दुनिया

Britain : लिवरपुल शहर में आतंकी घटना से ठीक पहले कैब ड्राइवर का काम सलाम करने वाला, जान जोखिम में डाल बचाई कईयों की जान

Janjwar Desk
18 Nov 2021 6:46 AM GMT
Britain : लिवरपुल शहर में आतंकी घटना से ठीक पहले कैब ड्राइवर का काम सलाम करने वाला, जान जोखिम में डाल बचाई कईयों की जान
x
लिवरपुल शहर के लोगों का कहना है कि आतंकी घटना को अंजाम देने आए आत्मघाती हमलावर को अगर कैब ड्राइवर ने गाड़ी के अंदर बंद न किया गया होता तो वहां सैकड़ों लोगों की मौत हो जाती।

Britain : यूनाइटेड किंगडम के लिवरपुल शहर में रविवार को एक चौंकाने वाली घटना सामने आई। इस घटना के बाद से लोग कैब ड्राइवर के मुरीद हो गए हैं। दरअसल, कैब ड्राइवर ने एक साहसपूर्ण घटनाक्रम में सैकड़ों लोगों की जान लेने के इरादे से आए एक संदिग्ध आतंकी को अपनी गाड़ी में लॉक कर बाहर निकल आया। इसके बाद आतंकी ने विस्फोट कर खुद को उड़ा दिया। इस घटना में हालांकि ड्राइवर भी बुरी तरह घायल हो गया, लेकिन उसने सैकड़ों लोगों की जान बचा ली।

आतंकी घटना से ठीक पहले ड्राइवर की समझदारी और साहसपूर्ण काम की काफी तारीफ कर रहे हैं। लिवरपुल के लोगों का कहना है कि आतंकी घटना को अंजाम देने आए आत्मघाती हमलावर को अगर गाड़ी के अंदर बंद न किया गया होता तो वहां सैकड़ों लोगों की मौत हो जाती।

आत्मघाती हमलावर ने महिला अस्पताल पर रुकने के लिए क्यों कहा?

गाड़ी में मारा गया आतंकी आत्मघाती आतंकी था। बताया जा रहा है कि संदिग्ध आतंकी ने पहले ड्राइवर डेविड पेरी से लिवरपूल एंग्लिकन कैथेड्रल चलने के लिए कहा, वहां रिमेम्ब्रेंस डे सर्विस के तहत हजारों लोग मौजूद थे, लेकिन बाद में उसने उसे महिला अस्पताल के पास रुकने के लिए कहा। ड्राइवर डेविड को उसकी हरकतें संदिग्ध लगीं। उसने देखा कि वह कुछ गलत कर रहा है। उसके कपड़ों से रोशनी जैसी कुछ दिख रही है और वह उससे कुछ हरकत कर रहा है। इस पर ड्राइवर डेविड पेरी ने बुद्धिमानी से काम लेते हुए उसको कार के अंदर लॉक करके खुद बाहर निकल आया।

कैब ड्राइवर जैसे बाहर निकला गाड़ी में जोरदार धमाके के साथ विस्फोट हुआ और आग लग गई। ड्राइवर अगर गाड़ी से बाहर निकलने में एक सेकेंड भी देर करता तो उसकी भी मौत हो जाती। आत्मघाती विस्फोट सुबह 10 बजकर 59 मिनट की है। ठीक 11 बजे रिमेम्ब्रेंस डे सर्विस के तहत वहां मौन कार्यक्रम होना था, जिसमें हजारों लोग मौजूद थे। अगर ड्राइवर आतंकी के कहे के मुताबिक उसे वहां लेकर पहुंच जाता तो कल्पना कीजिए कि यह कितनी बड़ी मानवीय त्रासदी के रूप में सामने आता।

लिवरपुल के लोग बोले - डेविड पेरी हमारा हीरो है

घटना के बाद स्थानीय लोगों ने ड्राइवर डेविड पेरी की प्रशंसा करते हुए उसकी मदद के लिए फंड एकत्र किए। वहां के टैक्सी और कैब ड्राइवरों ने अपने साथी के इस कार्य पर खुशी जताई है और कहा है कि उसने हम सबकी जान बचाई है, वह हमारा हीरो है।

गिरफ्तार चार संदिग्ध रिहा

आतंकवाद रोधी अभियान के लिए वरिष्ठ जांच अधिकारी डिटेक्टिव चीफ इंस्पेक्टर एंड्रयू मीक्स ने कहा कि इस मामले में अभी पूछताछ जारी है। जांच के इस स्तर पर हम मानते हैं कि मृतक 32 वर्षीय इमाद अल स्वीलमीन है। अल स्वीलमीन रटलैंड एवेन्यू और सटक्लिफ स्ट्रीट दोनों पते से जुड़ा है, जहां तलाशी की जा रही है। हमारा विश्वास है कि वह कुछ समय सटक्लिफ स्ट्रीट पर रहा और हाल में वह रटलैंड एवेन्यू आ गया था। हमारा ध्यान रटलैंड एवेन्यू वाले पते पर है जहां हमें अहम चीजें मिलती जा रही हैं। उन्होंने लोगों से इस संबंध में और जानकारियां पुलिस को देने की अपील की। इस बीच इस विस्फोट मामले में गिरफ्तार किए गए चार व्यक्तियों को पूछताछ के बाद रिहा कर दिया गया है। तीन व्यक्तियों को सटक्लीफ स्ट्रीट वाले मकान से गिरफ्तार किया गया था। वे क्रमश: 29, 26 और 21 साल के हैं। चौथे को लीवरपूल के केसिंग्टन इलाके से हिरासत में लिया गया था।

Next Story

विविध

Share it