कोविड -19

'मैं हार गयी' लिखकर पत्रकार बरखा दत्त ने दी पिता की कोविड से मौत की जानकारी, ट्वीटर पर श्रद्धांजलियों का लगा तांता

Janjwar Desk
27 April 2021 6:39 AM GMT
मैं हार गयी लिखकर पत्रकार बरखा दत्त ने दी पिता की कोविड से मौत की जानकारी, ट्वीटर पर श्रद्धांजलियों का लगा तांता
x

photo : tweeter 

बरखा दत्त द्वारा पिता की मौत का ट्वीट शेयर करने के बाद से लगातार श्रद्धांजलियों का दौर जारी है, लोग सरकार-सिस्टम से नाराजगी जाहिर करते हुए उन्हें सांत्वना दे रहे हैं....

जनज्वार। देश में कोविड लगातार भयावह रूप लेता जा रहा है। अमीर-गरीब, धर्म-जाति सबसे परे यह सिर्फ इंसान को निगल रहा है। अब मशहूर पत्रकार बरखा दत्त के पिता एसपी दत्त का आज 27 अप्रैल को कोरोना से निधन हो गया है।

पिता की कोरोना से हुयी मौत की जानकारी बरखा दत्त ने सोशल मीडिया पर खुद शेयर की है। उन्होंने पिता के साथ कुछ तस्वीरें ट्वीट करते हुए लिखा है, वे हार गईं। बरखा के इस ट्वीट के बाद ट्वीटर पर बरखा दत्त ट्वीटर पर टाॅप ट्रेंड कर रहा है और हजारों लोग अब तक उनके पिता को श्रद्धांजलि दे चुके हैं।

बरखा ने ट्वीट किया है, सबसे दयालु, सबसे प्यारे इंसान मेरे पिता स्पीडी कोविड से लड़ाई हार गए और आज सुबह उनका निधन हो गया। जब मैं उन्हें उनकी मर्जी के बिना अस्पताल ले जा रही थी तो मैंने वादा किया था कि मैं उन्हें दो दिन में घर ले आऊंगी। मैं अपनी बात नहीं रख सकी। मैं हार दई। उन्होंने हमसे किया एक वादा कभी नहीं तोड़ा।'

एक अन्य ट्वीट में बरखा ने मेदांता अस्पताल के डॉक्टर्स और नर्सों को धन्यवाद देते हुए लिखा है, मेरे पिता के अखिरी शब्द थे, मेरा दम घुट रहा है मेरा इलाज करो। मेदांता के सभी डॉक्टर्स, नर्स, सुरक्षा गार्ड, एंबुलेंस ड्राइवर को इतनी कोशिशों के लिए मेरा धन्यवाद।'

अपने पिता को स्पीडी नाम से संबोधित करते हुए बरखा लिखती हैं, 'मेरे पिता को चीजों का आविष्कार करना, ट्रेन बनाना, विमान बनाना और निश्चित रूप से उनके पोते-पोतियों से प्यार था। मैं स्पीडी को हैंडसम आदमी, सनकी वैज्ञानिक, बिंदास पिता के रूप में याद करना चाहती हूं, जिन्होंने मेरी बहन और मुझे पंख दिए। उन्हें मेरी सबसे अच्छी श्रद्धांजलि होगी कि मैं कोविड पर ग्राउंड रिपोर्ट करूं और जरूरतमंदों की आवाज आगे पहुंचाऊं।'

गौरतलब है कि बरखा की बहन बहार दत्त ने भी सोशल मीडिया पर अपने पिता की बीमारी की जानकारी साझा करते हुए देश के सिस्टम पर भारी नाराजगी जताई थी। बहार दत्त ने ट्वीट किया था, ये मेरे पिता हैं, ये घर में कुछ भी ठीक कर सकते हैं, लेकिन अभी ये सांस नहीं ले पा रहे हैं। वे अपनी लंग्स को ठीक नहीं कर पा रहे हैं। हमें ऑक्सीजन वाली कोई एंबुलेंस नहीं मिली तो अस्पताल ले जाते हुये उनकी स्थिति बहुत खराब हो गई है। मुझे गुस्सा आ रहा है लेकिन इस घटिया सिस्टम को कैसे ठीक करूं।'

बरखा दत्त द्वारा पिता की मौत का ट्वीट शेयर करने के बाद से लगातार श्रद्धांजलियों का दौर जारी है। लोग सरकार-सिस्टम से नाराजगी जाहिर करते हुए उन्हें सांत्वना दे रहे हैं।

Next Story

विविध