Top
आर्थिक

JIO कनेक्शन ले रहे हैं तो रहें सावधान, भुगतनी पड़ सकती है भारी परेशानी, हो सकते हैं ठगी का शिकार

Janjwar Desk
9 March 2021 11:43 AM GMT
JIO कनेक्शन ले रहे हैं तो रहें सावधान, भुगतनी पड़ सकती है भारी परेशानी, हो सकते हैं ठगी का शिकार
x
मुकेश अंबानी की कंपनी जिओ फाइबर कनेक्शन देने के नाम पर ग्राहकों से कर रही धोखाधड़ी, नया कनेक्शन ले रहे हैं तो रखें तमाम एहतियात....

जनज्वार, गाजियाबाद। अगर आप भी प्रचार देखने के बाद जियो फाइबर का कनेक्शन लेने जा रहे हैं, तो सावधान रहें। पहले अपने आसपास नजर दौड़ा लें कि कहीं कनेक्शन लगा है या नहीं। अगर कनेक्शन नहीं लगा है और आपने फाइबर कनेक्शन के लिए बुकिंग कर दी है तो आप भी मानसिक टॉर्चर झेलने के लिए तैयार रहें।

ऐसा ही एक वाकया सामने आया है गाजियाबाद के वसुंधरा में। यहां रहने वाले मुकेश (बदला हुआ नाम) ने लगभग 8 दिन पहले जियो के तमाम प्रचार के बाद, जोकि अखबार के साथ उसके घर पर भी पहुंचा था, फाइबर कनेक्शन के लिए अप्लाई किया। जियो का जो कर्मचारी उसके पास आया, उसने उसे बताया कि ज्यादा से ज्यादा आपके घर 24 घंटे में फाइबर कनेक्शन लगा दिया जायेगा, हो सकता है कि यह कनेक्शन आज ही लग जाये।

मुकेश ने अपनी तरफ से तमाम जानकारियां उससे जुटानीं चाहीं मैक्सिमम टाइम पूछा, मगर वह एक ही बात पर अडिग होकर कहता रहा कि अगर 24 घंटे में आपका कनेक्शन नहीं लगा तो पैसा आपके खाते में वापस आ जायेगा। अरविंद नाम के इस कर्मचारी ने मुकेश को दो नंबर उपलब्ध करवाये, और अपने सीनियर का भी एक नंबर उपलब्ध करवाया। अरविंद ने अपने 7836000032 मोबाइल नंबर पर जरूरी कागजात मांगे और उसके अलावा एक अन्य नंबर भी यह कहते हुए दिया कि आप कभी भी इस पर कोई परेशानी होने की दशा में फोन कर सकते हैं।

इसी के साथ उसने कनेक्शन बुक करने से पहले अपने सीनियर सुमित जिसका नंबर 9625319593 था, से बात करवायी। सुमित ने भी इस बात के लिए आश्वस्त किया कि किसी भी कीमत पर आपका कनेक्शन 3 मार्च तक लग जायेगा। आपको कोई परेशानी नहीं होगी, आप हमारी जिम्मेदारी पर कनेक्शन बुक करवाइये। मुकेश ने इन दोनों पर भरोसा करके कनेक्शन बुक करा लिया।

इसी के बाद हुई असली कहानी। कनेक्शन बुक कराने के अगले दो घंटे बाद मैसेज और मेल आया कि आपका कनेक्शन शाम 7 बजे तक लग जायेगा। उसके दो घंटे बाद मैसेज आया कि इसे रिशिड्यूल करके कल सुबह कर दिया गया है। इसी तरह जियो कस्टमर केयर की तरफ से 5 बार कनेक्शन के लिए रिशिड्यूल किया गया।

इस बीच जब मुकेश ने कनेक्शन देने वाले अरविंद को फोन किया तो उसने दसियों बार फोन करने और वाट्सअप मैसेज भेजने के बाद कोई जवाब नहीं दिया, ऐसा ही उसके सीनियर ने भी किया। दूसरे दिन अरविंद ने फोन उठाया और कहा अगर आज शाम तक आपका कनेक्शन नहीं लगा तो पैसा वापस कर दिया जायेगा।

इस बात के भी 4 दिन गुजर जाने के बाद जियो कस्टमर केयर पर जब इसके संबंध में बात की तो पता चला कि जहां का कनेक्शन दिया गया है वहां वह बॉक्स ही कंपनी की तरफ से फिट नहीं किया गया है, जो इंटरनेट के लिए जरूरी होता है। कस्टमय केयर अधिकारी ने यह भी बताया कि वो कब तक लगेगा कहा नहीं जा सकता, उसकी कोई फिक्स टाइमिंग नहीं ​दी जा सकती। बार—बार जोर देने पर भी कस्टमर केयर प्रतिनिधि यही कहता रहा कि वह नहीं ​बता सकता कि कनेक्शन कब तक लगेगा।

गौरतलब है कि कनेक्शन लगाने के लिए जियो फाइबर टीम ने अधिकतम समय 24 घंटे का वादा किया था, मगर जब 5 बार टाइम रिशिड्यूल करने के बाद भी 8 दिन तक कनेक्शन नहीं लगा तो परेशान होकर ग्राहक ने कस्टमर केयर पर बात की थी।

ऐसे में सवाल यह उठता है कि जब मुकेश अंबानी की कंपनी जियो फाइबर यह जानती है कि यहां वो जरूरी बॉक्स नहीं लगाये गये हैं जो इंटरनेट के लिए जरूरी हैं, तो फिर किस आधार पर ग्राहकों से कनेक्शन के पैसे बटोर रही है। पैसा लेने से पहले ग्राहकों को क्यों नहीं बताया जा रहा है कि उनके घर कनेक्शन कब तक लगेगा वो इसकी गारंटी नहीं दे सकते। ग्राहकों से एडवांस में क्यों की जा रही इतनी बड़ी ठगी।

Next Story

विविध

Share it