Top
कोविड -19

पिता की मौत से हताश कोरोना संक्रमित बेटे ने ट्रेन से कटकर दी जान, सुसाइड नोट छोड़ा

Janjwar Desk
28 April 2021 7:36 AM GMT
पिता की मौत से हताश कोरोना संक्रमित बेटे ने ट्रेन से कटकर दी जान, सुसाइड नोट छोड़ा
x
अमित यादव की शादी पिछले वर्ष धूमधाम से हुई थी, छोटे से सुसाइट पत्र में अमित ने पत्र में काल माई वाईफ माधुरी लिखा है, अचानक अमित की मौत की खबर सुन परिजनों में कोहराम मच गया....

जनज्वार डेस्क। कोरोना महामारी के बीच देश के कोने-कोने से दुखदायी खबरें सामने आ रही हैं। उत्तर प्रदेश के जौनपुर में कोरोना संक्रमित एक इंजीनियर अमित यादव ने अपने पिता की मौत से हताश होकर ट्रेन से कटकर आत्महत्या कर ली। उसके बेग से मिले सुसाइड नोट से आत्महत्या के कारणों की जानकारी मिल पायी। जैसे ही यह खबर गांव तक पहुंची तो वहां कोहराम मच गया। मृतक की मां भी कोरोना संक्रमित हैं और घर आइसोलेट हैं। इसकी सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंच गयी।

अमित यादव की शादी पिछले वर्ष धूमधाम से हुई थी। छोटे से सुसाइट पत्र में अमित ने पत्र में काल माई वाईफ माधुरी लिखा है। अचानक अमित की मौत की खबर सुन परिजनों में कोहराम मच गया।

खबरों के मुताबिक बक्शा थाना क्षेत्र के बेलापार गांव निवासी सेवानिवृत्त बीडीओ एवं सपा के ब्लाक अध्यक्ष धर्मराज यादव की तबियत खराब चल रही थी। कोरोना संक्रमण के चलते आक्सीजन की कमी से धर्मराज की मौत हो गयी जबकि पत्नी शारदा देवी की तबियत अभी भी संक्रमण के चलते खराब है। मृतक धर्मराज के दो पुत्रों में ललित यादव घर पर रहता है जबकि छोटा पुत्र 35 वर्षीय अमित यादव दिल्ली में इंजीनियर था। पिता की मौत की खबर सुनकर अमित बैग में लैपटाप रखकर घर के लिए ट्रेन पकड़ लिया। इस दौरान बड़े भाई ललित से एक बार मोबाइल पर बात हुई। उसके बाद मोबाइल स्विच ऑफ हो गया।

इंस्पेक्टर वशिष्ठ यादव ने बताया कि अमित बक्शा स्टेशन पहुंचकर स्टेशन मास्टर से लखनीपुर गांव का लोकेशन पूछा। इसके साथ ट्रेन की भी जानकारी ली। रेलवे लाइन पकड़ कर पैदल ही बक्शा स्टेशन से बेलापार गांव की तरफ चल दिया। इंस्पेक्टर ने बताया कि अमित लखनीपुर गांव के करीब पहुंच चुका था।

तभी जौनपुर की तरफ ही बेगमपुरा एक्सप्रेस जाती दिखी। जिस पटरी पर ट्रेन जा रही थी उसी पर अमित भी जानबुझकर ट्रेन तरफ दौड़ने लगा। कुछ पल में ही ट्रेन से कटकर उसकी मौत हो गई। पुलिस ने शव को कब्जे में ले लिया।

पर्स में मिले कागजात से जानकारी कर परिजनों को सूचना दी। परिजन ने शव देख चिल्ला पड़े। बैग में मिले पत्र में अमित ने आत्महत्या का कारण खुद को कोरोना पाजिटिव होना बताया। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।

Next Story

विविध

Share it