दुनिया

Russia-Ukraine War : रूसी हमलों से यूक्रेन के इस खूबसूरत शहर का मिटा नामोनिशान, मलबे में तब्दील हुआ इन्फ्रास्ट्रक्चर

Janjwar Desk
14 March 2022 9:20 AM GMT
Russia-Ukraine War : रूसी हमलों से यूक्रेन के इस खूबसूरत शहर का मिटा नामोनिशान, मलबे में तब्दील हुआ इन्फ्रास्ट्रक्चर
x

रूसी हमलों से यूक्रेन के इस खूबसूरत शहर का मिटा नामोनिशान, मलबे में तब्दील हुआ इन्फ्रास्ट्रक्चर

Russia-Ukraine War : रूसी सेना की ओर से 19वें दिन भी यूक्रेन में हमले जारी हैं। 19 शहरों में रेड अलर्ट जारी किया गया है, इन हमलों में वोल्नोवखा शहर का नामोनिशान मिट गया है....

Russia-Ukraine War : रूस के हमले शुरू होने के बाद 19वें दिन भी भीषण गोलीबारी जारी है। रूस की ओर से जारी हमले में कई शहर छलनी हो गए। सबसे ज्यादा नुकसान पूर्वी यूक्रेन (Ukraine) में हुआ है। ऐसा ही एक शहर वोल्नोवखा है जो पिछले पंद्रह दिनों के भीतर पूरी तरह से बर्बाद हो गया है। हमले अब भी नहीं रुके हैं। रूसी हमलों की तीव्रता देखते हुए यूक्रेन के 19 शहरों में रेड अलर्ट जारी किया गया है। वोल्नोवखा के स्थानीय गवर्नर का कहना है कि रूसी हमले (Russian Attack) से शहर का नामोनिशान मिट गया है। कोई इन्फ्रास्ट्रक्चर नहीं बचा है।

वोल्नोवखा (Volnovakha) में फंसे आम लोगों के पास न तो पीने का पानी है और न ही बिजली आ रही है। कड़ाके की सर्दी की मार अलग से पड़ रही है। लोग खुद को बचाने के लिए कई कोने में आग जला रहे हैं और पानी गर्म कर रहे हैं। इस शहर की आबादी करीब 21000 है। लेकिन अब यह शहर पूरी तरह से मलबे तब्दील हो चुका है। हवाई हमले और जमीन पर गोलीबारी ने इस शहर को बुरी तरह से छलनी किया है। यहां के लोग सोशल मीडिया पर तबाही की तस्वीरों साझा कर रहे हैं।

वायरल तस्वीरों और वीडियोज में शहर में रूसी सैनिक और बख्तरबंद गाड़ियां ही नजर आ रही हैं और आसपास की इमारतें आग की लपटों में घिरी हुई नजर आ रही हैं। यहां के ज्यादातर लोग घर छोड़कर भाग गए हैं लेकिन बीमार लोगों के साथ-साथ कुछ लोग अब भी बंकरों में छिपकर रह रहे हैं।

यूक्रेन की राजधानी कीव से करीब पचास किलमीटर की दूरी पर बेरीशिवका गांव हैं जहां बमबारी से भारी नुकसान हुआ। एक पुराना सिनेमा हॉल पूरी तरह से नष्ट हो गया है। बमबारी इतनी तेज हो रही है कि इलाके की खिड़कियों के शीशे टूट गए हैं और दरवाजे चकनाचूर हो गए हैं। यूक्रेन के लोग जान बचाकर पड़ोसी देशों पोलैंड, रोमानिया आदि में शरण ले रहे हैं।

रूस की ओर से जारी हमलों के बीच यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोदिमीर जेलेंस्की नाटो नेताओं से देश पर नो फ्लाई जोन घोषित करने का अनुरोध कर चुके हैं। अमेरिका और पश्चिमी देशों का कहना है कि इससे युद्ध में परमाणु टकराव का खतरा पैदा हो सकता है। जेलेंस्की ने नाटो देशों से अनुरोध करते हुए कहा कि कुछ समय की बात है और रूसी मिसाइलें आपके क्षेत्र पर भी गिरेंगी। नाटों देशों के नागरिकों के घरों पर भी गिरेंगी।

Next Story

विविध