Up Election 2022

Uttarakhand Election 2022 : खण्डूरी अब नहीं रहे जरूरी, प्रत्याशियों की सूची से कटा पुत्री ऋतु का नाम

Janjwar Desk
20 Jan 2022 10:23 AM GMT
Uttarakhand Election 2022 : खण्डूरी अब नहीं रहे जरूरी, प्रत्याशियों की सूची से कटा पुत्री ऋतु का नाम
x
Uttarakhand Election 2022 : पूर्व मुख्यमंत्री भुवन चन्द्र खण्डूरी की विधायक पुत्री ऋतु खण्डूरी का पत्ता साफ कर दिया है, कभी "खण्डूरी है जरूरी" बताने वाली भाजपा ने अब बदली परिस्थितियों में खण्डूरी परिवार से पल्ला झाड़ लिया है....

Uttarakhand Election 2022 : विधानसभा चुनाव के लिए जारी प्रत्याशियों की सूची (BJP Candidatest List) में भारतीय जनता पार्टी (BJP) में अपने पूर्व मुख्यमंत्री भुवन चन्द्र खण्डूरी (Bhuvan Chandra Khanduri) की विधायक पुत्री ऋतु खण्डूरी का पत्ता साफ कर दिया है। कभी "खण्डूरी है जरूरी" बताने वाली भाजपा ने अब बदली परिस्थितियों में खण्डूरी परिवार से पल्ला झाड़ लिया है। यमकेश्वर विधानसभा सीट से रेणु बिष्ट को टिकट दे दिया गया है। उन्हें यह टिकट यूपी मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की रिश्तेदार होने के कारण मिला है।

बलात्कार और एक बच्चे के पिता होने के आरोपी रहे द्वाराहाट विधायक महेश नेगी (Mahesh Negi) से भी पार्टी ने अपना पिंड छुड़ाते हुए यहां अनिल शाही को अपना प्रत्याशी बनाया है। खानपुर से विधायक रहे कुंवर प्रणव चैंपियन (Kunwar Pranab Singh Champion) को उनकी हल्के स्तर की बयानबाजी व ओछी हरकतों के कारण घर बैठने की सलाह देते हुए हरीश रावत (Harish Rawat) सरकार से बगावत कर भाजपा को ताक़त देने के लिए आभार स्वरूप उनकी जगह उनकी पत्नी देवयानी को खानपुर से टिकट दिया गया है।

हाल ही में केवल टिकट के लिए पाला बदलने वाली महिला कांग्रेस की प्रदेश अध्यक्ष सरिता आर्य (Sarita Arya) की मुराद भाजपा ने पूरी की है। नैनीताल से वह अब पार्टी की प्रत्याशी हैं। कार्यकर्ताओं के विरोध के बावजूद सल्ट से महेश जीना टिकट लपकने में सफल रहे हैं। दिवंगत विधानसभा अध्यक्ष हरबंस कपूर (Harbansh Kapoor) के परिवार से सविता कपूर को देहरादून कैंट से टिकट मिला है। अकाली दल नेता हरभजन सिंह चीमा जो पिछले चुनाव में भाजपा चुनाव चिन्ह पर लड़कर विधायक बने थे, को अधिक उम्र की वजह से टिकट न देकर उनके पुत्र त्रिलोक सिंह चीमा को प्रत्याशी बनाया गया है।

सतपाल महाराज (Satpal Maharaj) जो दूसरी जगह पलटी मारने की सोच रहे थे, उन्हें पार्टी ने चौबट्टाखाल से ही दोबारा टिकट दिया है। कालाढूंगी व रामनगर से क्रमशः बंशीधर भगत व दिवान सिंह बिष्ट पर पार्टी ने फिर भरोसा जताया है। फायरब्रांड व अपने समर्थकों से खुद को हिन्दू ह्रदय सम्राट कहलवाने वाले रुद्रपुर विधायक राजकुमार ठुकराल के टिकट की घोषणा इस सूची में नहीं कि गयी है। उनकी बयानबाजी उन पर भारी पड़ गयी है। ठुकराल शिव अरोरा से कड़े मुकाबले में उन्नीस पड़ रहे हैं। इसके अलावा बाकी अन्य सीटों पर पार्टी ने कोई उल्लेखनीय परिवर्तन नहीं किया है। अमूमन वही चेहरे रिपीट किये गए हैं।

बड़े नेताओं में मुख्यमंत्री पुष्कर धामी खटीमा से तो प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक हरिद्वार से ही प्रत्याशी बनाये गए हैं। भाजपा से निष्कासित हरक सिंह रावत (Harak Singh Rawat) की कोटद्वार सीट को पार्टी ने होल्ड ऑन किया है। यहां पर कल ही पार्टी में शामिल हुए दिवंगत सीडीएस विपिन रावत के भाई विजय रावत को प्रत्याशी बनाये जाने की बात चल रही है।

फिलहाल पार्टी ने जारी पहली सूची में 59 विधानसभा सीटों पर उम्मीदवारों की घोषणा की है। शेष बची 11 विधानसभा सीटों के लिए भी जल्द उम्मीदवारों की दूसरी सूची जारी कर दी जाएगी।

Next Story