Top
बिहार चुनाव 2020

तेजस्वी ने बताया रोडमैप, 10 लाख सरकारी नौकरी के लिए पैसा कहां से लाएंगे, बोले- यहां का पैसा यहीं घूमेगा

Janjwar Desk
31 Oct 2020 4:42 AM GMT
तेजस्वी ने बताया रोडमैप, 10 लाख सरकारी नौकरी के लिए पैसा कहां से लाएंगे, बोले- यहां का पैसा यहीं घूमेगा
x

File photo

तेजस्वी यादव अपनी चुनावी सभाओं में लगातार यह कह रहे हैं कि उनकी सरकार बनने पर वे कैबिनेट की पहली बैठक में और अपनी पहली दस्तखत से 10 लाख युवाओं को सरकारी नौकरी देंगे, इस बार के चुनाव में यह एक बड़ा मुद्दा बन चुका है...

जनज्वार ब्यूरो, पटना। महागठबंधन की ओर से सीएम फेस तेजस्वी यादव के 10 लाख लोगों को सरकारी नौकरी देने का वादा करने के बाद यह एक बड़ा चुनावी मुद्दा बन गया है। सत्ता पक्ष, खासकर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार जहां अपनी चुनावी सभाओं में इस वादे को लेकर यह कह रहे हैं कि इतने लोगों को नौकरी देने के लिए पैसा कहां से आएगा, वहीं तेजस्वी की इस घोषणा के बाद बीजेपी ने भी अपने घोषणा पत्र में 19 लाख लोगों को 5 साल में रोजगार देने का वादा कर लिया है। अब तेजस्वी यादव ने इसे लेकर अपना रोडमैप पेश किया है कि 10 लाख लोगों को नौकरी के लिए पैसा कहां से आएगा।

तेजस्वी यादव अपनी चुनावी सभाओं में लगातार यह कह रहे हैं कि उनकी सरकार बनने पर वे कैबिनेट की पहली बैठक में और अपनी पहली दस्तखत से 10 लाख युवाओं को सरकारी नौकरी देंगे।

चुनावी सभाओं में जब वे यह कह रहे हैं तो लोग खूब तालियां भी बजा रहे हैं। यानि जनता के बीच उनकी बात का भरपूर समर्थन मिल रहा है। अर्थात इस बार के चुनाव में यह एक बड़ा मुद्दा बन चुका है। वे यह भी कह रहे हैं कि गरीबों को मिलनेवाले पेंशन की राशि को भी 400 रुपये से बढ़ाकर 1 हजार कर देंगे।

बिहार के नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने अब अपना रोडमैप बताया है कि वे इसके लिए पैसा कहां से लाएंगे। तेजस्वी ने कहा 'अभी की सरकार अपने बजट की 40 फीसदी राशि खर्च ही नहीं कर पाती और वह हजारों करोड़ रुपया सरेंडर हो जाता है। मधुबनी में चीनी मिल है, मोतिहारी में चीनी मिल है, कई पेपर मिल हैं, जूट मिल हैं। बिहार में मखाना होता है, केला होता है, मक्का होता है। बंद मिलों को खुलवाना है।'

तेजस्वी यादव ने बिहार में नौकरी और रोजगार होने की स्थिति में पलायन खत्म हो जाने की बात कही। उन्होंने कहा कि पलायन खत्म हो जाएगा, चूंकि यहीं लोगों को रोजगार मिलेगा तो यहां कमाएंगे और यहीं खर्च करेंगे। अर्थात बिहार के लोगों का जो सैकड़ो-हजारों करोड़ रुपया बाहर खर्च हो रहा है, वह अब यहीं खर्च होगा, जिससे पैसे यहीं घूमेंगे।

तेजस्वी ने कहा 'फूड प्रोसेसिंग यूनिट लगाने पड़ेंगे, तो रोजगार यहां पर मिलेगा। बिहार में टूरिज्म का स्कोप है। गौरवशाली इतिहास है। लोकतंत्र की जननी से लेकर सीता मैया, बोधगया, पहला विश्वविद्यालय से लेकर क्या नहीं है बिहार में। समुद्र मंथन नाग को जिस पर्वत से रगड़ा गया था, वह बिहार में है। ये सब चीजें होंगी तो बिहार में रोजगार के अवसर मिलेंगे। सरकारी नौकरी का फायदा भी है। लोग यही कमाएंगे, तो यहीं खर्च करेंगे पैसा। यहां का पैसा यहीं घूमेगा।'

Next Story

विविध

Share it