दुनिया

Ukraine crisis : रूस ने यूक्रेन पर हमला किया तो उसकी कीमत भी चुकानी पड़ेगी : जो बाइडेन

Janjwar Desk
19 Feb 2022 4:22 AM GMT
joe Biden Ukrain crisis
x

America President joe Biden

Ukraine crisis : विवाद का हल समझौता वार्ता के जरिए सुलझाया जा सकता है। अभी भी समय है। युद्ध से बचा जा सकता है। सावधानी से कदम उठाने की जरूरत है।

Ukraine crisis : विभिन्न मुद्दों को लेकर रूस ( Russia )और यूक्रेन ( Ukraine ) के बीच लंबे अरसे जारी तनाव अब जंग के मुंहाने पर है। किसी भी समय दोनों देश के बीच युद्ध शुरू हो सकता है। इस बीच अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ( Joe Biden ) ने रूसी राष्ट्रपति व्लादिमिर पुतिन ( Vladimir Putin ) को आरिखी चेतावनी दी है। जो बाइडेन ने कहा कि विवाद का हल समझौता वार्ता के जरिए सुलझाया जा सकता है। अभी भी समय है। युद्ध से बचा जा सकता है। सावधानी से कदम उठाने की जरूरत है। नहीं तो इसके बुरे परिणाम सामने आ सकते हैं। इसके लिए रूस को तैयार रहना होगा। ऐसा इसलिए कि पूरा विश्व इस मुद्दे पर एकजुट है।

रूस के पास य़ुद्ध सही विकल्प नहीं


जो बाइडेन ( Jo Biden ) ने कहा है कि अमेरिकी जनता एकजुट है। पूरा यूरोप एकजुट है। ट्रान्साटलांटिक समुदाय एकजुट है। संपूर्ण विश्व एक है। रूस के पास एक विकल्प है कि वो अपनी मनमर्जी के मुूताबिक युद्ध शुरू और इससे होने वाली सभी पीड़ाओं को आमंत्रित करे। दूसरा विकल्प यह है कि वो कूटनीति का सहारा ले और सभी विवादों का समाधान समझौता वार्ता के जरिए निकाले। दूसरे विकल्प से भविष्य को सुरक्षित बनाने में मदद मिलेगी। फैसला लेना रूस का काम है। हम अपना काम करेंगे।

सख्त प्रतिबंध की चेतावनी

रूस और यूक्रेन के बीच जारी तनातनी को लेकर जो बाइडेन ने शनिवार को एक के बाद कई ट्वीट किए हैं। अपने ट्विट में उन्होंने कहा कि दक्षिण में रूस के सैनिक अब भी ब्लैक सी के निकट बेलारूस में तैनात हैं। रूसी सैनिकों ने यूक्रेन को घेरकर रखा है। यह बात मानने के कई कारण हैं कि रूस की सेना आने वाले दिनों में यूक्रेन पर हमला करने की योजना बना रही है। ऐसा होने पर अमेरिका और हमारे सहयोगी देश यूक्रेन के लोगों का समर्थन करेंगे। पश्चिमी देश इस मुद्दे पर एकजुट हैं। रूस यूक्रेन पर आक्रमण करता है तो हम रूस पर कड़े प्रतिबंध (sanctions) लगाने के लिए तैयार हैं।

व्हाइट हाउस ने बयान जारी कर कहा गया है कि रूस के यूक्रेन पर हमला करने की दशा में अमेरिका और उसके सहयोगी देश यूक्रेन को पैकेज देने पर विचार कर रहे हैं। व्हाइट हाउस के डिप्टी सिक्योरिटी एडवाइजर ( White House Deputy Security Adviser ) दिलीप सिंह ने कहा है कि हाल ही में हुए डिस्ट्रीब्यूटेड डिनायल ऑफ सर्विस (DDoS) हमलों के पीछे रूसी सेना की खुफिया एजेंसी है। रूसी एजेंसी ने कुछ समय के लिए यूक्रेन की बैंकिंग और सरकारी वेबसाइटों को ऑफलाइन कर दिया था।

अमेरिका की उप राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार ऐनी न्यूबर्गर ( Anne Neuberger ) ने भी एक बयान जारी कर कहा है कि रूस साइबर अटैक के जरिए खतरनाक कदम उठा रहा है। वॉशिंगटन इसके लिए रूस की जवाबदेही तय करना चाहता है। न्यूबर्गर ने कहा है कि अमेरिका के पास डेटा है, जिससे दिख रहा है कि रूस की हमले के तार रूस की एजेंसी से जुड़े हुए हैं। हालांकि रूस ने यूक्रेन पर साइबर हमले से इनकार किया है।

Ukraine crisis : दूसरी तरफ यूक्रेन ने कहा है कि रूस की सेना यूक्रेन की सेना को हमले के लिए उकसाने की कोशिश कर रही है। यूक्रेन की सरकार इस मामले में सतर्कता के साथ कदम उठा रही है।

Next Story

विविध