Top
बिहार चुनाव 2020

बिहार की पहली चुनावी रैली में पीएम मोदी का हमला, धारा 370 पलटना चाहता है विपक्ष पर लालटेन का जमाना गया

Janjwar Desk
23 Oct 2020 6:53 AM GMT
बिहार की पहली चुनावी रैली में पीएम मोदी का हमला, धारा 370 पलटना चाहता है विपक्ष पर लालटेन का जमाना गया
x
सासाराम में अपनी पहली चुनावी रैली को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने जहां कोरोना को लेकर किए गए कार्यों को गिनाया, वहीं विपक्षी दल राजद पर भी खूब निशाना साधा, उन्होंने केंद्र और राज्य सरकार के कार्यों का भी खूब बखान किया..

जनज्वार ब्यूरो, पटना। बिहार चुनावों में प्रचार के लिहाज से आज बड़ा दिन है। बिहार के चुनावी रण में आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी दोनों उतर चुके हैं। सासाराम में अपनी पहली चुनावी रैली को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने जहां कोरोना को लेकर किए गए कार्यों को गिनाया, वहीं विपक्षी दल राजद पर भी खूब निशाना साधा। उन्होंने केंद्र और राज्य सरकार के कार्यों का भी खूब बखान किया।

उनकी पहली रैली रोहतास जिले के डेहरी ऑन सोन में हुई। इसके बाद अब वे गया में जनता से रूबरू होंगे। फिर भागलपुर में उनकी अंतिम रैली है। रोहतास में प्रधानमंत्री के साथ मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार ने भी मंच साझा किया। आगे वे भागलपुर में भी प्रधानमंत्री के साथ रहेंगे।

मोदी ने कहा कि गरीब दीवाली और छठ पूजा ठीक से मना सके, इसके लिए मुफ्त अनाज की व्यवस्था की गई है। इसी कोरोना के दौरान करोड़ों गरीब बहनों के खाते में सीधी मदद भेजी गई, मुफ्त गैस सिलेंडर की व्यवस्था की गई।

विपक्ष पर निशाना साधते हुए मोदी ने धारा 370 की भी चर्चा की। उन्होंने कहा कि जम्मू कश्मीर से आर्टिकल-370 हटने का इंतजार देश बरसों से कर रहा था या नहीं। ये फैसला हमने लिया, एनडीए की सरकार ने लिया। आज ये लोग इस फैसले को पलटने की बात कर रहे हैं। ये कह रहे हैं कि सत्ता में आए तो आर्टिकल-370 फिर लागू कर देंगे।

मोदी ने भोजपुरी में कहा 'भारत के स्वाभिमान बा बिहार। भारत के संस्कार बा बिहार। संपूर्ण क्रांति के शंखनाद बा बिहार। आत्मनिर्भर भारत के परचम बा बिहार।'

उन्होंने कहा कि कोरोना का मुकाबला करते हुए सारी सावधानी के साथ लोग लोकतंत्र के महापर्व का जश्न मना रहा है। प्रधानमंत्री ने कहा कि भारत की विकास यात्रा में अहम योगदान देने वाले बिहार में आकर बेहद खुश हूं। बिहार के लोगों अपना संदेश सुना दिया है। बिहार के लोग कन्फ्यूजन में नहीं रहते हैं। पीएम मोदी ने कहा कि बिहार के मतदाता इतने समझदार हैं कि वो भ्रम फैलाने वालों की बातों में नहीं आते हैं।

पीएम मोदी ने कहा कि बिहार अब विकास की ओर तेजी से बढ़ रहा है, अब बिहार को कोई बीमारू, बेबस राज्य नहीं कह सकता। लालटेन का जमाना गया। बिहार के लोगों ने मन बना लिया है, ठान लिया है कि जिनका इतिहास बिहार को बीमारू बनाने का है, उन्हें आसपास भी नहीं फटकने देंगे।

उन्होंने कहा कि दुनिया के बड़े-बड़े अमीर देशों की हालत किसी से छिपी नहीं है। अगर बिहार में तेजी से काम न हुआ होता तो ये महामारी न जाने कितने साथियों की, हमारे परिवारजनों की जान ले लेती, कितना बड़ा हाहाकार मचता, इसकी कोई कल्पना नहीं कर सकता।

पीएम मोदी ने कहा कि बिहार के विकास की हर योजना को अटकाने और लटकाने वाले ये लोग हैं जिन्होंने अपने 15 साल के शासन में लगातार बिहार को लूटा। आपने बहुत विश्वास के साथ सत्ता सौंपी थी लेकिन इन्होंने सत्ता को अपनी तिजोरी भरने का माध्यम बना लिया। इन लोगों को आपकी जरूरतों से कभी सरोकार नहीं रहा। इनका ध्यान रहा है अपने स्वार्थों पर, अपनी तिजौरी पर।

उन्होंने कहा कि यही कारण है कि भोजपुर सहित पूरे बिहार में लंबे समय तक बिजली, सड़क, पानी जैसी मूल सुविधाओं का विकास नहीं हो पाया।

प्रधानमंत्री ने कहा कि जब बिहार के लोगों ने इन्हें सत्ता से बेदखल कर दिया, नीतीश जी को मौका दिया तो ये बौखला गए। इसके बाद दस साल तक इन लोगों ने यूपीए की सरकार में रहते हुए बिहार पर, बिहार के लोगों पर अपना गुस्सा निकाला। आज NDA के सभी दल मिलकर आत्मनिर्भर, आत्मविश्वासी बिहार के निर्माण में जुटे हैं। बिहार को अभी भी विकास के सफर में मीलों आगे जाना है। नई बुलंदी की तरफ उड़ान भरनी है।

Next Story

विविध

Share it