दुनिया

Russia Ukraine War Updates : पहली बार अमेरिका ने भारत-रूस के रिश्तों को लेकर दिखाई समझदारी, दिया ये बयान

Janjwar Desk
26 Feb 2022 9:36 AM GMT
Russia Ukraine War Updates : पहली बार अमेरिका ने भारत-रूस के रिश्तों को लेकर दिखाई समझदारी, दिया ये बयान
x

भारत के रूस के साथ संबंध उन संबंधों से अलग हैं जो हमारे और रूस के बीच हैं।

Russia-Ukraine War Updates : अमेरिकी विदेश विभाग के प्रवक्ता नेड प्राइस ने कहा है कि भारत के साथ हमारे अहम हित जुड़े हुए हैं। हम जानते हैं कि भारत के रूस के साथ संबंध उन संबंधों से अलग हैं जो हमारे और रूस के बीच हैं।

Russia-Ukraine War Updates : पिछले कुछ वर्षों के दौरान अमेरिका और भारत ( India ) के बीच संबंधों में तेजी से सुधार देखने को मिला है। अब उसका असर भी दिखने लगा है। ऐसा इसलिए कि अभी तक अमेरिका *( America ) भारत को अंतरराष्ट्रीय मुद्दों पर नसीहत देता आया है। यही वजह है कि जब भी उसका रूस ( Russia ) सहित अन्य देशों से मतभेद हुआ, तो उसने भारतीय स्टैंड को समझने का प्रयास नहीं किया। पहली बार अमेरिका ने ऐसा बयान दिया है जिससे लगता है कि उसे भारत के अन्य देशों के साथ रिश्तों की गहराई को समझने का प्रयास किया है।

अमेरिका रूस के साथ एस-400 और भारत-ईरान संबंधों को लेकर ऐतराज जताता आया है। नतीजा यह निकला कि भारत अमेरिका के सामने नहीं झुका। इसी तरह अमेरिका पाकिस्तान को लेकर भी दशकों से नसीहत देता आता रहा है। क्लाइमेट चेंज, विश्व शांति व और क्षेत्रीय प्रभाव पर भी भारतीयों हितों की उपेक्षा करता रहा है। अमेरिका के एक पक्षीय नजरिए की वजह से अभी तक भारत अमेरिका के बीच संबंध उतने गहरे नहीं हुए जितना रूस के साथ हमारे रिश्ते मजबूत हैं। जबकि कई मुद्दों पर भारत और रूस के बीच मतभेद हैं।

फिलहाल, अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन ( Joe Biden ) प्रशासन ने कहा कि भारत के रूस के साथ संबंध (India-Russia Relations), अमेरिका और रूस के बीच संबंधों (US-Russia Relations) से अलहदा हैं। इसमें परेशानी की कोई बात नहीं है। अमेरिका ने साथ ही कहा कि उसने रूस के साथ संबंध रखने वाले हर देश से नियम आधारित अंतरराष्ट्रीय व्यवस्था को सुरक्षित रखने में अपने प्रभाव का इस्तेमाल करने को कहा है।

मेरिकी विदेश विभाग के प्रवक्ता नेड प्राइस ने कहा कि भारत के साथ अमेरिका के अहम हित और मूल्य जुड़े हुए हैं। हम भारत के साथ अहम मूल्य साझा करते हैं। हमें इस बात का भी अहसास है कि भारत के रूस के साथ संबंध उन संबंधों से अलग हैं जो हमारे और रूस के बीच हैं। इसलिए रूस-यूक्रेन युद्ध को लेकर भारतीय स्टैंड से हमें कोई परेशानी नहीं है।

नेड प्राइस ने एक सवाल के जवाब में कहा है कि भारत के रूस के साथ मजबूत रिश्ते हैं, वैसे संबंध अमेरिका-रूस के बीच नहीं हैं। भारत और रूस के बीच रक्षा और सुरक्षा के क्षेत्र में संबंध हैं,जो हमरे बीच नहीं हैं। हमने सभी देशों से कहा है कि जिनके संबंध हैं और जो लाभ ले सकते हैं, वे उसका इस्तेमाल रचनात्मक तरीके से करें। विदेश् विभाग प्रवक्ता नेड प्राइस ने कहा कि अमेरिका की भारत के साथ व्यापक रणनीतिक साझेदारी है। हम उस पर अटल हैं।

Russia-Ukraine War Updates : बता दें कि रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने पूर्वी यूक्रेन में विशेष सैन्य अभियान की घोषणा की थी और उसके बाद से दोनों देशों के बीच हमले जारी है। इस हमलों के लिए रूस की चौतरफा आलोचना हो रही है। इस बीच अमेरिका सहित कई देशों ने रूस पर प्रतिबंध लगाए हैं। इस बीच संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद ( United Nation Security Council ) में रूस के खिलाफ लाए गए प्रस्ताव के पक्ष में तमाम देशों ने वोटिंग की, लेकिन भारत ( India ) ने खुद को वोटिंग से बाहर रखा। इससे पहले भारत के स्थायी प्रतिनिधि ( India representative in UN ) टीएस तिरुमूर्ति ने कहा कि भारत ने इस प्रस्ताव पर वोटिंग न करने का फैसला लिया है। उन्होंने सभी सदस्य देशों को मतभेदों और विवादों को निपटाने के लिए कूटनीतिक तरीके अपनाने पर जोर दिया। तिरुमूर्ति ने कहा कि यह खेद की बात है कि कूटनीतिक रास्ता छोड़कर जंग पर जोर दिया जा रहा है। हमें शांति के मार्ग पर लौटना चाहिए। जाहिर इससे अमेरिका नाराज होगा, लेकिन उसने इस बार पहले की तरह जाहिर नहीं किया है।

Next Story

विविध