Top
अंधविश्वास

गया में डायन बताकर 4 ​महिलाओं ने ही एक महिला को उतारा मौत के घाट, लोग देखते रहे तमाशा

Janjwar Desk
23 May 2021 7:08 AM GMT
गया में डायन बताकर 4 ​महिलाओं ने ही एक महिला को उतारा मौत के घाट, लोग देखते रहे तमाशा
x

डायन के नाम पर मार दी गयी महिला देवंती मंडल की मौत के बाद बिलखते परिजन लगा रहे न्याय की गुहार

जनज्वार। देश में कोरोना की मौतें चरम पर हैं, ऐसे में भी बजाय विज्ञान के लोग अंधविश्वास की जद में और ज्यादा आते जा रहे हैं। हालांकि इसका एक बड़ा कारण इलाज की अनुपलब्धता भी हैं, क्योंकि जब इलाज ही नहीं हो तो लोग आत्मसंतुष्टि के लिए कोई कोरम तो पूरा करेंगे ही। इस दौरान न केवल कोरोना के नाम पर मंदिरों में पूजा-अर्चना, बल्कि कोरोना भगाने के लिए तमाम बलि देने की घटनायें भी सामने आ रही हैं।

अब बिहार के गया जनपद के गुरुआ थाना क्षेत्र के इस्माइलपुर गांव में शनिवार 22 मई की दोपहर को डायन का आरोप लगाकर एक चालीस वर्षीय महिला देवंती मंडल की लाठी-डंडों से पीटकर हत्या कर दी गयी। जानकारी के मुताबिक काफी दिनों से बीमार एक युवक की मौत के बाद परिजनों ने देवंती मंडल नाम की महिला पर आरोप लगाया कि उसने जादू-टोना करके उनके बच्चे की जान ली है। महिला को डायन ठहराकर दिनदहाड़े 4 महिलाओं द्वारा मिलकर मौत के घाट उतार दिया गया और जनता तमाशा देखती रही।

घटना के बाद गांव में पहुंची पुलिस ने महिला की लाश को अपने कब्जे में लिया और इस मामले में आरोपित मृतक युवा के घर की चार महिलाओं को गिरफ्तार भी किया।

ग्रामीणों से मिली जानकारी के मुताबिक शनिवार 22 मई को इस्माइलपुर गांव के रामपति भुइयां के बीस साल के बेटे राकेश कुमार की मौत हो गयी। राकेश काफी दिनों से बीमार चल रहा था। आशंका जतायी जा रही है कि उसे कोरोना भी हो सकता है, जिसकी जांच ही नहीं की गयी। राकेश की मौत के लिए परिजनों ने देवंती मंडल को जिम्मेदार ठहराकर उसे मौत के घाट उतार दिया।

ग्रामीणों ने पुलिस को बताया कि राकेश की मौत के बाद गुस्साये परिजन देवंती मंडल के घर पहुंचे और उसे घसीटकर बाहर लाया गया। युवक की मौत के बाद अंधविश्वास में डूबे परिजनों ने देवंती को डायन बताकर चिल्लाना शुरू कर दिया कि उनके बेटे की मौत बीमारी से नही बल्कि डायन के जादू-टोने से हुयी है। डायन का आरोप लगाकर मृतक युवक राकेश के परिजनों ने देवंती की बेरहमी से लाठी डंडों से पीट-पीटकर हत्या कर दी।

पुलिस ने इस लिंचिंग के लिए आरोपित रूबी देवी, सुनीता देवी, नगीना देवी एव चितविया देवी को गिरफ्तार किया है। थानाध्यक्ष दिवाकर कुमार विश्वकर्मा का कहना है कि डायन के नाम पर मौत के घाट उतारी गयी देवंती मंडल की लाश को पोस्टमार्टम के लिये भेजकर आगे की कार्रवाई शुरू की गयी है।

Next Story

विविध

Share it