कोविड -19

Omicron : दिल्ली में फूटा कोरोना बम, सुप्रीम कोर्ट के 7 जजों और 800 डॉक्टरों को हुआ कोरोना

Janjwar Desk
10 Jan 2022 7:36 AM GMT
Omicron : दिल्ली में फूटा कोरोना बम, सुप्रीम कोर्ट के 7 जजों और 800 डॉक्टरों को हुआ कोरोना
x

(दिल्ली में 800 डॉक्टर कोरोना पॉजिटिव)

Omicron : दिल्ली के एम्स का सबसे बुरा है, इसमें काम करने वाले करीब 350 रेसिडेंट डॉक्टर कोविड पॉजिटिव हो गए हैं,ये संख्या सिर्फ कोविड पॉजिटिव डॉक्टरों की ही है, अगर फैकल्टी, पैरामेडिकल स्टाफ जोड़ लें तो ये आंकड़ा बहुत बड़ा हो जाएगा....

Omicron : कोरोना महामारी की तीसरी लहर तेजी से फैल रही है। अब खबर है कि दिल्ली के पांच प्रमुख अस्पतालों के 800 डॉक्टर कोरोना पॉजिटिव हो गए हैं। पॉजिटिव (Covid 19) डॉक्टरों के संपर्क में आए डॉक्टर और पैरामेडिकल स्टाफ भी आइसोलेशन में हैं। इतनी बड़ी तादाद में स्वास्थ्यकर्मियों के पॉजिटिव होने के चलते अब हेल्थ सिस्टम पर भी इसका बुरा असर पड़ रहा है। हॉस्पिटल में रूटीन चेकअप, ओपीडी और गैरजरूरी सर्जरी को रोक दिया गया है।

दिल्ली के ईएसआई हॉस्पिटल (ESI Hospital) के रेसिडेंट डॉक्टर रोहन कृष्णन भी कोविड पॉजिटिव हैं, वे कहते हैं- सरकार वेंटिलेटर, हॉस्पिटल, ऑक्सीजन, बेड, बिल्डिंग सबुक पैसे देकर खऱीद सकते हैं लेकिन डॉक्टर पैसे देकर एक झटके में नहीं खऱीद सकते। एक रेसिडेंट डॉक्टर तैयार होने में एक दशक लगता है। जो 700-800 डॉक्टर पॉजिटिव हुए हैं, उनमें भी उनमें से एक हूं। हमें सिर्फ 7 दिनों का ही क्वारंटीन दिया गया है उसके बाद बिना टेस्ट के ड्यूटी जॉइन करने की सलाह दी जा रही है। हेल्थकेयर सिस्टम तभी मजबूत होगा जब डॉक्टर खुद स्वस्थ होंगे।

खबरों के मुताबिक दिल्ली के एम्स का सबसे बुरा है। इसमें काम करने वाले करीब 350 रेसिडेंट डॉक्टर कोविड पॉजिटिव हो गए हैं। ये संख्या सिर्फ कोविड पॉजिटिव डॉक्टरों की ही है, अगर फैकल्टी, पैरामेडिकल स्टाफ जोड़ लें तो ये आंकड़ा बहुत बड़ा हो जाएगा।

डॉक्टर बताते हैं कि इतनी बड़ी तादाद में हॉस्पिटल और पेरामेडिकल स्टाफ का कोविड संक्रमित होने का असर ये हो रहा है कि दिल्ली एम्स में आउट पेशेंट सर्विसेज, रूटीन एडमिशन और सर्जरी को बंद कर दिया गया है। पिछले दो दिन में ही एम्स के करीब 150 रेसिडेंट डॉक्टर पॉजिटिव पाए गए हैं।

इसी तरह के हालात अन्य बड़े अस्पतालों के भी हैं। सफदरजंग अस्पताल से जुड़े डॉक्टरों ने बताया कि करीब 80-100 डॉक्टर पॉजिटिव हैं। राममनोहर लोहिया अस्पताल में 100 से ज्यादा डॉक्टर कोविड पॉजिटिव हैं। वहीं लोकनाक अस्पताल में 50-70 और लेडी हार्डिंग मेडिकल कॉलेज के 150 डॉक्टर कोविड पॉजिटिव हैं।

बता दें कि केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से बुधवार को एक सर्कुलर जारी किया गया जिसके मुताबिक सरकारी अस्पताल में काम करने वाले हेल्थकेयर वर्कर्स कोविड पॉजिटिव व्यक्ति के संपर्क में आने पर आइसोलेट नहीं होंगे। ऐसे हेल्थकेयर वर्कर्स टाइट मास्क लगाकर काम करें और ज्यादा से ज्यादा सोशल डिस्टेंसिंग मेनटेन करें।

इसके अलावा खबर है कि सुप्रीम कोर्ट के रजिस्ट्री स्टाफ के 250 लोग कोरोना पॉजिटिव हो गए हैं इनमें जस्टिस डीवी चंद्रचूड़ समेत सात जज भी शामिल हैं।

बता दें कि राजधानी दिल्ली में पिछले चौबी घंटों में कोरोना के 22751 नए मामले सामने आए हैं। इस दौरान 17 लोगों ने अपनी जान गंवाई है। वहीं 10179 लोग ठीक हुए हैं। एक्टिव मामलों की संख्या बढ़कर 60733 पहुंच गई है। दिल्ली में पॉजिटिविटी रेड बढ़कर 23.53 प्रतिशत पहुंच गया है।

Next Story

विविध