बिहार चुनाव 2020

बीजेपी में घमासान: राजेन्द्र सिंह, रामेश्वर चौरसिया सहित 9 बड़े नेताओं को पार्टी से निकाला

Janjwar Desk
12 Oct 2020 3:44 PM GMT
बीजेपी में घमासान: राजेन्द्र सिंह, रामेश्वर चौरसिया सहित 9 बड़े नेताओं को पार्टी से निकाला
x

बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष संजय जायसवाल और उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी (File photo)

लोजपा के टिकट या फिर निर्दलीय चुनाव मैदान में उतरे प्रत्याशियों के विरुद्ध बीजेपी ने कार्रवाई कर दी है, बीजेपी ने 9 नेताओं को निष्काषित कर दिया है। इनमें कई बड़े चेहरे भी शामिल हैं...

जनज्वार ब्यूरो, पटना। टिकट बंटवारे को लेकर बीजेपी में मचा घमासान लगातार बढ़ता जा रहा है। इस बार के चुनाव में बीजेपी के बागी उम्मीदवारों की संख्या भी बड़ी होती जा रही है। इस बीच एनडीए के अधिकृत उम्मीदवारों के विरुद्ध चुनाव लड़ने वाले 9 बड़े नेताओं को बीजेपी ने 6 साल के लिए पार्टी से निकाल दिया है।

लोजपा के टिकट या फिर निर्दलीय चुनाव मैदान में उतरे प्रत्याशियों के विरुद्ध बीजेपी ने कार्रवाई कर दी है। बीजेपी ने 9 नेताओं को निष्काषित कर दिया है। इनमें कई बड़े चेहरे भी शामिल हैं।

बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष सांसद डॉ संजय जायसवाल की ओर से इसे लेकर एक पत्र जारी किया गया है। इस पत्र में कहा गया है कि आप लोग एनडीए के अधिकृत प्रत्याशी के विरुद्ध चुनाव लड़ रहे हैं।

इससे एनडीए के साथ-साथ पार्टी की क्षवि भी धूमिल हो रही है। यह पार्टी अनुशासन के विरुद्ध कार्य है। इस कारण पार्टी से छह साल के लिए निष्कासित किया जाता है।


पार्टी के प्रदेश उपाध्यक्ष और झारखंड के प्रभारी रहे राजेन्द्र सिंह, पूर्व विधायक और पार्टी के बड़े नेता रामेश्वर चौरसिया, पूर्व विधायक डॉ उषा विद्यार्थी, रविन्द्र यादव, श्वेता सिंह, इंदु कश्यप, अनिल कुमार, मृणाल शेखर और अजय प्रताप को पार्टी से निष्कासित कर दिया गया है।

उल्लेखनीय है कि पिछले विधानसभा चुनाव, जिसमें बीजेपी जदयू के साथ मिलकर नहीं लड़ी थी, उस में राजेंद्र सिंह को बीजेपी की ओर से मुख्यमंत्री का चेहरा माना जा रहा था। वहीं रामेश्वर चौरसिया बीजेपी के बड़े दलित चेहरे माने जाते हैं और राम मंदिर आंदोलन से भी जुड़े हुए थे।

इस चुनाव में पिछले दिनों जब लोजपा ने जदयू के विरुद्ध उमीदवार उतारने की घोषणा की थी, उसके बाद बीजेपी के कई वैसे बड़े-छोटे नेता, जिनको टिकट नहीं मिल पाया, उन्होंने लोजपा का दामन थाम लिया है।

हालांकि इसे लेकर एक चर्चा यह भी हो रही है कि कहीं बीजेपी और लोजपा मिलकर नीतीश कुमार की घेराबंदी तो नहीं कर रहे, चूंकि लोजपा ने अपने उम्मीदवार उन क्षेत्रों से नहीं उतारे हैं, जहां से बीजेपी चुनाव लड़ रही है। लोजपा ने सिर्फ जदयू उम्मीदवारों के क्षेत्र में ही उम्मीदवार उतारे हैं।

Next Story

विविध

Share it