पर्यावरण

Aaj Ka Mausam: मौसम विभाग ने दी चेतावनी, महाराष्ट्र-केरल-कर्नाटक समेत इन राज्यों में भारी बारिश

Janjwar Desk
10 Oct 2021 6:33 PM GMT
Aaj Ka Mausam: मौसम विभाग ने दी चेतावनी, महाराष्ट्र-केरल-कर्नाटक समेत इन राज्यों में भारी बारिश
x
Aaj Ka Mausam: भारतीय मौसम विज्ञान विभाग द्वारा जारी ताजा अपडेट के अनुसार अरब सागर के ऊपर बना चक्रवाती परिसंचरण अगले कुछ दिनों तक व्यापक बारिश के साथ दक्षिणी राज्यों को प्रभावित कर सकता है...

Aaj Ka Mausam: अपने आखिरी के बचे कुछ दिनों में मॉनसून खूब कहर बरपा रहा है। दक्षिण-पश्चिम मॉनसून की जहां 6 अक्टूबर से ही वापसी का दौर शुरु हो गया था, वहीं महाराष्ट्र सहित दक्षिण भारत के अन्य राज्यों में बारिश थमने का नाम नहीं ले रहा। मौसम विभाग की मानें तो केरल, कर्नाटक और तेलंगाना में अगले 4-5 दिनों तक मूसलाधार बारिश होगी और महाराष्ट्र में भी इंद्र देवता की कृपा अगले तीन दिनों तक बने रहने की संभावना है।

14 अक्टूबर तक भारी बारिश की चेतावनी

भारतीय मौसम विज्ञान विभाग द्वारा जारी ताजा अपडेट के अनुसार अरब सागर के ऊपर बना एक और चक्रवाती परिसंचरण अगले कुछ दिनों तक व्यापक बारिश के साथ दक्षिणी राज्य को प्रभावित कर सकता है। इसकी वजह से 11, 12 और 13 अक्तूबर को केरल के कुछ इलाकों में गरज के साथ भारी बारिश की संभावना है। भारी बारिश की चेतावनी के बीच मंगलवार, 12 अक्टूबर से गुरुवार, 14 अक्टूबर तक केरल में ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया है। वहीं, कर्नाटक के तटीय इलाकों में 11 से 13 अक्तूबर तक और अंदरुनी इलाकों में 10, 12 और 13 अक्तूबर तक भारी बारिश होने की आंशका जाहिर की गई है। मध्य महाराष्ट्र में 11 अक्टूबर को बारिश होने के आसार हैं।

मौसम विभाग ने केरल, कर्नाटक और तेलंगाना के साथ रायलसीमा में भी 14 अक्तूबर तक बारिश की चेतावनी दी है। इसके अलावा आंध्र प्रदेश के दक्षिण तटीय इलाके, गोवा और कोंकण, तिरुअनंतपुरम, कोल्लम, पठनमथिट्टा, अलापुझा, कोट्टायम, अर्नाकुलम और इडुक्की में में भी सोमवार, 11 अक्तूबर से आने वाले कुछ दिनों तक बारिश होने की चेतावनी जारी की गई है।

इसके साथ ही अंडमान और निकोबार द्वीप समूह के कुछ इलाकों में भारी बारिश और गरज के साथ छींटे पड़ने की आशंका है। गुजरात और लक्षद्वीप में भी गरज के साथ छिटपुट बारिश होने की संभावना जारी बताई गई है। लद्दाख और जम्मू-कश्मीर में बिजली के साथ छिटपुट बारिश या बर्फबारी की संभावना है। पूर्वोत्तर राज्यों की बात करें तो ओडिशा और तेलंगाना में छिटपुट बारिश और गरज के साथ छींटे पड़ने की संभावना जाहिर की गई है।

इन राज्यों से मॉनसून की विदाई कन्फर्म

वहीं, भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) ने पुष्टि कर दी है कि दक्षिण-पश्चिम मानसून की वापसी राजस्थान, उत्तर प्रदेश, गुजरात, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, झारखंड और बिहार के कुछ हिस्सों से हो गयी है। एक दो दिनों के दौरान बिहार, महाराष्ट्र, ओडिशा और पश्चिम बंगाल के कुछ इलाकों से भी मॉनसून की वापसी के लिए पस्थितियां अनुकूल होती जा रही हैं।

उत्तरी अंडमान सागर और आसपास के क्षेत्रों में समुद्र तल के ऊपर चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र बना हुआ है, जिसके प्रभाव में अगले 24 से 48 घंटों के दौरान इसी क्षेत्र से कम दबाव का क्षेत्र बन सकता है। स्काईमेट की मानें तो कम दबाव का ये क्षेत्र अगले 4 से 5 दिनों में पश्चिम उत्तर-पश्चिम दिशा में दक्षिण ओडिशा और उत्तरी आंध्र प्रदेश तट की ओर बढ़ने की संभावना है।

देश के कुछ हिस्सों में जहां लोग भारी बारिश से परेशान हैं वहीं मॉनसून की विदाई के साथ ही राजस्थान में लोगों को फिर से गर्मी सताने लगी है। राजस्थान के पश्चिमी हिस्सों और गुजरात के कच्छ क्षेत्र में दिन और रात के तापमान में लगातार वृद्धि हो रही है। मौसम विभाग की मानें तो राजस्थान में दिन का अधिकतम तापमान 38 से 39 डिग्री के बीच रहने की संभावना है।

Next Story

विविध

Share it