Top
अंधविश्वास

अंधविश्वास: बिलासपुर में भतीजे ने तीर मारकर चाची को उतारा मौत के घाट

Janjwar Desk
14 July 2020 2:31 PM GMT
अंधविश्वास: बिलासपुर में भतीजे ने तीर मारकर चाची को उतारा मौत के घाट

चाची को तीर मारकर घायल करने के बाद भी जय प्रकाश अपने घर में ही था, इसी दौरान उसे पता चला किया उसकी चाची की मौत हो गई है, इसकी जानकारी लगते ही जय प्रकाश की तबीयत बिगड़ गई....

बिलासपुर। छत्तीसगढ़ के बिलासपुर जिले के कोटा थाना क्षेत्र छुईहा गांव में अंधविश्वास के चलते एक भतीजे ने चाची को तीर मारकर मौत के घाट उतार दिया। महिला की अस्पताल में उपचार के दौरान मौत हुई। कोटा पुलिस ने केस दर्ज कर आरोपित की तलाश शुरू कर दी है।

यहां रहने वाले रमेश सौता ने बताया कि बीते साल उसके भतीजे जय प्रकाश की बेटी हुई थी। नवजात की अस्पताल में उपचार के दौरान मौत हो गई थी। इसके बाद से जय प्रकाश अपनी चाची पदरेश बाई पर जादू टोना का आरोप लगाता था।

जानकारी के मुताबिक बीते अप्रैल माह में जय प्रकाश की पत्नी राजकुमारी की तबीयत खराब हो गई थी। इसके कारण वह अपने ससुराल छतौना चला गया था। 10 जुलाई को वह अपनी पत्नी को लेकर गांव छुईहा वापस लौटा। वहीं 12 जुलाई की रात रमेश अपनी पत्नी परदेश बाई के साथ खाना खाकर सो गया।

सोमवार 13 जुलाई की सुबह परदेश बाई ने पति को जगाकर बताया कि उसके भतीजे जय प्रकाश ने उसे तीर मारकर घायल कर दिया है। इस दौरान महिला के पेट में तीर धंसा था। रमेश ने अपनी पत्नी के पेट से तीर निकाला।

इस दौरान तीर के लोहे का फल पेट में ही रह गया। इसके बाद घायल महिला को लेकर अस्पताल पहुंचे। अस्पताल में डॉक्टरों ने महिला को मृत घोषित कर दिया। रमेश ने घटना की सूचना कोटा पुलिस को दी। पुलिस ने मामले में हत्या और टोनही प्रताड़ना एक्ट के तहत जुर्म दर्ज कर लिया है।

चाची को तीर मारकर घायल करने के बाद भी जय प्रकाश अपने घर में ही था। इसी दौरान उसे पता चला किया उसकी चाची की मौत हो गई है। इसकी जानकारी लगते ही जय प्रकाश की तबीयत बिगड़ गई।

वहीं हत्या की सूचना मिलते ही कोटा पुलिस भी आरोपित को पकड़ने उसके गांव पहुंच गई। इस दौरान परिजन उसे लेकर अस्पताल निकल गए थे। पुलिस आरोपित की जानकारी जुटाकर उसे गिरफ्तार करने में जुटी है।

Next Story

विविध

Share it