Up Election 2022

UP Election 2022 Result : हार-जीत एक सिक्के के दो पहलू, राजनीति में कोई अमर नहीं, स्वामी प्रसाद मौर्य की हार पर बोलीं संघमित्रा

Janjwar Desk
11 March 2022 8:58 AM GMT
UP Election 2022 Result : हार-जीत एक सिक्के के दो पहलू, राजनीति में कोई अमर नहीं, स्वामी प्रसाद मौर्य की हार पर बोलीं संघमित्रा
x

हार-जीत एक सिक्के के दो पहलू, राजनीति में कोई अमर नहीं, स्वामी प्रसाद मौर्य की हार पर बोलीं संघमित्रा

UP Election 2022 Result : बीजेपी सांसद संघमित्रा मौर्य (Sanghmitra Maurya) ने अब योगी आदित्यनाथ की जीत और अपने पिता स्वामी प्रसाद मौर्य की हार पर रिएक्शन दिया है, संघमित्रा मौर्य ने हार और जीत को एक ही सिक्के के दो पहलू बताया है और कहा है कि राजनीति में कोई अमर नहीं है...

UP Election 2022 Result : उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव (UP Election 2022) में जहां भारतीय (BJP) को प्रचंड बहुमत मिला हैं और वो इस बार फिर उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) में सरकार बनाने जा रही हैं| वहीं चुनाव से ठीक पहले योगी सरकार से इस्तीफा देकर सपा के पार्टी में शामिल हुए स्वामी प्रसाद मौर्य (Swami Prasad Maurya) को इस बार करारी हार का सामना करना पड़ा है| स्वामी प्रसाद मौर्य की बेटी और बीजेपी सांसद संघमित्रा मौर्य (Sanghmitra Maurya) ने अब योगी आदित्यनाथ की जीत और अपने पिता स्वामी प्रसाद मौर्य की हार पर रिएक्शन दिया है| बता दें कि संघमित्रा मौर्य ने हार और जीत को एक ही सिक्के के दो पहलू बताया है और कहा है कि राजनीति में कोई अमर नहीं है|

स्वामी प्रसाद की हार पर ये बोलीं संघमित्रा

बता दें कि संघमित्रा मौर्य ने एक न्यूज चैनल से बातचीत करते हुए कहा है कि 'राजनीति में जीत हार एक ही सिक्के के दो पहलू हैं। ऐसा नहीं है कि हार के बाद जीत नहीं और जीत के बाद हार नहीं होती। मैं खुद आज सांसद हूं, लेकिन इससे पहले दो बार हार चुकी हूं। संघर्ष करके यहां आई हूं। यह दौर सबके साथ आता है। कोई राजनीति में अमृत पीकर नहीं आया है, कि आ गया तो अमर हो गया।'

भाजपा की जीत पर संघमित्रा की प्रतिक्रिया

बता दें कि चुनाव से ठीक पहले स्वामी प्रसाद मौर्य और भाजपा प्रत्याशी के समर्थकों में झगड़े के बाद पिता को जितवाने की अपील कर चुकीं संघमित्रा मौर्य से जब पूछा गया कि क्या वह भाजपा की जीत से खुश हैं तो उन्होंने जवाब दिया कि 'बिलकुल, जनता जिसको अपना आशीर्वाद देगी, जनता जो चाहेगी वही होगा| जो जनता की बात नहीं मानेगा उसे जनता बाहर कर देगी। जनता को निर्णय मान्य है। आज प्रचंड बहुमत से सरकार बनी है वह पहले से तय था। मोदी जी की योजनाएं जो गांव, गांव घर-घर पहुंची हैं, उसका लाभ मिलने यह सबको पता था।

जनता का फैसला स्वीकार

बता दें कि जब संघमित्रा से पूछा गया कि सपा प्रत्याशी स्वामी प्रसाद मौर्य की हार से दुखी हैं तो इस पर संघमित्रा ने कहा कि 'मैं ने पहले ही कहा कि हार और जीत एक ही सिक्के के दो पहलू हैं। मैं खुद दो बार हार चुकी हूं। मैं ही क्या पिता जी ने भी लंबा संघर्ष किया है। हार का मुंह देखा है। संघर्ष के सफर में हमने दोनों पहलू देखा है, जनता का फैसला हृदय से स्वीकार करते हैं|'

Next Story

विविध