Up Election 2022

UP Election 2022: छठे चरण में 54 फीसदी वोटिंग, जानें किस जिले में कितना हुआ मतदान, योगी की सीट पर क्या हुआ?

Janjwar Desk
3 March 2022 5:15 PM GMT
UP Election 2022: छठे चरण में 54 फीसदी वोटिंग, जानें किस जिले में कितना हुआ मतदान, योगी की सीट पर क्या हुआ?
x

UP Election 2022: छठे चरण में 54 फीसदी वोटिंग, जानें किस जिले में कितना हुआ मतदान, योगी की सीट पर क्या हुआ?

UP Election 2022: उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के छठे चरण में गुरुवार को 55 प्रतिशत से अधिक मतदान दर्ज किया गया। इस चरण में 10 जिलों की 57 सीटों के लिए 676 उम्मीदवारों में प्रमुख चेहरों में गोरखपुर शहरी से मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और तमकुही राज से प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू शामिल हैं।

UP Election 2022: उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के छठे चरण में गुरुवार को 55 प्रतिशत से अधिक मतदान दर्ज किया गया। इस चरण में 10 जिलों की 57 सीटों के लिए 676 उम्मीदवारों में प्रमुख चेहरों में गोरखपुर शहरी से मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और तमकुही राज से प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू शामिल हैं। शाम सात बजे तक के अस्थायी आंकड़ों के अनुसार, 55.79 प्रतिशत मतदान दर्ज किया गया। 2017 के विधानसभा चुनाव में इन 57 सीटों पर 56.47 फीसदी मतदान हुआ था। इस चरण में जिन मंत्रियों की चुनावी किस्मत वोटिंग मशीनों में सील कर दी गई, उनमें पाथरदेव से सूर्य प्रताप शाही, इटवा से सतीश चंद्र द्विवेदी, बंसी से जय प्रताप सिंह, खजानी से श्री राम चौहान और रुद्रपुर से जय प्रकाश निषाद शामिल हैं।

अधिकारियों ने कहा कि अंतिम मिलान चुनाव अधिकारियों द्वारा बाद में जारी किया जाएगा। इसके साथ ही कुल 403 विधानसभा सीटों में से 349 पर वोटिंग हो चुकी है। शेष 54 सीटों पर अंतिम चरण का मतदान सात मार्च को होगा। इस चरण में लगभग 2.15 करोड़ लोग मतदान करने के पात्र थे। मतदान सुबह सात बजे शुरू हुआ और शाम छह बजे तक चला।

गुरुवार को जिन जिलों में मतदान हुआ, उनमें अंबेडकरनगर, बलरामपुर, सिद्धार्थ नगर, बस्ती, संत कबीर नगर, महाराजगंज, गोरखपुर, कुशीनगर, देवरिया और बलिया शामिल हैं। 2017 के विधानसभा चुनाव में बीजेपी ने 57 में से 46 सीटों पर जीत हासिल की थी। भारत निर्वाचन आयोग के अनुसार, शाम 5 बजे तक लगभग 53.31 प्रतिशत मतदान हुआ था। अतिरिक्त मुख्य चुनाव अधिकारी (एसीईओ) बीडीआर तिवारी ने कहा कि राज्य में मतदान शांतिपूर्ण ढंग से संपन्न हुआ।

गृह विभाग के अनुसार अम्बेडकरनगर में 62.66 प्रतिशत, बलिया में 52.01 प्रतिशत, बलरामपुर में 48.90 प्रतिशत, बस्ती में 57.20 प्रतिशत, देवरिया में 56 प्रतिशत, गोरखपुर में 58.89 प्रतिशत, कुशीनगर में 59 प्रतिशत, महराजगंज में 59.5 प्रतिशत, संत ने मतदान किया। शाम 7 बजे तक प्राप्त रिपोर्ट के अनुसार कबीर नगर 52.20 प्रतिशत व सिद्धार्थ नगर 51.60 प्रतिशत मतदान हुआ।

सुबह वोट डालने वालों में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, बेसिक शिक्षा मंत्री सतीश द्विवेदी, विपक्ष के नेता राम गोविंद चौधरी, सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के अध्यक्ष ओम प्रकाश राजभर, मंत्री उपेंद्र तिवारी और पूर्व मंत्री नारद राय शामिल थे। वोट डालने के बाद पत्रकारों से बातचीत करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि बीजेपी को 80 फीसदी वोट मिलेंगे और बाकी 20 फीसदी विपक्ष में बंट जाएंगे। समाजवादी पार्टी ने भाजपा के पूर्व नेता दिवंगत उपेंद्र दत्त शुक्ला की पत्नी को आदित्यनाथ के खिलाफ खड़ा किया। आजाद समाज पार्टी के संस्थापक चंद्रशेखर आजाद ने भी गोरखपुर सीट से मुख्यमंत्री के खिलाफ चुनाव लड़ा था।

स्वामी प्रसाद मौर्य, जो आदित्यनाथ सरकार में मंत्री थे और समाजवादी पार्टी में शामिल होने के लिए भाजपा छोड़ चुके थे, ने फाजिलनगर से चुनाव लड़ा, जहां गुरुवार को मतदान हुआ था, इसके अलावा राज्य विधानसभा में विपक्ष के नेता और समाजवादी पार्टी के नेता राम गोविंद चौधरी बांसडीह से भी चुनाव लड़ा था।

इस चरण के प्रचार में राजनीतिक दलों ने एक-दूसरे के खिलाफ चौतरफा हमले किए। प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने भाजपा के प्रतिद्वंद्वियों पर उन्हें वंशवादी के रूप में टैग करके हमला किया, जिन्होंने दावा किया कि वे भारत को कभी भी सक्षम या उत्तर प्रदेश को सशक्त नहीं बना सकते हैं और कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने यह कहते हुए खंडन किया था कि भाजपा केवल उनके परिवार के खिलाफ है, जो इससे पहले कभी झुके नहीं। समाजवादी पार्टी के प्रमुख अखिलेश यादव ने अपने चुनावी प्रचार में भाजपा पर आरक्षण खत्म करने और सरकारी संस्थाओं को निजी क्षेत्र को ''बेचने'' की साजिश रचने का आरोप लगाया था।

Next Story

विविध