Top
कोविड -19

'ये रिश्ता क्या कहलाता है' की गुलाबो ने दुनिया को कहा अलविदा, कोरोना के बाद थीं वेंटिलेटर सपोर्ट पर

Janjwar Desk
7 Dec 2020 7:50 AM GMT
ये रिश्ता क्या कहलाता है की गुलाबो ने दुनिया को कहा अलविदा, कोरोना के बाद थीं वेंटिलेटर सपोर्ट पर
x
पिछले कई दिनों से कोरोना के बाद भी निमोनिया के संक्रमित टीवी अभिनेत्री दिव्या भटनागर का का आज 7 दिसंबर को निधन हो गया है। दिव्या कई दिनों से वेंटिलेटर सपोर्ट पर थीं और उनकी हालत लगातार बिगड़ती जा रही थी...

जनज्वार, मुंबई। कोरोना काल में कई टीवी और फिल्मी हस्तियों ने इस दुनिया को अलविदा कह दिया है। अब एक और बुरी खबर टीवी जगत से आ रही है।

पिछले कई दिनों से कोरोना के बाद भी निमोनिया के संक्रमित टीवी अभिनेत्री दिव्या भटनागर का का आज 7 दिसंबर को निधन हो गया है। दिव्या कई दिनों से वेंटिलेटर सपोर्ट पर थीं और उनकी हालत लगातार बिगड़ती जा रही थी।

जानकारी के मुताबिक दिव्या कोरोना वायरस (Coronavirus) की चपेट में आने के साथ ही निमोनिया से भी संक्रमित हो चुकी थीं, जिसके चलते उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया था। दिव्या भटनागर टेलीसोप 'ये रिश्ता क्या कहलाता है' में 'गुलाबो' के किरदार में घर-घर में फेमस हो चुकी थीं।

कोरोना वायरस पॉजिटिव पाये जाने के बाद दिव्या भटनागर को मुंबई स्थित गोरेगांव के एसआरवी अस्पताल में भर्ती कराया गया था। अस्पताल में भर्ती के दौरान दिव्या की हालत लगातार बिगड़ रही थी। बाद में हालत इतनी क्रिटिकल हो गयी कि उन्हें वेंटिलेटर सपोर्ट पर रखना पड़ा। दिव्या का ऑक्सीज़न लेवल भी काफी कम हो गया था।

दिव्या भटनागर पिछले 11 दिनों से दिव्या वेंटिलेटर पर जिंदगी और मौत से जूझ रहीं थीं, मगर आखिरकर मौत ने उन्हें हरा ही दिया और उन्होंने इस दुनिया को अलविदा कह दिया। इसके अलावा उन्हें 'उड़ान', 'जीत गई तो पिया मोरे', 'विष' जैसे धारावाहिकों में भी देखा गया।

टीवी अभिनेत्री देवोलीना भट्टाचार्जी ने दिव्या भटनागर के निधन पर शोक जाहिर करते हुए उनके साथ अपनी तस्वीरें शेयर की हैं। इंस्टाग्राम पर उनके साथ की ​तस्वीरें शेयर करते हुए देवोलीना भट्टाचार्जी ने इमोशनल पोस्ट लिखा है, 'जब कोई किसी के साथ नहीं होता था तो बस तू ही होती थी। दिवु तू ही तो मेरी अपनी थी जिसे मैं डांट सकती थी, रूठ सकती थी, दिल की बात कह सकती थी। मुझे पता है, तुम्हारे लिए जिंदगी बहुत कठिन हो गई थी। असहनीय दर्द था। पर मुझे पता है, आज तुम बेहतर दुनिया में हो। सभी दुखों, दर्द, झूठ और धोखे से दूर। मैं तुम्हें हमेशा याद करूंगी दिवू और तू भी जानती थी कि मैं तुझसे प्यार करती हूं और तेरी फिक्र करती हूं। बड़ी तू थी, पर बच्ची भी तू थी। भगवान तुम्हारी आत्मा को शांति दे। जहां भी है तू अभी बस खुश रह। तू हमेशा याद आएगी। मैं तुझसे बहुत प्यार करती हूं। बहुत जल्दी चली गई तू। ओम शांति...'

Next Story

विविध

Share it