर के बीच पेश होने को कहा गया है। इस दौरान पुलिस को आशीष मिश्र घर पर भी नहीं मिला। मंत्री अजय मिश्र टेनी के बेटे आशीष मिश्रा के घर पर सन्नाटा पसरा हुआ है। आशीष मिश्रा के खिलाफ दर्ज एफआईआर में दावा किया गया है कि आशीष मिश्रा ने किसानों पर गोलियां चलाई थीं और वह किसानों को कुचलने वाली कार में भी मौजूद थे।

आपको बता दें कि आशीष मिश्र के खिलाफ लखीमपुर खीरी हिंसा मामले में FIR दर्ज कराई गई है जिसमें दावा किया गया है कि उसने प्रदर्शन कर रहे किसानों पर गोलियां चलाईं थी और किसानों को कुचलने वाली गाड़ी में वह भी मौजूद था। आशीष मिश्रा के खिलाफ आईपीसी की धारा 147, 148, 149, 279, 338, 304-A, 302 और 120-B के तहत केस दर्ज किया गया है।

Next Story

विविध