Top
बिहार चुनाव 2020

चुनावी शोर के बीच थाली से गायब हुए आलू-प्याज, तेजस्वी ने प्याज की माला लेकर बीजेपी पर साधा निशाना

Janjwar Desk
26 Oct 2020 6:05 AM GMT
चुनावी शोर के बीच थाली से गायब हुए आलू-प्याज, तेजस्वी ने प्याज की माला लेकर बीजेपी पर साधा निशाना
x

Photo:social media

पिछले लगभग एक महीने में आलू, प्याज और अन्य सब्जियों की कीमतों में कई गुना इजाफा हो चुका है, हालांकि चुनावी शोर में यह बात कहीं दब सी गई है, न तो चुनाव प्रचार के लिए हवाई जहाजों से उड़ान भर रहे नेता इसे लेकर कुछ बोल रहे हैं, न ही चुनावी रंग में सराबोर हो चुकी मीडिया में ही इसपर कोई चर्चा या बहस हो रही है...

जनज्वार ब्यूरो, पटना। चुनावी शोर के बीच बिहार में लोगों को महंगाई भी मार रही है। खासकर पिछले लगभग एक महीने में आलू, प्याज और अन्य सब्जियों की कीमतों में कई गुना इजाफा हो चुका है। हालांकि चुनावी शोर में यह बात कहीं दब सी गई है। न तो चुनाव प्रचार के लिए हवाई जहाजों से उड़ान भर रहे नेता इसे लेकर कुछ बोल रहे हैं, न ही चुनावी रंग में सराबोर हो चुकी मीडिया में ही इसपर कोई चर्चा या बहस हो रही है। राजधानी पटना में आलू 50 रुपये और प्याज 100 से 120 रुपये प्रति किलो बिक रहा है, जबकि लगभग एक महीने पहले दोनों 20 से 30 रुपये किलो बिक रहे थे।

जनता पिस रही है और लोगों की थाली से सब्जियां गायब हो रही हैं। वैसे इन बढ़ी हुई कीमतों का लाभ किसानों को कितना मिल पाता है और बिचौलिए कितना लूट लेते हैं, यह रिसर्च का विषय हो सकता है, पर आम समझ यही कहती है कि इसका लाभ किसानों को नहीं, बल्कि बिचौलियों को ही मिलता है।

वैसे महागठबंधन के सीएम फेस तेजस्वी यादव ने अब यह मुद्दा उठाया है। 26 अक्टूबर, सोमवार को तेजस्वी यादव ने प्याज की माला के साथ महंगाई को लेकर केंद्र की बीजेपी सरकार और राज्य की नीतीश कुमार नीत एनडीए सरकार पर निशाना साधते हुए आलू-प्याज की कीमतों में बेतहाशा वृद्धि और महंगाई का मुद्दा उठाया।

तेजस्वी यादव ने कहा 'कमर तोड़ महंगाई, भ्रष्टाचार, बेरोजगारी से आम आदमी त्राहिमाम कर रहा है। काम-धंधा ठप्प है। किसान,मज़दूर,नौजवान और व्यापारी वर्ग को खाने के लाले पड़ रहे है। छोटे व्यापारियों को BJP सरकार ने मार दिया है।महंगाई बढ़ने पर ये लोग प्याज़ का माला पहन कर घूमते थे अब हम उन्हें यह सौंप रहे हैं।'

उन्होंने राज्य की एनडीए सरकार पर कई घोटाले करने का भी आरोप लगाया। उन्होंने कहा '15 साल का शासन और 30 हज़ार करोड़ में 60 से ज्यादा घोटाले, सिर से लेकर पाँव तक भ्रष्टाचार में डूबी है ये नीतीश सरकार। नल जल योजना में भारी लूट है।'

उन्होंने आरोप लगाया कि राज्य में घूसखोरी का बोलबाला है। कोई भी काम बिना रिश्वत दिए नहीं होता। आलम ये है कि एक आम आदमी का थाना और प्रखंड कार्यालय में बिना घूस दिए कुछ काम नहीं होता। उन्होंने कहा कि अब आपके सहयोग, प्रेम और समर्थन से नए दौर में नया बिहार बनाएँगे।

इससे पहले मुख्यमंत्री के गृह ज़िला नालंदा के इस्लामपुर विधानसभा क्षेत्र में चुनाव प्रचार के दौरान तेजस्वी यादव ने नीतीश कुमार पर जमकर प्रहार किया था। तेजस्वी ने कहा 'आदरणीय नीतीश जी संकीर्ण और रूढ़िवादी सोच के मुख्यमंत्री है और हम व्यापक, उदार और नयी सोच के साथ है क्योंकि हम सबों ने साथ मिलकर नए दौर में नया बिहार बनाना है।'

Next Story

विविध

Share it