पर्यावरण

Aaj Ka Mausam: 16 अक्टूबर के बाद बदलेगा मौसमी मिजाज, कई राज्यों में बारिश के कारण गर्मी से राहत मिलने की उम्मीद

Janjwar Desk
14 Oct 2021 7:09 PM GMT
Aaj Ka Mausam, Daily Weather Update 17 September, mausam ki jankaari
x
Aaj Ka Mausam: अगले 24 घंटों के दौरान अंडमान और निकोबार द्वीप समूह, गंगीय पश्चिम बंगाल के कुछ हिस्सों, तटीय ओडिशा, आंध्र प्रदेश के उत्तरी तट, तटीय कर्नाटक, दक्षिण आंतरिक कर्नाटक और केरल के कुछ हिस्सों में हल्की से मध्यम बारिश के साथ कुछ स्थानों पर भारी बारिश संभव है...Aaj Ka Mausam| Mausam Vibhag | IMD | Aaj Ka Mausam Kaisa Rahega

Aaj Ka Mausam: भारतीय मौसम विज्ञान विभाग ने 17 और 18 अक्टूबर को हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड और उत्तर प्रदेश में अलग-अलग जहगों पर भारी से बहुत भारी वर्षा की संभावना जताई है। इसके अलावा 17 और 18 अक्टूबर को जम्मू-कश्मीर और लद्दाख में भी अलग-अलग जहगों पर गरज के साथ बिजली और ओलावृष्टि की संभावना है। मौसम विभाग ने इस दौरान चेतावनी देते हुए मछुआरों को इन क्षेत्रों में उद्यम न करने की सलाह दी है। 14 अक्टूबर को पूर्व-मध्य और आसपास के दक्षिणपूर्व अरब सागर के लोगों को आज शाम तक समुद्री तट से लौटने की सलाह दी गई है।


राजधानी दिल्ली में गर्मी से मिलेगी राहत

दिल्ली के लोगों को बहुत जल्दल गर्मी और उमस से छुटकारा मिलने की उम्मीद है। देश की राजधानी दिल्ली में अगले तीन-चार दिनों में सुबह के तापमान में गिरावट दर्ज किए जाने की संभावना है। वहीं दिन के समय आसमान साफ रहने की उम्मीद है। दिल्ली स्थित सफदरजंग मौसम केंद्र के अनुमान के अनुसार दिल्ली में अब सुबह के तापमान में गिरावट का रुख देखने को मिलेगा। आने वाले दिनों में दिन के समय अधिकतम तापमान 34 डिग्री और न्यूनतम तापमान 20 डिग्री के आसपास रह सकता है।

तेज हवाओं के चलते दिल्ली की वायु गुणवत्ता में भी सुधार देखने को मिला है। केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के मुताबिक बुधवार के दिन दिल्ली का औसत वायु गुणवत्ता सूचकांक 171 अंक पर रहा। इस स्तर की हवा को मध्यम श्रेणी में रखा जाता है। बुधवार को दिल्ली के ज्यादातर हिस्सों में तेज सूरज निकला रहा। दिन के समय खासी धूप रही। इस दौरान हवा की रफ्तार 10 से 16 किलोमीटर प्रतिघंटे के बीच रही, जिससे तापमान संतुलित बना रहा।

उत्तर प्रदेश और बिहार में बदलेगा मौसम का मिजाज

बाते करें यूपी और बिहार की तो इन दोनों राज्यों में भी मौसम का मिजाज बदलने की संभावना लग रही है। पटना स्थित मौसम केंद्र की मानें तो आने वाले तीन से चार दिनों में प्रदेश में मौसम का सिस्टम एक्टिव होगा। जिसकी मुख्य कारण पूर्व मध्य बंगाल की खाड़ी में कम दबाव का क्षेत्र बताया जा रहा है। बंगाल में बने कम दबाव का क्षेत्र 48 घंटों के दौरान दक्षिण ओडिशा और उत्तर आंध्र प्रदेश तट पर पहुंचने का अनुमान है। मौसम जानकारों के अनुसार इसके प्रभाव का असर सूबे के मौसम पर पड़ेगा। बारिश की आशंका को देखते हुए मौसम विभाग की ओर से 16 और 17 अक्टूबर को बिहार के पटना, गया, नालंदा, शेखपुरा, नवादा, बेगूसराय, जहानाबाद के समेत अन्य जिलों में येलो-अलर्ट जारी किया गया है। इन जिलों में 15 अक्टूबर के बाद अच्छीम बारिश के होने के आसार हैं। जिसके कारण लोगों को उमस भरी गर्मी से राहत मिलेगी। वहीं, यूपी में भी 16 अक्टूबर के बाद से मौसम नर्म रुख अपनाएगा। उम्मीद है कि 16 से 18 अक्टूबर के बीच उत्तरप्रदेश के कई हिस्सों में बारिश हो सकती है।


दक्षिण के राज्यों में मॉनसून के वापसी की उम्मीद

वहीं, स्काईमेट की मानें तो अगले 24 घंटों के दौरान महाराष्ट्र के कुछ हिस्सों, तेलंगाना और कर्नाटक के कुछ हिस्सों से दक्षिण-पश्चिम मानसून की वापसी के लिए स्थितियां अनुकूल बनी हुई हैं। लेकिन, अगले 24 घंटों के दौरान अंडमान और निकोबार द्वीप समूह, गंगीय पश्चिम बंगाल के कुछ हिस्सों, तटीय ओडिशा, आंध्र प्रदेश के उत्तरी तट, तटीय कर्नाटक, दक्षिण आंतरिक कर्नाटक और केरल के कुछ हिस्सों में हल्की से मध्यम बारिश के साथ कुछ स्थानों पर भारी बारिश संभव है।


पूर्वी मध्य बंगाल की खाड़ी और आसपास के इलाकों में एक कम दबाव का क्षेत्र बन गया है। संबद्ध चक्रवाती परिसंचरण मध्य क्षोभमंडल स्तर तक बना हुआ है और ऊंचाई के साथ दक्षिण-पश्चिम की ओर झुक रहा है। यह पश्चिम उत्तर-पश्चिम दिशा में उत्तर आंध्र प्रदेश और दक्षिण ओडिशा तट की ओर बढ़ेगा। इसके अलावा पूर्वी मध्य अरब सागर में कर्नाटक तट पर एक कम दबाव का क्षेत्र बना है। संबद्ध चक्रवाती परिसंचरण मध्य क्षोभमंडल स्तर तक फैल रहा है।



आंतरिक ओडिशा, झारखंड, छत्तीसगढ़, सिक्किम पूर्वोत्तर भारत, तमिलनाडु, तेलंगाना के कुछ हिस्सों, पूर्वी मध्य प्रदेश के कुछ हिस्सों, विदर्भ और पूर्वी उत्तर प्रदेश और बिहार के कुछ हिस्सों में हल्की से मध्यम बारिश संभव है। इसके अलावा कोंकण और गोवा में भी हल्की बारिश संभव है।

Next Story

विविध

Share it