Top
शिक्षा

640 विश्वविद्यालयों ने परीक्षा के मुद्दे पर UGC को भेजा अपना जवाब

Janjwar Desk
16 July 2020 4:30 PM GMT
640 विश्वविद्यालयों ने परीक्षा के मुद्दे पर UGC को भेजा अपना जवाब
x
यूजीसी के मुताबिक 182 विश्वविद्यालयों ने बताया कि उन्होंने ऑनलाइन अथवा ऑफलाइन माध्यमों से कॉलेजों की परीक्षाएं करवा ली हैं, वहीं 234 विभिन्न विश्वविद्यालय अगस्त और सितंबर में ऑनलाइन, ऑफलाइन एवं मिश्रित संसाधनों से परीक्षा की तैयारी कर रहे हैं...

नई दिल्ली। कोरोना संक्रमण को देखते हुए देशभर के विभिन्न विश्वविद्यालयों एवं कॉलेजों में होने वाली सेमेस्टर परीक्षाओं के लिए 30 सितंबर तक का समय दिया गया है। यूजीसी के इन दिशा निदेर्शो पर अमल करते हुए देश भर के 640 विश्वविद्यालयों ने यूजीसी को इस संबंध में अपना जवाब भेजा है।

यूजीसी ने गुरुवार को जानकारी देते हुए कहा, 'विश्वविद्यालयों की परीक्षा के लिए 6 जुलाई को फिर से निर्धारित किए गए दिशा-निर्देशों पर 640 विश्वविद्यालयों ने अपना जवाब दिया है। इनमें 120 डीम्ड यूनिवर्सिटी, 229 प्राइवेट यूनिवर्सिटी, 40 केंद्रीय विश्वविद्यालय एवं 251 राज्य विश्वविद्यालय शामिल हैं।'

यूजीसी के मुताबिक अपने जवाब में 182 विश्वविद्यालयों ने बताया कि उन्होंने ऑनलाइन अथवा ऑफलाइन माध्यमों से कॉलेजों की परीक्षाएं करवा ली हैं। वहीं 234 विभिन्न विश्वविद्यालय अगस्त और सितंबर में ऑनलाइन, ऑफलाइन एवं मिश्रित संसाधनों से परीक्षा की तैयारी कर रहे हैं। 38 अन्य विश्वविद्यालय ऐसी ही तैयारियां कर रहे हैं लेकिन अभी वह परीक्षा का समय तय नहीं कर सके हैं।

177 विश्वविद्यालय अभी तक यह तय नहीं कर सके हैं कि वे परीक्षाएं कब और कैसे आयोजित करेंगे। 27 ऐसे विश्वविद्यालय हैं जिनकी स्थापना इसी वर्ष हुई है और वहां अभी परीक्षाओं के लिए पहला बैच तैयार नहीं हो सका है।

केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्रालय एवं यूजीसी का मानना है कि प्रत्येक क्षेत्र एवं राज्य की परिस्थितियों के अनुसार यह परीक्षाएं ऑनलाइन अथवा ऑफलाइन करवाई जा सकेगी। यूजीसी ने इस बारे में सभी विश्वविद्यालयों को आवश्यक दिशा निर्देश जारी किए हैं।

यदि विश्वविद्यालय द्वारा आयोजित परीक्षा में टर्मिनल सेमेस्टर अंतिम वर्ष का कोई भी विद्यार्थी उपस्थित होने में असमर्थ रहता है, चाहे जो भी कारण रहा हो, तो उसे ऐसे पाठ्यक्रम(पाठ्यक्रमों) प्रश्नपत्र(प्रश्नपत्रों) के लिए विशेष परीक्षाओं में बैठने का अवसर दिया जा सकता है।

मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने कोविड-19 स्थिति के कारण किए जाने वाले पूर्वोपायों के साथ परीक्षाओं के आयोजन के लिए गृह मंत्रालय एवं स्वास्थ्य मंत्रालय के साथ मिलकर विस्तृत मानक संचालन प्रक्रिया (एसओपी) तैयार की है।

Next Story

विविध

Share it