Top
अंधविश्वास

छत्तीसगढ़ में क्वारंटाइन सेंटर में फैली प्रेतात्मा की अफवाह, भूत भगाने के लिए मजदूर को पिला दी पेशाब

Janjwar Desk
28 Jun 2020 1:19 PM GMT
छत्तीसगढ़ में क्वारंटाइन सेंटर में फैली प्रेतात्मा की अफवाह, भूत भगाने के लिए मजदूर को पिला दी पेशाब
photo : news 18

छत्तीसगढ़ के कोरबा स्थित एक क्वारंटाइन सेंटर में जब युवक अजीबोगरीब हरकत करने लगा तो भूत का साया कहकर अन्य साथी मजदूरों ने उसे पिला दी पेशाब, अब भूत के नाम पर दहशत में जी रहे हैं लोग...

जनज्वार, छत्तीसगढ़। हमारा समाज अंधविश्वास में बुरी तरह जकड़ा हुआ है। इसके नाम पर समाज में तमाम कुकृत्य किये जाते हैं। कभी किसी की डायन—चुड़ैल, बिसही के नाम पर हत्या कर दी जाती है तो मल और पेशाब तक पिला दिया जाता है। अपनी स्वार्थसिद्धि के लिए तांत्रिकों पर विश्वास कर लोग किसी की हत्या करने से भी नहीं चूकते।

कोरोना की भयावहता के बीच भी तरह-तरह का अंधविश्वास सामने आ चुका है। कहीं कोरोना को माई बनाकर पूजा गया तो किसी ने इसके प्रकोप को कम करने के लिए अपनी जीभ चढ़ा दी और एक पुजारी ने तो मानव बलि ही दे दी, यह कहकर कि इससे कोरोना का प्रकोप कम होगा।

अब छत्तीसगढ़ के कोरबा जिले में एक क्वारंटाइन सेंटर पर प्रेत आत्मा का साया होने की अफवाह फैली हुई है। क्वारंटाइन सेंटर में रह रहे मजदूरों के मुताबिक उनके कुछ साथी अजीबो-गरीब हरकत करने लगे तो दूसरे मजदूरों ने प्रेत आत्मा का साया समझकर उन्हें पेशाब तक पिला दिया।

क्वारंटाइन सेंटर में भूत-प्रेत होने की चर्चा से इलाके में दहशत फैल गयी। इसके अलावा यहां क्वारंटाइन किए गए लोगों ने कोरोना की जांच में हो रही देरी को लेकर सरकार को कटघरे में खड़ा किया है।

न्यूज 18 में प्रकाशित एक खबर के मुताबिक छत्तीसगढ़ के कोरबा जनपद स्थित करतला ब्लॉक के पठियापाली हाईस्कूल में बने क्वारंटाइन सेंटर में भूत-प्रेत का साया होने की अफवाह फैली, जिसके बाद यहां रह रहे लोग डर के साये में जी रहे हैं।

यहां क्वारंटाइन मजदूरों के मुता​बिक स्कूल परिसर के अंदर भूत-प्रेत का साया है, इसी कारण उनके साथी ऊट-पटांग हरकतें कर रहे हैं, जिन्हें देखकर अन्य लोगों के मन में डर समा गया है।

क्वारंटाइन मजदूरों के मुताबिक जब एक युवक भूत-प्रेत के साये में अजीबोगरीब हरकत करने लगा तो उसे अन्य साथी मजदूरों ने पेशाब पिला दिया, ताकि प्रेतात्मा उसे अपनी जकड़ से मुक्त करे। ताज्जुब की बात यह है कि जिस युवक ने अजीबोगरीब हरकत की उसे चिकित्सक को नहीं दिखाया गया कि आखिर वह किस परेशानी में ऐसी हरकत कर रहा है।

युवक को पेशाब पिलाने जैसी अमानवीय हरकत करने के बाद लोगों में स्कूल में भूत-प्रेत होने की बात को और बल मिल रहा है। यहां डर के साये में जी रहे लोग अब रात-रातभर जाग रहे हैं।

ताज्जुब ​की बात तो यह है कि क्वारंटाइन सेंटर में रहने वाले लोगों ने कहा कि 14 दिन से अधिक समय बीत जाने के बाद भी उनकी कोरोना जांच की रिपोर्ट नहीं आई है, जिससे भूत के अलावा उनके मन में कोरोना वायरस का डर भी समाया हुआ है।

क्वारंटाइन सेंटर प्रभारी और गांव के जनप्रतिनिधियों ने यहां रह रहे लोगों को समझाया कि भूत-प्रेत कुछ नहीं होता, आप लोग यहां आराम से रहें, मगर कोई इस बात को सुनने को तैयार नहीं है।

यहां के सरपंच श्यामलाल कंवर कहते हैं कि अब तक पठियापाली से 5 लोग कोरोना वायरस पॉजिटिव मिले हैं, जिनमें से एक शख्स प्रवासी मजदूर है। गांव में कोरोना वायरस संक्रमण का खतरा मंडरा रहा है, इसके बावजूद ग्रामीण नियमों की अनदेखी कर मनमानी करते हुए अन्य गांव में आना-जाना कर रहे हैं। पंचायत स्तर पर सुरक्षा व्यवस्था पर्याप्त नहीं है, इसके लिए रायपुर से सुरक्षा के लिए पर्याप्त बंदोबस्त करने की मांग की गई है। क्वारंटाइन किए गए मजदूर अब प्रेत आत्मा की बात कहते हुए क्वारंटाइन सेंटर बदलने की भी मांग कर रहे हैं।

Next Story

विविध

Share it