Top
बिहार चुनाव 2020

बिहार में पीएम मोदी और राहुल गांधी एक ही दिन होंगे आमने-सामने, 23 को दोनों करेंगे अपने चुनाव प्रचार की शुरुआत

Janjwar Desk
18 Oct 2020 4:13 AM GMT
बिहार में पीएम मोदी और राहुल गांधी एक ही दिन होंगे आमने-सामने, 23 को दोनों करेंगे अपने चुनाव प्रचार की शुरुआत
x

File photo

दोनों अपनी-अपनी पार्टी की ओर से स्टार प्रचारक बनाए गए हैं और दोनों बिहार में एक ही दिन अपने चुनावी अभियान की शुरुआत करेंगे, 23 अक्टूबर को एक ही दिन दोनों बिहार में आमने-सामने होंगे...

जनज्वार ब्यूरो, पटना। वैसे तो बिहार में चुनाव बिहार की नई सरकार चुनने के लिए हो रहा है, पर इस चुनाव में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी भी एक-दूसरे के आमने-सामने होंगे। दोनों अपनी-अपनी पार्टी की ओर से स्टार प्रचारक बनाए गए हैं और दोनों बिहार में एक ही दिन अपने चुनावी अभियान की शुरुआत करेंगे। 23 अक्टूबर को एक ही दिन दोनों बिहार में आमने-सामने होंगे।

23 अक्टूबर को जहां प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी तीन सभाएं करेंगे, वहीं उसी दिन राहुल गांधी भी दो सभा करेंगे। 23 को राहुल गांधी नवादा के हिसुआ में पहली सभा करेंगे। उसके बाद भागलपुर के कहलगांव में दूसरी चुनावी सभा को संबोधित करेंगे।

पीएम मोदी भी 23 अक्टूबर को सासाराम में पहली सभा करेंगे। उसके बाद गया और भागलपुर में उनकी सभा होगी। उसके बाद 28 अक्टूबर को वे दुबारा बिहार आएंगे। 28 को दरभंगा, मुजफ्फरपुर और पटना में उनकी चुनावी सभा होगी। जबकि 1नवंबर को छपरा, पूर्वी चंपारण और समस्तीपुर में रैली करेंगे।

वहीं 3 नवंबर को उनकी चुनावी सभा पश्चिमी चंपारण, सहरसा और अररिया के फारबिसगंज में होगी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की बिहार में कुल मिलाकर 12 रैली होगी। हालांकि इससे पहले साल 2019 में विगत लोकसभा चुनाव के दौरान भी पीएम मोदी और कांग्रेस नेता राहुल गांधी की एक ही दिन सभा हो चुकी है।

उधर पीएम मोदी और कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी की सभाएं निर्धारित हो जाने से उनके गठबंधनों में उत्साह बढ़ा हुआ है। बीजेपी ने जहां मोदी की रैली की तैयारी में पूरी ताकत झोंक दी है, वहीं कांग्रेस में भी तमाम बड़े नेता राहुल गांधी के रैली की तैयारियों में जुटे हुए हैं।

समर्थक और कार्यकर्ताओं में इन दोनों की रैली को लेकर उत्साह है, वहीं मतदाता भी इन्हें सुनने का इंतजार कर रहे हैं। देखने वाली बात होगी कि दोनों बड़े नेता चुनाव में कितना प्रभाव छोड़ पाते हैं और इसका खुलासा 10 नवंबर को होनेवाली मतगणना और चुनाव परिणाम से होगा।

Next Story

विविध

Share it