कोविड -19

केरल में फिर से सख्ती, नाइट कर्फ्यू का एलान करते हुए CM विजयन बोले-ओणम की भीड़ से बढा कोरोना

Janjwar Desk
29 Aug 2021 4:40 AM GMT
केरल में फिर से सख्ती, नाइट कर्फ्यू का एलान करते हुए CM विजयन बोले-ओणम की भीड़ से बढा कोरोना
x

केरल के CM पिनाराई विजयन ने सोमवार से नाइट कर्फ्यू का एलान किया है (File pic)

शनिवार को देश में कोरोना के लगभग 47 हजार नए केस दर्ज किए गए हैं और बीते 24 घंटे में 509 लोगों की मौतें हुई हैं, इनमें से सिर्फ केरल में कल 32801 नए केस मिले हैं और 179 लोगों की जानें चली गईं हैं..

जनज्वार। देश में कोरोना संक्रमण की तीसरी लहर की आशंका से लोग सहमे हुए हैं। टीकाकरण को इससे बचाव का बड़ा हथियार मानते हुए वैक्सिनेशन चल रहा है। इस बीच देश में कोरोना संक्रमण के मामले एक बार कम हो जाने के बाद फिर से इजाफा होता दिख रहा है। खासकर केरल सहित कुछ अन्य राज्यों में कोरोना संक्रमण के चिंताजनक आंकड़े आ रहे हैं। इस बीच केरल में सोमवार से एक बार फिर नाइट कर्फ्यू का एलान कर दिया गया है। नाइट कर्फ्यू की घोषणा करते हुए मुख्यमंत्री पी. विजयन ने कहा कि ओणम की भीड़ के कारण संक्रमण के मामलों में ज्यादा बढोत्तरी हुई है।

गौरतलब है कि शनिवार को देश में कोरोना संक्रमण के लगभग 47 हजार नए केस दर्ज किए गए हैं। बीते 24 घंटे में 509 लोगों की मौतें हुई हैं। यहां ध्यान देने वाली बात है कि इनमें से सिर्फ केरल में कल 32801 नए केस मिले हैं और 179 लोगों की जानें चली गईं हैं।

नाइट कर्फ्यू की घोषणा करते हुए सीएम पिनाराई विजयन ने कहा कि लॉकडाउन में ढील दिए जाने के बाद से केरल में कोविड -19 मामलों में वृद्धि देखी जा रही है। उन्होंने कहा कि महामारी "ओणम की भीड़ से और बढ़ गई"। मुख्यमंत्री ने कहा कि केरल सरकार का उद्देश्य जितना हो सके मौतों से बचना है और अधिक से अधिक लोगों को टीका लगाना है।

विजयन ने कहा "टीकाकरण तेज गति से हो रहा है। हम जल्द से जल्द झुंड प्रतिरक्षा प्राप्त करने की उम्मीद करते हैं। जनसंख्या के अनुपात में, केरल देश में सबसे तेजी से टीकाकरण करने वाला राज्य है। हम एक दिन में 5 लाख खुराक तक देने में कामयाब रहे हैं।" उन्होंने कहा "मृत्यु दर अभी भी नियंत्रण में है, हालांकि, मामलों की संख्या के अनुसार आनुपातिक वृद्धि हुई है।"

उन्होंने कहा, "महामारी के समय में सबसे महत्वपूर्ण उद्देश्य मौतों को कम करना है। डेटा से पता चलता है कि प्रमुख राज्यों में केरल मौतों को कम रखने में कामयाब रहा है।"

Next Story

विविध