Up Election 2022

Pilibhit News: Yogi Raj में BJP MLA व प्रधान से खफा मतदाताओं ने टांगा किशनपुरा में बैनर - "रोड नहीं तो वोट नहीं"

Janjwar Desk
26 Jan 2022 2:30 AM GMT
Pilibhit News: Yogi Raj में BJP MLA व प्रधान से खफा मतदाताओं ने टांगा किशनपुरा में बैनर - रोड नहीं तो वोट नहीं
x

किशनपुरा गांव में रोड नहीं तो वोट नहीं का बैनर लेकर चुनाव बहिष्कार का ऐलान करते ग्रामीण

Pilibhit News: जनपद पीलीभीत की सदर विधानसभा के अंतर्गत आने वाले ललौरीखेड़ा विकासखंड के ग्राम पंचायत गौनेरा के मजरा ग्राम किशनपुरा के मतदाताओं ने उत्तर प्रदेश की योगी सरकार के धरातल पर किए गए विकास के दावों की कलई खोल दी।

पीलीभीत से निर्मल कांत शुक्ल की रिपोर्ट

Pilibhit News: जनपद पीलीभीत की सदर विधानसभा के अंतर्गत आने वाले ललौरीखेड़ा विकासखंड के ग्राम पंचायत गौनेरा के मजरा ग्राम किशनपुरा के मतदाताओं ने उत्तर प्रदेश की योगी सरकार के धरातल पर किए गए विकास के दावों की कलई खोल दी। सदर विधायक संजय सिंह गंगवार व ग्राम प्रधान चूड़ामणि गंगवार से खफा ग्रामीणों ने "रोड नहीं तो वोट नहीं" का स्लोगन लिखा बैनर लगाकर 2022 के विधानसभा चुनाव में मतदान के बहिष्कार का ऐलान कर दिया। ग्रामीणों ने अपनी मांग को लेकर जनप्रतिनिधियों और जिला प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी कर गुस्से का भी इजहार किया।

यह है पूरा मामला

सदर विधानसभा क्षेत्र के ग्राम गौनेरा से गौनेरी दान तक 18 साल पहले जो खड़ंजा डाला गया था, वह अब खस्ताहाल हैं। बारिश के समय में कीचड़ और पानी से भर जाता है, जिसमें सभी ग्रामवासियों को निकलने में भारी परेशानियों का सामना करना पड़ता है। ग्रामीणों ने जिला प्रशासन और जनप्रतिनिधियों से कई बार शिकायत की, मगर कोई कार्रवाई नहीं हुई। ग्रामवासी जिला प्रशासन और जनप्रतिनिधियों से बेहद नाराज हैं। ग्रामीणों ने अब "रोड नहीं तो वोट नहीं" का बैनर छपवाकर विधानसभा चुनाव 2022 का बहिष्कार करने की घोषणा की है।

किशनपुरा गांव में जनप्रतिनिधियों व प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी कर प्रदर्शन करते ग्रामीण।

जनप्रतिनिधियों और प्रशासन के खिलाफ प्रदर्शन

किशनपुरा गांव के ग्रामीण लगातार हो रही उपेक्षा से भड़के हुए हैं। ग्रामीण हर रोज गांव में घूम घूम कर नारेबाजी करते हुए जनप्रतिनिधियों और प्रशासन के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे हैं। बावजूद इसके अभी तक किसी भी राजनीतिक दल के प्रत्याशी और ना ही किसी अधिकारी ने किशनपुरा गांव में पहुंचकर इन ग्रामीणों की सुध ली है।

प्रधान जी तो सिर्फ वोट मांगने आते : सुशीला

गांव की सुशीला देवी का कहना है कि सड़क ना होने की वजह से बच्चे पढ़ने जाने को परेशान हो रहे है। गांव में बच्चे अनपढ़ रह जा रहे हैं। सरकार की तरफ से जो भी योजनाएं आती हैं, उसका कोई लाभ उनके गांव के लोगों को नहीं मिलता है। गांव में नाली, सड़क, स्वच्छ पानी आदि कोई सुविधा नहीं है। सफाई कर्मचारी आता नहीं है। ग्राम प्रधान चूड़ामणि गंगवार सिर्फ अपना काम पड़ने पर आते हैं या फिर वोट मांगने आते हैं।

किशनपुरा गांव में टूटी पड़ी नाली और उखड़ा पड़ा खड़ंजा।

हमारा घर तो अभी भी खपरैल का : मुन्नी देवी

किशनपुरा गांव की मुन्नी देवी का कहना है कि गरीबों को कोई आवास नहीं दिए गए। जिन पर जमीनें हैं, उनको ही आवास दे दिए गए। हमारे घर में आज भी खपरैल पड़ी है। कहीं कोई सुनवाई होती ही नहीं है।

सफाई कर्मी आता नहीं, धमकाता है : राम अवतार

गौनेरा गांव के राम अवतार का कहना है कि भाजपा के संजय सिंह गंगवार क्षेत्र के विधायक हैं। गांव का रास्ता खराब है। मदनलाल नाम का जो सफाई कर्मचारी गांव का है, वह सफाई कार्य नहीं करता है बल्कि उल्टा ग्रामीणों को धमकाता है कि हमारा जो चाहें कर लेना। सफाई कर्मचारी कभी भी गांव में नहीं आता है।

गांव में शौचालय तक नहीं : रामदेई

किशनपुरा गांव की बुजुर्ग महिला रामदेई का कहना है कि गांव में रास्ता नहीं है। नालियों की दशा खराब है। गांव में शौचालय तक नहीं हैं। स्वच्छ पेयजल वाले हैंडपंप खराब पड़े हैं। सबसे अहम रोड की समस्या है। इसीलिए इस बार सबने तय कर लिया है कि रोड नहीं तो वोट नहीं। हम लोग वोट डालने नहीं जाएंगे और मतदान का बहिष्कार करेंगे।

Next Story

विविध