बंगाल चुनाव

प्रचार पर बैन लगने के बाद धरने पर ममता बनर्जी, कहा निर्वाचन आयोग का अलोकतांत्रिक और असंवैधानिक फैसला

Janjwar Desk
13 April 2021 11:42 AM GMT
प्रचार पर बैन लगने के बाद धरने पर ममता बनर्जी, कहा निर्वाचन आयोग का अलोकतांत्रिक और असंवैधानिक फैसला
x

(ममता बनर्जी की लोकप्रियता से प्रभावित भाजपा नेता टीएमसी में होंगे शामिल)

ममता बनर्जी ने कहा कि वह आयोग के 'असंवैधानिक एवं अलोकतांत्रिक फैसले' के खिलाफ मंगलवार को शहर में धरना देंगी. उन्होंने ट्वीट किया था, 'निर्वाचन आयोग के अलोकतांत्रिक और असंवैधानिक फैसले के विरोध में मैं कल दिन में 12 बजे से कोलकाता में गांधी मूर्ति के पास धरने पर बैठूंगी.'।

जनज्वार डेस्क, 24 घंटे के लिए पाबंदी लगाए जाने के फैसले के विरोध में शहर के बीचों-बीच धरने पर बैठी ममता बनर्जी। निर्वाचन आयोग ने पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री और तृणमूल कांग्रेस की प्रमुख ममता बनर्जी पर 24 घंटे के लिए चुनाव प्रचार पाबंदी लगाई है जिसको लेकर ममता शहर के बीचों बीच धरने पर बैठ गई। इस पूरे प्रकरण पर सपा नेता अखिलेश यादव ने ममता को लेकर अपना समर्थन दिया है। अखिलेश ने लिखा कि 'प. बंगाल में ममता बनर्जी जी के चुनाव प्रचार पर रोक लगवाना दरअसल चुनाव हारती हुई भाजपा की हताशा का प्रतीक है। सपा ममता बनर्जी जी के धरने में सांकेतिक रूप से साथ है'। आशा है 'श्मशान-क़ब्रिस्तान' के धार्मिक बंटवारे के बयान देने वालों पर भी निष्पक्ष चुनाव आयोग कोई प्रतिबंध लगाएगा।

गत मार्च के महीने में ममता बनर्जी को चोट लग गई थी जिसके कारण व्हीलचेयर पर आ गई। ममता व्हीलचेयर पर बैठकर दोपहर करीब 11 बजकर 40 मिनट पर कोलकाता के मायो रोड पहुंचीं और उन्होंने परिसर में महात्मा गांधी की प्रतिमा के निकट बैठकर धरना शुरू किया और करीब 3 घंटे तक धरने पर बैठीं रही। हालांकि इस दौरान तृणमूल के किसी नेता या समर्थक को ममता बनर्जी के पास नहीं देखा गया। इस संबंध में सवाल किए जाने पर तृणमूल के एक वरिष्ठ नेता ने कहा, 'प्रदर्शन स्थल के निकट किसी पार्टी नेता को जाने की अनुमति नहीं हैं. वह वहां अकेली बैठी हैं.'। चुनाव आयोग द्वारा पाबंदी के लेकर ममता बनर्जी ने कहा कि वह आयोग के 'असंवैधानिक एवं अलोकतांत्रिक फैसले' के खिलाफ मंगलवार को शहर में धरना देंगी. उन्होंने ट्वीट किया था, 'निर्वाचन आयोग के अलोकतांत्रिक और असंवैधानिक फैसले के विरोध में मैं कल दिन में 12 बजे से कोलकाता में गांधी मूर्ति के पास धरने पर बैठूंगी.'।तृणमूल प्रमुख ममता बनर्जी ने हाल के दिनों में केंद्रीय बलों के खिलाफ बयानों और कथित धार्मिक प्रवृत्ति वाला बयान दिया था जिसके कारण चुनाव आयोग ने ममता बनर्जी के ऊपर 24 घंटे तक उनके चुनाव प्रचार करने पर रोक लगा दी है।

इन पाबंदियों के बीच तृणमूल प्रमुख ममता बनर्जी मंगलवार को रात आठ बजे के बाद बारासात और बिधाननगर में दो रैलियों को संबोधित करेंगी लेकिन इस बीच, यहां एक रक्षा अधिकारी ने कहा कि ममता बनर्जी जहां धरना दे रही हैं, वह क्षेत्र सेना का है और तृणमूल को इस कार्यक्रम के लिए अभी तक अनुमति नहीं मिली है। रक्षा प्रवक्ता ने कहा, 'मैं सभी को सूचित करने के लिए यह बताना चाहता हूं कि हमें अनापत्ति प्रमाण पत्र के लिए तृणमूल से आज 9 बजकर 40 मिनट पर अर्जी मिली। इससे संबंधित प्रक्रिया अभी चल रही है'।

Next Story

विविध

Share it