अंधविश्वास

Madhya Pradesh News : युवक को सांप ने डसा तो परिजनों ने लिया अंधविश्वास का सहारा, झाड़-फूंक ने ले ली जान

Janjwar Desk
4 May 2022 1:20 PM GMT
Bihar News : महिला को सांप ने काटा तो परिजन ने लिया तांत्रिक का सहारा, झाड़-फूंक में गई जान
x

Bihar News : महिला को सांप ने काटा तो परिजन ने लिया तांत्रिक का सहारा, झाड़-फूंक में गई जान

Madhya Pradesh News : मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के भोपाल (Bhopal) में सांप के डसने के बाद लापरवाही में युवक की जान चली गई, परिजन युवक को अस्पताल ले जाने के बजाय गांव के ही पास में रहने वाले नाग बाबा के पास झाड़-फूंक कराने ले गए...

Madhya Pradesh News : मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के भोपाल (Bhopal) में सांप के डसने के बाद लापरवाही में युवक की जान चली गई। परिजन युवक को अस्पताल ले जाने के बजाय गांव के ही पास में रहने वाले नाग बाबा के पास झाड़-फूंक कराने ले गए। बाबा 2 घंटे तक झाड़-फूंक करता रहा और युवक को हर्बल धूप सूंघता रहा। हालत बिगड़ने पर परिजन अस्पताल लेकर पहुंचे लेकिन तब तक इलाज ना मिलने के कारण युवक दम तोड़ चुका था। अस्पताल पहुंचते ही डॉक्टरों ने युवक को मृत घोषित कर दिया।

युवक की मौत के बाद भी जिंदा अंधविश्वास

यही नहीं परिजन इतने अंधविश्वास (Blind Faith) में जीते रहे कि डॉक्टर के मृत घोषित करने के बाद भी उन्होंने शव का पोस्टमार्टम कराने से मना कर दिया। परिजन कहते रहे कि नागबाबा उसे जीवित कर देंगे लेकिन पोस्टमार्टम नहीं कराएंगे। जिसके बाद पुलिस ने समझाया और परिजनों को पोस्टमार्टम के लिए मनाया।

सर्पदंश के बाद झाड़-फूंक कराने ले गए थे परिजन

भोपाल के गनियारी गांव नारायण सिंह (उम्र 25 वर्ष) पुत्र गोली सेहरिया खेती- किसानी करता था। बीते मंगलवार शाम 5:00 बजे उसे खेत में सांप ने डस लिया। जिसके बाद परिजन उसे अस्पताल ले जाने के बजाय पास के ही गांव में रहने वाले नाग बाबा के पास झाड़- फूंक कराने ले गए। करीब 2 घंटे तक नागबाबा झाड़-फूंक करते रहे। जिसके बाद युवक की तबीयत बिगड़ने लगी, फिर परिजन रात 8:00 बजे उसे नेशनल हॉस्पिटल लेकर पहुंचे। हालत देखकर डॉक्टर ने उसे हमीदिया रेफर कर दिया। रात 10:00 बजे हमीदिया अस्पताल डॉक्टर ने युवक को मृत घोषित कर दिया। बता दें कि नारायण सिंह की शादी 2016 में हुई थी। उसका 2 साल का बेटा भी है।

माला पहनाकर तंत्र मंत्र करता रहा बाबा

नारायण के परिजन का कहना है कि नागबाबा पास के ही गांव बेनीपुर में रहते हैं। गांव के लोगों का नाग बाबा के ऊपर भरोसा है कि सांप का जहर वह झाड़ फूंक कर खत्म कर देते हैं। कई गांवों के लोग बाबा के पास उपचार के लिए जाते हैं। नाग बाबा ने नारायण के साथ झाड़-फूंक किया। जिसमें बाबा ने नारायण के पास धूप जलाई और एक माला पहनाकर तंत्र मंत्र करते रहे।


(जनता की पत्रकारिता करते हुए जनज्वार लगातार निष्पक्ष और निर्भीक रह सका है तो इसका सारा श्रेय जनज्वार के पाठकों और दर्शकों को ही जाता है। हम उन मुद्दों की पड़ताल करते हैं जिनसे मुख्यधारा का मीडिया अक्सर मुँह चुराता दिखाई देता है। हम उन कहानियों को पाठक के सामने ले कर आते हैं जिन्हें खोजने और प्रस्तुत करने में समय लगाना पड़ता है, संसाधन जुटाने पड़ते हैं और साहस दिखाना पड़ता है क्योंकि तथ्यों से अपने पाठकों और व्यापक समाज को रू—ब—रू कराने के लिए हम कटिबद्ध हैं।

हमारे द्वारा उद्घाटित रिपोर्ट्स और कहानियाँ अक्सर बदलाव का सबब बनती रही है। साथ ही सरकार और सरकारी अधिकारियों को मजबूर करती रही हैं कि वे नागरिकों को उन सभी चीजों और सेवाओं को मुहैया करवाएं जिनकी उन्हें दरकार है। लाजिमी है कि इस तरह की जन-पत्रकारिता को जारी रखने के लिए हमें लगातार आपके मूल्यवान समर्थन और सहयोग की आवश्यकता है।

सहयोग राशि के रूप में आपके द्वारा बढ़ाया गया हर हाथ जनज्वार को अधिक साहस और वित्तीय सामर्थ्य देगा जिसका सीधा परिणाम यह होगा कि आपकी और आपके आस-पास रहने वाले लोगों की ज़िंदगी को प्रभावित करने वाली हर ख़बर और रिपोर्ट को सामने लाने में जनज्वार कभी पीछे नहीं रहेगा, इसलिए आगे आयें और जनज्वार को आर्थिक सहयोग दें।)

Next Story

विविध