अंधविश्वास

Andhvishwas News : युवक को सांप ने काटा तो डॉक्टर के बजाय झाड़-फूंक कराने लगे परिजन, अंधविश्वास ने लील ली जिंदगी

Janjwar Desk
22 Aug 2022 5:15 PM GMT
Andhvishwas News :  युवक को सांप ने काटा तो डॉक्टर के बजाय झाड़-फूंक कराने लगे परिजन, अंधविश्वास ने लील ली जिंदगी
x

Andhvishwas News : युवक को सांप ने काटा तो डॉक्टर के बजाय झाड़-फूंक कराने लगे परिजन, अंधविश्वास ने लील ली जिंदगी

Andhvishwas News : अंधविश्वास के हादसे ने एक ग्रामीण की जान ले ली। मामला रविवार की रात का है। मीरानपुर कटरा क्षेत्र के पौकी नामक गांव में एक युवक को सांप ने सीधे हाथ में काट लिया।

Andhvishwas News : भारत में अंधविश्वास की प्रथा बहुत पहले से चलती आ रही है। हम जिस समाज में रहते हैं वहां रोजमर्रा के कार्यों में भी अंधविश्वास की झलक देखने को मिलती है। भारत में आज भी कई लोग अंधविश्वास और विश्वास में अंतर नहीं कर पाते हैं। वह आज भी डॉक्टर्स की दवाइयों से ज्यादा अंधविश्वास से संबंधित चीजों पर विश्वास रखते हैं। कई घरों में आज भी तबीयत खराब होने पर डॉक्टर्स के बजाए परिजन झाड़-फूंक का सहारा लेते हैं।

युवक को सांप ने सीधे हाथ में कांटा

ऐसे ही एक अंधविश्वास के हादसे ने एक युवक की जान ले ली। मामला 21 अगस्त की रात का है। शाहजहांपुर जनपद के मीरानपुर कटरा क्षेत्र के पौकी नामक गांव में रामरतन नाम के युवक एक युवक को सांप ने सीधे हाथ में काट लिया। युवक की चीख सुनकर परिजन तुरंत उसके पास पहुंचे, परंतु तब तक युवक बेहोश हो चुका था।

झाड़-फूंक और देसी दवाइयों का सहारा लिया

हादसे के बाद युवक को अस्पताल ले जाया गया, परंतु वहां उसका इलाज करने से मना कर दिया गया। उसके बाद युवक को सुनहरा गांव ले गए बजरंगी व शंकरा नाम के युवकों ने उसका इलाज करना शुरू किया। दोनों ने झाड़-फूंक और देसी दवाइयों का सहारा लिया, लेकिन इसके बाद भी रामरतन को होश नहीं आया और उसकी तबीयत सुधरने के बजाय और बिगड़ती चली गई।

सोमवार 22 अगस्त की दोपहर उसकी मृत्यु हो गई

इसके बाद सोमवार दोपहर उसकी मृत्यु हो गई परिजन शव को गांव लेकर आ गए, परंतु पूर्व प्रधान ने थाने में सूचना दे दी जिसके बाद पुलिस ने अपनी जांच पड़ताल जारी की। दो दिन पूर्व जैतीपुर के गांव मरूआझाला गांव निवासी पूर्व प्रधान वीरेंद्र मिश्र को भी उस सांप ने काट लिया। वीरेंद्र ने भी 2 दिन तक डॉक्टर के पास जाने के बजाय गांव में ही देसी इलाज करवाने का विकल्प चुना, जिसके बाद उसकी भी मृत्यु हो गई।

Janjwar Desk

Janjwar Desk

    Next Story

    विविध