Top
कोविड -19

एलोपैथी पर निशाना साधने वाले बाबा रामदेव ने लिया यू-टर्न, बोले वैक्सीन लगवाउंगा और अच्छे डॉक्टर देवदूत के समान

Janjwar Desk
10 Jun 2021 8:33 AM GMT
एलोपैथी पर निशाना साधने वाले बाबा रामदेव ने लिया यू-टर्न, बोले वैक्सीन लगवाउंगा और अच्छे डॉक्टर देवदूत के समान
x

 (हजारों डॉक्टरों को वैक्सीन लेने के बाद भी कोरोना हो गया और तमाम लोग मर भी गए)

बाबा रामदेव की ओर से वैक्सीन लगवाने और अन्य लोगों से अपील करने की बात उनके पुराने रुख के एकदम विपरीत है। इससे पहले उन्होंने कोरोना टीकों के असरदार होने को लेकर सवाल उठाया था....

जनज्वार डेस्क। कोरोना की वैक्सीन को लेकर बाबा रामदेव ने अपने रुख से यू-टर्न ले लिया है। रामदेव ने कहा है कि वह कोरोना की वैक्सीन लगवाएंगे। यही नहीं रामदेव ने यह भी कहा कि अच्छे डॉक्टर देवदूत के समान होते हैं। रामदेव ने खुद वैक्सीन लगवाने का ऐला करने के साथ ही अन्य लोगों से भी वैक्सीन लेने की अपील की है और कहा है कि योग और आयुर्वेद के साथ ही टीका भी लेना जरूरी है। साथ ही रामदेव ने सभी को मुफ्त वैक्सीन लगाने के ऐलान को लेकर पीएम मोदी की तारीफ भी की। बता दें कि रामदेव हाल ही में एलोपैथी चिकित्सा पद्धति और डॉक्टरों पर निशाना साधकर विवादों में आए थे।

देश में सभी के मुफ्त टीकाकरण अभियान की शुरुआत 21 जून से शुरू हो रही है। इसी दिन अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस का भी आयोजन होता है। बाबा रामदेव की ओर से वैक्सीन लगवाने और अन्य लोगों से अपील करने की बात उनके पुराने रुख के एकदम विपरीत है। इससे पहले उन्होंने कोरोना टीकों के असरदार होने को लेकर सवाल उठाया था।

उन्होंने यहां तक कहा था कि हजारों डॉक्टरों को वैक्सीन लेने के बाद भी कोरोना हो गया और तमाम मर भी गए। हालांकि बाद में पतंजलि की ओर से सफाई में कहा गया था कि बाबा रामदेव ने एक वॉट्सऐप मेसेज पढ़ते हुए यह बात कही थी। यह उनका बयान नहीं था।

तब से ही वह एलोपैथी चिकित्सा पद्धति और डॉक्टरों को लेकर टिप्पणी के चलते विवादों में थे। आईएमए ने उनके खिलाफ कार्रवाई करने की मांग भी की थी और उन्हें नोटिस तक जारी किया था। मामला बढ़ता देख केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन के हस्तक्षेप किया था। इसपर उन्होंने माफी भी मांग ली थी, लेकिन फिर से कई बयान देकर एलोपैथी पर सवाल उठाए थे।

लेकिन अब रामदेव की ओर से वैक्सीन लेने और डॉक्टरों को देवदूत बताने के बाद से इंडियन मेडिकल एसोसिएशन के साथ उनका विवाद समाप्त हो सकता है। हाल ही में रामदेव ने कहा था कि उनका विवाद डॉक्टरों से नहीं है, वे तो इस धरती के लिए वरदान हैं। उनका कहना था कि उनकी जंग दवा माफियाओं के खिलाफ है।

Next Story

विविध

Share it