Top
कोविड -19

लॉकडाउन में हजारों गरीबों का पेट भरने वाले रोटी बैंक के संचालक को निगल गया कोरोना

Janjwar Desk
17 April 2021 8:35 AM GMT
लॉकडाउन में हजारों गरीबों का पेट भरने वाले रोटी बैंक के संचालक को निगल गया कोरोना
x
किशोरकांत के परिजनों के मुताबिक तेज बुखार के चलते हालत बिगड़ने पर उन्हें रविंद्रपुरी स्थित एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया था, इलाज के दौरान उन्होंने दम तोड़ दिया....

वाराणसी। उत्तर प्रदेश के वाराणसी में रोटी बैंक संचालक किशोरकांत तिवारी का कोरोना संक्रमण के चलते निधन हो गया। किशोरकांत रोटी बैंक के जरिए गरीबों-बेसहारों तक भोजना पहुंचाते थे। किशोरकांत ने चार-पांच दिन पहले ही फेसबुक लाइव पर अपनी बीमारी के बारे में बताया था जिसमें वह बताते हुए नजर आ रहे थे उनकी तबियत बहुत ज्यादा खराब है।

किशोरकांत के परिजनों के मुताबिक तेज बुखार के चलते हालत बिगड़ने पर उन्हें रविंद्रपुरी स्थित एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया था। इलाज के दौरान उन्होंने दम तोड़ दिया।

बिहार के सासाराम निवासी किशोरकांत महेशनगर में रहते थे। गरीबों को भोजन पहुंचाने के लिए रोटी बैंक की शुरूआत उन्होंने 2017 में की थी। अभी वह अपने रोटी बैंक के लिए रसोई घर का भी निर्माण करवा रहे थे।

किशोरकांत ने बीते साल लॉकडाउन में भी गरीब-मजदूरों के लिए रोटी पहुंचाने के लिए काम किया था। अपने फेसबुक वीडियो में वह यह भी बताते हुए दिखे थे कि 24 मार्च 2020 से वह लगातार लॉकडाउन से परेशान गरीबों के लिए काम कर रहे थे।

रोटी बैंक के शहर में होने वाले आयोजनों में बचे भोजन को जुटाने के बाद घूम-घूमकर गरीबों में खाना बांटते थे। लॉकडाउन के दौरान उन्होंने हजारों लोगों को दो वक्त की रोटी मुहैया कराई थी।

वीडियो में किशोर ने बताया था कि उन्होंने सारी जांच करा ली है सिर्फ टायफाइड ही निकला और जल्द ही ठीक होने की बात कही थी। पिछले 5 दिनों से हालत खराब होने पर दो प्राइवेट अस्पताल में इलाज कराया। दो दिन पहले ही उनकी रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आई, जिसके बाद उनकी हालत और खराब होती गई। गुरुवार 15 अप्रैल को उनका निधन हो गया।

Next Story

विविध

Share it