Top
बिहार चुनाव 2020

बिहार : महागठबंधन का घोषणा पत्र जारी, सबने तेजस्वी को सीएम फेस बताया, रोजगार देने व मोदी का कृषि बिल खत्म करने का वादा

Janjwar Desk
17 Oct 2020 4:12 AM GMT
बिहार : महागठबंधन का घोषणा पत्र जारी, सबने तेजस्वी को सीएम फेस बताया, रोजगार देने व मोदी का कृषि बिल खत्म करने का वादा
x
बिहार के महागठबंधन राजद, कांग्रेस के अलावा वाम दल शामिल हैं। सभी दलों ने साझा तौर पर आज अपना घोषणा पत्र जारी किया है।

जनज्वार, पटना। बिहार विधानसभा चुनाव 2020 के लिए राष्ट्रीय जनता दल-कांग्रेस की अगुवाई वाले महागठबंधन ने शनिवार (17 oct 2020) की सुबह पटना में अपना घोषणा पत्र जारी कर दिया। पटना के मौर्या होटल में महागठबंधन के घटक दलों ने साझा प्रेस कान्फ्रेंस कर घोषणा पत्र जारी किया। महागठबंधन के घोषणा पत्र के कवर पेज पर सिर्फ और सिर्फ राजद नेता तेजस्वी यादव की तसवीर है, जिससे यह स्पष्ट हो गया है कि तेजस्वी यादव ही महागठबंधन के मुख्यमंत्री उम्मीदवार हैं। कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने प्रेस कान्फ्रेंस में भी कहा कि जैसे ही बिहार में हमारी सरकार बनेगी तेजस्वी यादव के नेतृत्व में युवाओं को रोजगार देने और मोदी सरकार के तीन किसान विरोधी कृषि विधेयकों को खत्म करने का निर्णय लिया जाएगा।

राजद-कांग्रेस के महागठबंधन में वाम दल भी शामिल हैं। वाम नेताओं ने भी अपने संबोधन में तेजस्वी यादव के नेतृत्व में सरकार बनाने की बात कही।

घोषणा पत्र को जारी करते हुए नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने इसे महागठबंधन का संकल्प पत्र बताया। महागठबंधन के साझा घोषणापत्र को बदलाव के संकल्प पत्र का नाम दिया गया है। आरजेडी के साथ-साथ कांग्रेस और वाम दलों में सरकार गठन के बाद बिहार के लिए जो प्राथमिकताएं तय की हैं, उसका जिक्र इस घोषणापत्र में किया गया है।

नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव पहले ही कह चुके हैं कि वह घटक दलों के सहमति से ही सरकार का न्यूनतम साझा कार्यक्रम लागू करेंगे और इसी कड़ी में आज महागठबंधन अहम कदम उठाने जा रहा है।

रणदीप सुरजेवाला क्या बोले?

कांग्रेस के प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि तेजस्वी यादव के नेतृत्व में हमारी सरकार बनने के साथ ही पहली कैबिनेट बैठक में युवाओं को रोजगार देने का निर्णय लिया जाएगा और विधानसभा के पहले सत्र में नरेंद्र मोदी सरकार के किसान विरोधी तीन कृषि कानूनों को खारिज करने के लिए विधेयक पारित किया जाएगा। उन्होंने कहा कि जिन्होंने डीएनए पर सवाल उठाया उनके साथ नीतीश बाबू हैं।

सुरजेवाला ने कहा कि यह चुनाव नई दिशा बनाम दुर्दशा का चुनाव है, यह चुनाव नया रास्ता और नया आसमान बनाम हिंदू-मुसलमान का चुनाव है, यह चुनाव नए तेज बनाम फेल तजुर्बे की दुहाई का चुनाव है, यह चुनाव खुद्दारी और तरक्की बनाम बंटवारा और नफरत का चुनाव है।

सुरजेवाला ने कहा कि भाजपा बिहार में तीन गठबंधन के साथ चुनाव लड़ रही है। उसका पहला गठबंधन जदयू के साथ है, दूसरा लोजपा के साथ है और तीसरा ठगबंधन ओवैसी के साथ है।




तेजस्वी यादव ने क्या कहा?

घोषणा पत्र को जारी करते हुए तेजस्वी यादव ने कहा कि उनकी सरकार बनेगी तो जितने भी किसानों का कृषि ऋण है उसको माफ करेंगे। पहली कैबिनेट में 10 लाख युवाओं को रोजगार देंगे। जो छात्र नियुक्ति को लेकर आवेदन के लिए फॉर्म भरते हैं उसका शुल्क माफ करेंगे। परीक्षा केंद्र जाने के लिए किराया देंगे। तेजस्वी यादव ने कहा कि मुख्यमंत्री के रूप में मेरी पहली कलम 10 लाख युवाओं को नौकरी देने के लिए चलेगी।

कोरोना संकट के बीच भी बिहार के लोग पलायन करने जा रहे हैं। कर्पूरी वीर सहायता केंद्र पूरे देश में खोला जाएगा। आपदा के दौरान मजदूरों को सेवा और राहत मिलेगी। नियोजित शिक्षकों को समान काम के बदले समान वेतन देंगे। तेजस्वी यादव ने कहा जिविका दीदियों का नौकरी और वेतनमान देंगे।

Next Story

विविध

Share it