दुनिया

CEO Vishal Garg: विशाल गर्ग की 'छुट्टी', जूम पर 900 कर्मचारियों को कर दिया था चलता

Janjwar Desk
11 Dec 2021 2:10 PM GMT
CEO Vishal Garg: विशाल गर्ग की छुट्टी, जूम पर 900 कर्मचारियों को कर दिया था चलता
x

CEO Vishal Garg: विशाल गर्ग की 'छुट्टी', जूम पर 900 कर्मचारियों को कर दिया था चलता

CEO Vishal Garg: अमेरिका स्थित कंपनी बेटर.कॉम (better.com) के मुख्य कार्यपालक अधिकारी (CEO) विशाल गर्ग कुछ समय के लिए छुट्टी पर चले गए हैं. भारतीय मूल के सीईओ गर्ग हाल में उस समय चर्चा में आए थे जब उन्होंने जूम बैठक के दौरान 900 कर्मचारियों को कंपनी से बाहर करने की घोषणा की थी. उनके इस कदम की काफी आलोचना हुई थी.

CEO Vishal Garg: अमेरिका स्थित कंपनी बेटर.कॉम (better.com) के मुख्य कार्यपालक अधिकारी (CEO) विशाल गर्ग कुछ समय के लिए छुट्टी पर चले गए हैं. भारतीय मूल के सीईओ गर्ग हाल में उस समय चर्चा में आए थे जब उन्होंने जूम बैठक के दौरान 900 कर्मचारियों को कंपनी से बाहर करने की घोषणा की थी. उनके इस कदम की काफी आलोचना हुई थी.

कंपनी के निदेशक मंडल की ओर से शुक्रवार को भेजे गए ई-मेल के अनुसार, गर्ग तत्काल प्रभाव से छुट्टी पर चले गए हैं. कंपनी के मुख्य वित्त अधिकारी (CFO) केविन रयान उनकी अनुपस्थिति में कंपनी का दैनिक कामकाज देखेंगे. इसमें कहा गया कि बेटर.कॉम 'नेतृत्व और संस्कृति' संबंधी आकलन के लिए एक थर्ड पार्टी कंपनी की सेवाएं लेगी और उसकी सिफारिशों के आधार पर कंपनी में दीर्घावधि की सकारात्मक संस्कृति का निर्माण किया जाएगा.

इससे पहले एक दिसंबर को गर्ग ने जूम बैठक के दौरान एक झटके में 900 कर्मचारियों की छंटनी की घोषणा की थी. यह कंपनी में कार्यरत कर्मचारियों की 10,000 संख्या का करीब नौ प्रतिशत बैठता है. यह बैठक मात्र तीन मिनट चली थी. गर्ग ने कर्मचारियों से कहा था कि यदि आप इस बैठक में शामिल हैं, तो आप दुर्भाग्यशाली हैं. आप उस समूह का हिस्सा हैं जिसे कंपनी से बाहर किया जा रहा है.

इंडिपेंडेंट न्यूज़ वेबसाइट के मुताबिक़, विशाल गर्ग पर पहले भी अपने कर्मचारियों का अपमान करने के आरोप लगते रहे हैं. एक रिपोर्ट के मुताबिक विशाल ने खुद कहा था कि वो अपने कैरियर में ऐसा दूसरी बार कर रहे हैं जब इतने बड़े पैमाने पर लोगों को नौकरी से निकाल रहे हैं.

विशाल पर वित्तीय धोखाधड़ी अनियिमितताओं के आरोप लग चुके हैं. 2019 में एक पॉडकास्ट में गर्ग ने बताया था कि हाई स्कूल में ही उनका झुकाव व्यापार के प्रति हो गया था. इसी दौरान उन्होंने कई तरह के बिजनेस प्रयोग किए जिसमें सहपाठियों को क्लिफ़नोट्स और किताबें बेचने जैसा काम भी था.

साल 2000 में विशाल गर्ग ने अपने हाई स्कूल के दोस्त और प्रवासी रजा खान के साथ एक लोन कंपनी माई रिच अंकल खोली जो छात्रों को कर्ज देती थी. इस बीच विशाल ने न्यूयॉर्क विश्वविद्यालय के स्टर्न स्कूल ऑफ बिजनेस में एडमिशन लिया लेकिन बीच में ही पढ़ाई छोड़ दी.

अमेरिका में आर्थिक संकट के दौरान माई रिच अंकल कंपनी दीवालिया हो गई. इसके बाद रजा और विशाल ने EIFC नाम से नया प्रोजेक्ट शुरू किया. 2013 आते-आते रजा और विशाल के बीच कंपनी की वित्तीय स्थिति को लेकर मतभेद पैदा हो गए और रजा ने विशाल गर्ग पर बिजनेस टैक्स नहीं भरने और 3 मिलियन डॉलर को कंपनी से निकालकर अपने पर्सनल बैंक अकाउंट में ट्रांसफ़र करने का आरोप लगाया. इस दौरान विशाल ने रजा को लेकर कुछ टिप्पणियां भी की और बाद में माफी भी मांग ली.

साल 2013 में विशाल गर्ग ने अपनी पत्नी के साथ मिलकर better.com की शुरुआत की जो कि अपना घर खरीदने वाले लोगों को डिजिटली कर्ज दिलाने में मदद करती है. जून 2021 में गर्ग ने दावा किया कि आज उनकी कंपनी इस स्तर पर पहुंच चुकी है जहां पर आप कर्ज के लिए प्री-अप्रूवल तीन मिनट में ले सकते हैं. हालिया मार्केट रिपोर्ट्स के अनुसार सॉफ्टबैंक ने हाल ही में इस कंपनी को 75 करोड़ डॉलर की फ़ंडिंग की है.

Next Story

विविध