पर्यावरण

Aaj Ka Mausam: मॉनसून गया पर बारिश नहीं रुकी, केरल समेत कई राज्यों में भारी बारिश का अलर्ट

Janjwar Desk
12 Oct 2021 6:35 PM GMT
Aaj Ka Mausam: मॉनसून गया पर बारिश नहीं रुकी, केरल समेत कई राज्यों में भारी बारिश का अलर्ट
x
Aaj Ka Mausam: बाते करें कश्मीर की तो प्रदेश के ऊंचे और मध्य इलाकों में सोमवार, 11 अक्टूबर 2021 को मौसम की पहली बर्फबारी हुई है... श्रीनगर, बनिहाल, बटोटे, काजीगुंड और कटरा सहित निचली पहाड़ियों और घाटी में भी हल्की बारिश हुई...

Aaj ka Mausam: देश के विभिन्न राज्यों में मौसम का अलग अलग रूप देखने को मिल रहा है। एक और भारत का जन्नत माना जाने वाले कश्मीर घाटी में मौसम की पहली बर्फबारी शुरु हो गई है। वहीं कुछ राज्यों से मॉनसून की वापसी के बीच भारी बारिश हो रही है। केरल, कर्नाटक समेत कई राज्यों में भारी बारिश की आशंका के बीच मौसम विभाग ने अगले कुछ दिनों तक ऑरेंज अलर्ट जारी कर दिया है।

कश्मीर घाटी में बर्फबारी से बढ़ेगी ठंड

बाते करें कश्मीर की तो प्रदेश के ऊंचे और मध्य इलाकों में सोमवार, 11 अक्टूबर 2021 को मौसम की पहली बर्फबारी हुई है। श्रीनगर, बनिहाल, बटोटे, काजीगुंड और कटरा सहित निचली पहाड़ियों और घाटी में भी हल्की बारिश हुई। गुलमर्ग, गुरेज और सोनमर्ग के ऊंचाई वाले इलाकों में 2-4 इंच बर्फबारी हुई। करनाह में सदाना टॉप और अनंतनाग में अमरनाथ गुफा मंदिर में 18,000 फीट से अधिक की ऊंचाई पर मध्यम हिमपात हुआ।

स्काईमेट के मौसम वैज्ञानिकों की मानें तो बर्फबारी के कारण कश्मीर के अधिकांश स्थानों पर पारा अचानक 5 से 8 डिग्री नीचे गिर गया है, जिससे पूरे क्षेत्र में ठंड का माहौल है। गुलमर्ग और पहलगाम में अधिकतम तापमान 5.8 डिग्री सेल्सियस और 14.8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जो सामान्य से लगभग 10 डिग्री सेल्सियस और 11 डिग्री सेल्सियस कम है। वहीं, राजधानी श्रीनगर में भी 4 मिमी बारिश हुई और तापमान सामान्य से 8 डिग्री सेल्सियस नीचे गिरकर 16.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

मौसम विभाग के मुताबिक एक पश्चिमी विक्षोभ जिसे मुख्य रूप से ऊपरी वायु प्रणाली के रूप में देखा जाता है, पूरे राज्य में स्थानांतरित हो गया है जिसकी वजह से इस साल जल्दी बर्फबारी हुई है। मौसम की स्थिति में तेजी से सुधार होने की उम्मीद है और 13 से 16 अक्टूबर के बीच बर्फबारी की संभावना नहीं है। इन मौसमी सिस्टम के कारण ठंडी हवा पूरे क्षेत्र में न्यूनतम तापमान में गिरावट लाएगी और ठंड बढ़ाएगी।

किन-किन राज्यों में होगी बारिश

स्काईमेट वेदर के अनुमान के मुताबिक, अगले 24 घंटों के दौरान केरल और अंडमान और निकोबार द्वीप समूह में मध्यम से भारी बारिश होने की संभावना है। इसके अलावा तमिलनाडु, तटीय कर्नाटक और दक्षिण आंतरिक कर्नाटक में हल्की से मध्यम बारिश के साथ कहीं-कहीं भारी बारिश भी हो सकती है।

मणिपुर, मिजोरम, त्रिपुरा, गंगीय पश्चिम बंगाल, तटीय ओडिशा, लक्षद्वीप, कोंकण और गोवा और तटीय आंध्र प्रदेश में हल्की बारिश के साथ एक-दो स्थानों पर मध्यम बारिश हो सकती है। मौसम विभाग ने मध्य महाराष्ट्र, दक्षिण गुजरात और बाकी पूर्वोत्तर भारत और मध्य प्रदेश के अलग-अलग हिस्सों में हल्की बारिश की संभावना जताई है।

दिल्ली की हवा में प्रदूषण का स्तर बढ़ा

वहीं, देश के उत्तर और पूर्वी राज्यों से मॉनसून की वापसी लगभग हो चुकी है। लेकिन, बारिश बंद होने के कारण राजधानी दिल्ली में प्रदूषण का स्तर लगातार बढ़ रहा है। हालांकि, मंगलवार 12 अक्टूबर को दिल्ली में वायु की गुणवत्ता में सोमवार के मुकाबले मामूली सुधार देखने को जरूर मिला। मंगलवार को एक्यूआई (वायु गुणवत्ता सूचकांक) में दिल्ली के हवा का स्तर 163 दर्ज किया गया। इससे एक दिन पहले यानि सोमवार को दिल्ली में एक्यूआई 166 पर था।

आपको बता दें कि 6 अक्टूबर से अबतक दक्षिण-पश्चिम मॉनसून के वापसी का सिलसिला जारी है। भारतीय मौसम विज्ञान विभाग ने 12 अक्टूबर को मॉनसून का अपडेट देते हिए बताया कि अगले 24 घंटों के दौरान मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, पश्चिम बंगाल के अधिकांश हिस्सों, गुजरात, महाराष्ट्र, ओडिशा और पूर्वोत्तर भारत के कुछ हिस्सों से भी दक्षिण-पश्चिम मानसून की वापसी के लिए परिस्थितियां अनुकूल हैं। उम्मीद की जारही है कि अक्टूबर महीनें में मॉनसून पूरी तरह से विदा ले लेगा और नवंबर माह ठंड भी दस्तक देगा।

Next Story

विविध

Share it