Up Election 2022

UP Election 2022 : BJP कार्यकर्ता की चेतावनी, उन्नाव में भाजपा विधायक का टिकट न कटा तो 26 जनवरी को कर लूंगा आत्मदाह

Janjwar Desk
24 Jan 2022 6:42 AM GMT
UP Election 2022 : BJP कार्यकर्ता की चेतावनी, उन्नाव में भाजपा विधायक का टिकट न कटा तो 26 जनवरी को कर लूंगा आत्मदाह
x

(भाजपा कार्यकर्ता राजन महाराज ने दी आत्मदाह की चेतावनी)

UP Election 2022 : भाजपा कार्यकर्ता (BJP Worker) का कहना है कि यदि विधायक ब्रजेश रावत का टिकट न कटा तो 26 जनवरी को विधानसभा के सामने आत्मदाह कर लेंगे....

UP Election 2022 : उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनाव (UP Election 2022) के लिए बेहद कम दिन बचे हैं ऐसे में सभी पार्टियां अपने-अपने उम्मीदवारों की सूची फाइनल करने के दौर में हैं। उन्नाव में भारतीय जनता पार्टी (BJP) ने विधानसभा 164 से विधायक ब्रजेश रावत को फिर से उम्मीदवार बनाया है। ब्रजेश रावत (Brajesh Rawat) को दोबारा टिकट मिलने पर अब उनकी ही पार्टी के कार्यकर्ता विरोध पर उतर आए हैं। उसी विधानसभा क्षेत्र के भाजपा कार्यकर्ता राजन महाराज ने इन प र सपा की मानसिकता का आरोप लगाकर पार्टी से टिकट काटने की अपील की है।

भाजपा कार्यकर्ता (BJP Worker) का कहना है कि यदि विधायक ब्रजेश रावत का टिकट न कटा तो 26 जनवरी को विधानसभा के सामने आत्मदाह कर लूंगा। आत्मदाह की चेतावनी का वीडियो भी वायरल हो रहा है। राजन महाराज ने आरोप ल गाया कि विधायक ने पिछले चार साल से समाजवादी पार्टी की मानसिकता से कार्य किया। भाजपा के जितने भी कार्यकर्ता हैं, वह इनसे उपेक्षित रहे हैं।

राजन महाराज ने कहा, मैं भाजपा का वरिष्ठ कार्यकर्ता हूं। अगर विधायक ब्रजेश रावत का टिकट राष्ट्रीय अध्यक्ष ने नहीं चेंज किया तो आने वाली 26 जनवरी को मैं विधानसभा के सामने आत्मदाह करूंगा। मैं वरिष्ठ कार्यकर्ता होने के नाते राष्ट्रीय अध्यक्ष से अनुरोध करता हूं कि हम कार्यकर्ताओं की अपेक्षा को ध्यान में रखते हुए यहां का टिकट किसी और को दे दिया जाए। मोहन विधानसभा के कार्यकर्ता उसे जिताने का काम करेंगे।

वहीं दूसरी ओर संभल की चंदौसी विधानसभा क्षेत्र के सपा नेता सतीश प्रेमी टिकट न मिलने पर फफक-फफक कर रो पड़े। उनका वीडियो भी वायरल हो रहा है। उन्होंने अपनी पार्टी पर आरोप लगाए कि मैं जिस पार्टी में ईमानदारी से रहा, उसमें पैसे की कदर थी और अय्याशी के संसाधनों की कदर थी लेकिन मैंने जीवनभर न ही अय्याशी के संसाधन इकट्ठा किए और न ही पैसा कमाया। इसलिए मेरा टिकट काट दिया गया।

सतीश प्रेमी चंदौसी सीट से टिकट की दावेदारी काफी लंबे समय से कर रहे थे। चंदौसी सीट से विमलेश कुमारी, सतीश प्रेमी और बलवंत सिंह तीनों टिकट लेने को लेकर अपनी-अपनी दावेदारी करने लगे थे। रविवार को सपा ने चंदौसी सीट से विमलेश कुमारी को प्रत्याशी घोषित कर दिया।

Next Story

विविध