Top
अंधविश्वास

तंत्र-मंत्र किया हुआ जहरीला आटा खाने से जज व उनके बेटे की मौत, महिला मित्र, तांत्रिक सहित छह गिरफ्तार

Janjwar Desk
30 July 2020 5:18 AM GMT
तंत्र-मंत्र किया हुआ जहरीला आटा खाने से जज व उनके बेटे की मौत, महिला मित्र, तांत्रिक सहित छह गिरफ्तार
x

पुलिस की गिरफ्त में जज की महिला मित्र।

पढ-लिख कर जज बनने के बाद भी एक शख्स ने पारिवारिक कलह को दूर करने के लिए पूरे परिवार की जान को ही खतरे में डाल दिया। हालांकि इस मामले में जज की महिला मित्र की भूमिका संदिग्ध है...

जनज्वार। मध्यप्रदेश के बैतूल में पारिवारिक कलह को दूर करने के लिए तंत्र-मंत्र किया हुआ आटा खाने से एक जज व उनके बेटे की मौत हो गई। वहीं, एक और बेटे की स्थिति बिगड़ गई थी, लेकिन अब वह खतरे से बाहर बताया जा रहा है। उस जज को तंत्र-मंत्र किया हुआ आटा उनकी महिला मित्र ने दिया था जिसकी भूमिका संदेह के घेरे में है। शक यह है कि उसने जानबूझ कर कोबरा का विष मिला हुआ आटा जज को दिया।

बैतूल के जिला न्यायालय में पदस्थ अतिरिक्त जिला न्यायाधीश महेंद्र त्रिपाठी और उनके बेटे अभिनव राज की मौत छह दिन पहले तंत्र-मंत्र किया हुआ आटा खाने के बाद हुई थी। इस मामले में बैतूल पुलिस ने एडीजे की महिला मित्र संध्या सिंह, तांत्रिक सहित छह लोगों को गिरफ्तार किया है। महिला ने एडीजे को कथित रूप से जहरीला आटा दिया था, जिसकी रोटियां खाने से उनकी और उनके बेटे की मौत हुई। यह आशंका प्रकट की गई है कि आटा में कोबरा का जहर मिला हुआ था। इस मामले में तांत्रिक देवीलाल सहित छह आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है।

इस मामले में एसपी सिमाला प्रसाद ने कहा है कि एडीजे को उनके घर में आटे में मिलाने के लिए जहर संध्य सिंह ने दिया था। एसपी के अनुसार, एडीजे व महिला के बीच पैसों का विवाद था, इस कारण संध्या सिंह ने साजिश रची। उसका उद्देश्य पूरे परिवार को खत्म करना था। पुलिस ने यह बताया है कि घटना के दो दिन पहले ही एडीजे की महिला मित्र संध्या बैतूल आई थी। उसने सर्किट हाउस के सामने उनकी गाड़ी रुकवा कर तंत्र-मंत्र किया हुआ आटा उन्हें दिया था, इसके बाद 20 जुलाई को इसी आटे से बनी रोटियां खाने के बाद एडीजे महेंद्र त्रिपाठी, उनके बड़े बेटे अभिनव राज त्रिपाठी और छोटे बेटे आशीष त्रिपाठी की तबीयत बिगड़ गई।

हालांकि इनमें आशीष की तबीयत अब खतरे से बाहर है, लेकिन एडीजे महेंद्र त्रिपाठी व उनके बड़े बेटे अभिनव राज त्रिपाठी की मौत हो गई। बताया जा रहा है कि पारिवारिक कलह व क्लेश को दूर करने के लिए संध्या सिंह ने तंत्र-मंत्र से अभिमंत्रित ऐसा आटा एडीजे को दिया जिसमें जहर मिला हुआ था। यह संभावना व्यक्त की जा रही है कि उसमें नाग सांप का जहर मिला हुआ था। हालांकि पुलिस ने कहा है कि आटे के सैंपल की रिपोर्ट आने के बाद यह स्पष्ट हो सकेगा।

पुलिस 30 जुलाई, गुरुवार को आरोपियों को रिमांड पर लेने के लिए कोर्ट में पेश करने वाली है।

Next Story

विविध

Share it