Top
बिहार चुनाव 2020

बिहार में अब बड़े भाई की भूमिका में बीजेपी, पार्टी के नन्दकिशोर यादव हो सकते हैं स्पीकर

Janjwar Desk
16 Nov 2020 8:31 AM GMT
बिहार में अब बड़े भाई की भूमिका में बीजेपी, पार्टी के नन्दकिशोर यादव हो सकते हैं स्पीकर
x

नन्दकिशोर यादव की file photo

जो संकेत मिल रहे हैं, उसके अनुसार पिछली विधानसभा में अध्यक्ष रहे जदयू के विजय कुमार चौधरी को इस बार मंत्री बनाया जा रहा है, जाहिर है कि विधानसभा अध्यक्ष का पद जदयू को नहीं मिलने जा रहा और यह बीजेपी को जा रहा है...

जनज्वार ब्यूरो, पटना। बिहार चुनावी नतीजों के अनुसार बीजेपी, बिहार एनडीए में इस बार पहली बार बड़े भाई की भूमिका में आ चुकी है, पर अब वह बड़े भाई की भूमिका में नजर भी आना चाहती है। यह भूमिका दिखाने के लिए पार्टी सीटों की संख्या के आधार पर मंत्री पद चाह रही है, वहीं विधानसभा अध्यक्ष का पद भी चाह रही है, हालांकि जदयू भी विधानसभा अध्यक्ष के पद को लेकर अड़ा हुआ था।

जो संकेत मिल रहे हैं, उसके अनुसार पिछली विधानसभा में अध्यक्ष रहे जदयू के विजय कुमार चौधरी को इस बार मंत्री बनाया जा रहा है। जाहिर है कि विधानसभा अध्यक्ष का पद जदयू को नहीं मिलने जा रहा और यह बीजेपी को जा रहा है।

ऐसे में नन्दकिशोर यादव और अमरेंद्र प्रताप सिंह का नाम बीजेपी की ओर से विधानसभा अध्यक्ष पद के लिए चर्चा में है। नन्दकिशोर यादव राज्य सरकार में कई दफा मंत्री रह चुके हैं और पिछली कैबिनेट में भी वे मंत्री थे। वे बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष भी रह चुके हैं। वहीं अमरेंद्र प्रताप सिंह विधानसभा के उपाध्यक्ष रह चुके हैं।

एनडीए के सूत्रों के अनुसार, वैसे जदयू भी विधानसभा अध्यक्ष के पद को लेकर अड़ा हुआ था और इसे लेकर बीजेपी के साथ खींचतान भी चल रही थी पर अंततः यह पद बीजेपी के खेमे में चला गया है। कहा जा रहा है कि इस बार जदयू को काफी कम सीटें आने के कारण बीजेपी बड़े भाई की तरह भूमिका निभाने की कोशिशों में जुटी हुई है, जैसा पहले जेडीयू करता रहा है।

इसके अलावा पार्टी इस बार संख्या बल के हिसाब से मंत्री पद की बात कह रही है। अर्थात इस बार कैबिनेट में बीजेपी की ओर से 20 तथा जेडीयू की ओर से सिर्फ 12 मंत्री हो सकते हैं।

इस बार के चुनावी नतीजों के बाद विधानसभा अध्यक्ष का पद काफी महत्वपूर्ण हो गया है, चूंकि एनडीए को कोई प्रचंड बहुमत नहीं मिला है, बल्कि बमुश्किल वह बहुमत का आंकड़ा पार कर पाई है। बिहार में विधानसभा की कुल 243 सीटें हैं, जिससे बहुमत का आंकड़ा 122 होता है। एनडीए को 125 सीटें हासिल हुई हैं। इनमें से बीजेपी को सर्वाधिक 74 सीटें, जेडीयू को 43 तथा हम और वीआईपी पार्टी को चार-चार सीटें मिली हैं।

नीतीश कुमार आज सातवीं बार बिहार के मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे। शपथ ग्रहण राजभवन के राजेन्द्र मण्डप में होगा। नीतीश कुमार के साथ एनडीए के लगभग दर्जन भर नवनिर्वाचित विधायक भी मंत्री पद की शपथ लेंगे, हालांकि मंत्री कौन-कौन होंगे, उनके नामों का अबतक खुलासा नहीं किया गया है। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह और बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा भी शपथ ग्रहण समारोह में शामिल होंगे।



Next Story

विविध

Share it