अंधविश्वास

Surat News : कोरोना संक्रमण के बीच कराई बछड़े और बछिया की शादी, 10 हजार लोगों से भरा था मंडप

Janjwar Desk
16 Jan 2022 11:41 AM GMT
Surat News : कोरोना संक्रमण के बीच कराई बछड़े और बछिया की शादी, 10 हजार लोगों से भरा था मंडप
x

कोरोना संक्रमण के बीच कराई बछड़े और बछिया की शादी 10 हजार लोगों से भरा था मंडप

Surat News : गुजरात (Gujrat) के सूरत (Surat) के लाडवी गांव में मकर संक्रांति के अवसर पर वहां के गौशाला में बछड़े और बछिया की शादी हुई। कोरोना वायरस संक्रमण को देखते हुए वैसे तो शादी विवाह जैसे आयोजन में 150 लोग ही शामिल हो सकते हैं लेकिन इस शादी में 10 हजार लोग शामिल हुए थे...

Surat News : गुजरात (Gujrat) के सूरत (Surat) के लाडवी गांव में मकर संक्रांति के अवसर पर वहां के गौशाला में बछड़े और बछिया की शादी हुई। बता दें कि कोरोना वायरस संक्रमण को देखते हुए वैसे तो शादी विवाह जैसे आयोजन में 150 लोग ही शामिल हो सकते हैं लेकिन इस शादी में 10 हजार लोग शामिल हुए थे। बता दें कि इस शादी में शामिल होने के लिए लोग दूर-दूर से आए थे।

10 हजार लोग हुए शामिल

एक स्वयंसेवक और संपत्ति दलाल विनोद सारस्वत का कहना है कि 'शुक्रवार को दिन में 10 हजार से अधिक लोग मंदिर पहुंचे और शादी में भाग लिया। 10 हजार लोगों के लिए खाना भी बना था और सभी ने इस कार्यक्रम का आनंद लिया। इस कर्यक्रम में नर बछड़ा शंखेश्वर और बछिया चंद्रमौली का विवाह हुआ।'

महाराज के सपने को किया गया पूरा

बता दें कि यह शादी का कार्यक्रम महाराज के सपने को पूरा करने के लिए आयोजित किया गया था। आयोजित इस कार्यक्रम में लाडवी गांव में श्री ओम नंदेश्वर महादेव ट्रस्ट (SONMT) द्वारा प्रबंधित गौशाला में भव्य शादी हुई। शादी में पूरा मंडप भरा हुआ था। दुल्हन बछिया को गांधारी आश्रम गौशाला से लाडवी लाया गया था। आयोजकों का कहना है कि हमारा वह सपना पूरा हुआ जो गांधारी आश्रम के पिपलादगिरी महाराज ने देखा था और लोगों को गोपालन के बारे में जागरूक करना चाहते थे।

दुल्हन को मिले विभिन्न उपहार

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार आयोजकों में से एक जयंती मालिनी का कहना है कि पिपलादगिरी महाराज ने शादी का आयोजन का सपना देखा था और सभी गौशालाओं में चाहते थे कि हम गाय पालन और इसके महत्व के बारे में जागरूकता पैदा करें। दुल्हन के बछड़े को सभी पारंपरिक शादियों के बीच आयोजन स्थल पर लाया गया था।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार जयंती मालिनी का कहना है कि शादी के बाद युवा दुल्हन बछिया ने खाना खाना बंद कर दिया था और इसलिए उसे ससुराल में आराम देने के लिए बछड़े की मां को भी कुछ दिनों के लिए लाडवी लाया गया था। यही नहीं शादी के तोहफे के रुप में कुछ मेहमानों ने चांदी की पायल, सिर टीका का और कमर बेल्ट देने की पेशकश की थी। बता दें कि श्री ओम नंदेश्वर महादेव ट्रस्ट शेड लगभग 3000 मवेशियों का घर है। ट्रस्ट पूरे राज्य में 4 पेन चलाता है, जिसमें उसके पास 5000 मवेशी हैं।

गुजरात में कोरोना के मामले

बता दें कि गुजरात में कोरोना के नए मामले बढ़ते ही जा रहे हैं। राज्य में सक्रिय मरीजों का आंकड़ा 50 हजार के पार जा चुका है। साथ ही राज्य में 8 महीनों में पहली बार शनिवार के दौरान 11000 से ज्यादा नए मरीज सामने आए हैं। इसके अलावा छह महीने बाद पहली बार 1 दिन में 5 मौतें दर्ज हुई है। बता दें कि 17 मरीजों में सबसे आगे अहमदाबाद है। इसके अलावा नए मिल रहे मरीजों के लिहाज से भी यह शहर सबसे आगे है। बता दें कि शनिवार को यहां 3673 कोरोना के मामले दर्ज किए गए हैं। इसके अलावा सूरत में 2933 कोरोना के मामले, राजकोट में 440 मामले, वलसाड में 337 मामले और गांधीनगर में 319 मामले सामने आए हैं।

Next Story

विविध